सोमवती अमावस्या तिथि शुभ मुहूर्त Somvati Amavasya 2019 Date Time

सोमवती अमावस्या पूजा विधि व उपाय Somvati Amavasya Pujan Vidhi Upay

सोमवती अमावस्या शास्त्रों में सोमवती अमावस्या बहुत बड़ा और ख़ास दिन माना गया है. अमावस्या तिथि के दिन स्नान और दान पुण्य का ख़ास महत्व होता है कई विवाहित महिलाये इस दिन अपने पति की लंबी उम्र और सुख समृद्धि की कामना के लिए व्रत रखती है और पीपल के पेड़ की पूजा अर्चना करती है. पंचांग के अनुसार साल 2019 में शनि के केतु के साथ गोचर में शनि जयंती और सोमवती अमावस्या एकसाथ 3 जून को मनाई जायेगी. ज्योतिष की माने तो ऐसा दुर्लभ संयोग 149 सालों के बाद आया है। वही इस दिन सोमवती अमावस्या पर वट सावित्री व्रता का भी अनोखा संयोग देखने को मिलेगा. आज हम आपको सोमवती अमावस्या शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन किये जाने वाले कुछ ख़ास उपायों के बारे में बताएँगे.

सोमवती अमावस्या तिथि व शुभ मुहूर्त Somvati Amavasya 2019 date time muhurt

  1. साल 2019 में सोमवती अमावस्या का व्रत 3 जून सोमवार के दिन रखा जाएगा.
  2. अमावस्या तिथि आरंभ होगी – 2 जून 2019 रविवार 4.39 मिनट पर
  3. अमावस्या समाप्त होगी –3 जून 2019 मंगलवार 3 बजकर 31 मिनट पर

सोमवती अमावस्या पूजा विधि Somvati Amavasya pujan vidhi

साल में जो भी अमावस्या सोमवार के दिन पड़ती है उसे सोमवती अमावस्या कहा जाता है सोमवार जो की  भगवान शिव की आराधना के लिए ख़ास माना जाता है इसीलिए इस दिन की अमावस्या का विशेष ही महत्व होता है. सुहागन महिलाये इस दिन पति और संतान की दीर्घायु के लिए व्रत रखती है और पूजा अर्चना करती है. सोमवती अमावस्या के दिन प्रातः काल उठकर स्नानादि से निवृत होकर व्रत का संकल्प ले और तुलसी जी की पूजा करे. इसके बाद पीपल के वृक्ष को जल का अर्घ्य दे और 108 बार परिक्रमा करे. इस तरह पूरी श्रद्धा और भक्ति भाव से पूजा करने पर महिलाओं को संतान और पति की लम्बी उम्र का वरदान प्राप्त होता है.

सोमवती अमावस्या का महत्व Somvati Amavasya importance

सोमवती अमावस्या का दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा के लिए बेहद ख़ास माना जाता है. ऐसी मान्यता है की इस दिन पीपल के पेड़ की परिक्रमा और पूजा करने से जीवन में सुख शांति का वास होता है साथ ही जो भी लोग इस दिन दान पुण्य और पूजा करते है उनके जीवन से सभी प्रकार के पितृ दोष दूर हो जाते है. सोमवती अमावस्या के दिन भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती का पूजन करने से महिलाओं को अखंड सौभाग्य और संतान प्राप्ति का वरदान मिलता है और व्यक्ति को मनोकामना पूरी होती है,

सोमवती अमावस्या महाउपाय Somvati Amavasya upay

  1. पुराणिक कथाओ और मान्यताओं के अनुसार यदि सोमवती अमावस्या के दिन विधि विधान के साथ कुछ उपाय किये जाय तो व्यक्ति को जीवन में सुख समृद्धि प्राप्त होती है.
  2. ऐसी मान्यता है की यदि सोमवती अमावस्या के दिन सूर्य व तुलसी जी को जल अर्पण किया जाय तो इससे व्यक्ति के जीवन से परेशानियां दूर होने लगती है.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

  1. सोमवती अमावस्या के दिन तुलसी जी की 108 बार परिक्रमा करना बहुत ही लाभकारी और जीवन में सफलता दिलाने वाला उपाय माना जाता है.
  2. सोमवती अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ की 108 बार परिक्रमा कर दूध, दही, हल्दी और काले तिल अर्पण करने से व्यक्ति को जीवन में धन धान्य और शनि कृपा प्राप्त होती है.
  3. मान्यता है की सोमवती अमावस्या के दिन भगवन शिव और हनुमान जी की विधिवत पूजा करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है.
  4. माना जा रहा है की यदि 149 सालों बाद सोमवती अमावस्या पर बनने जा रहे इन अद्भुद संयोगो में ये उपाय किये जाय तो जीवन में सुख समृद्धि, दीर्घायु और अपार धन सम्पदा प्राप्त की जा सकती है.