अधिक विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त 2020 Ashwin Vinayak Chaturthi Date 2020

विनायक संकष्टी चतुर्थी पूजा विधि Ashwin Vinayak Chaturthi Vrat Pooja Vidhi 

 विनायक चतुर्थी विनायक चतुर्थी- शास्त्रों के अनुसार सभी देवताओं में सर्वप्रथम भगवान गणेश की पूजा की जाती है. भगवान गणपति का जन्म शुक्ल चतुर्थी के दिन हुआ माना गया है इसलिए  इस दिन को हर साल गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है इसे विनायक चतुर्थी भी कहते है साल 2020 की विनायक चतुर्थी और अधिक खास है क्योंकि यह अधिक मास में पड़ रही है. कहा जाता है की इस मास में भगवान गणेश की पूजा करने से कई गुना लाभ प्राप्त होते है. माना जाता है कि जो भी व्यक्ति विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा करता है. उसके जीवन के सभी संकट समाप्त हो जाते हैं आज हम आपको आश्विन अधिक मास में पड़ने वाली विनायक गणेश चतुर्थी व्रत की शुभ तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और इस दिन किये जाने वाले उपाय के बारे में बताएँगे.

विनायक चतुर्थी शुभ मुहूर्त 2020 Ganesh Vinayak Chaturthi 2020

  1. साल 2020 में आश्विन अधिक मास की विनायक गणेश चतुर्थी का व्रत 20 सितम्बर रविवार को है.
  2. गणेश पूजा का शुभ मुहूर्त होगा – प्रातःकाल 11:01 मिनट से सायंकाल 01:27 मिनट तक
  3. पूजा की कुल अवधि – 02 घण्टे 26 मिनट्स की होगी
  4. आश्विन, शुक्ल चतुर्थी तिथि प्रारम्भ होगी- 20 सितम्बर प्रातःकाल 05:38 मिनट पर |
  5. आश्विन, शुक्ल चतुर्थी तिथि समाप्त होगी – 21 सितम्बर प्रातःकाल 02:26 मिनट पर |

गणेश चतुर्थी स्थापना पूजा विधि Ganesh Chaturthi Vrat Puja Vidhi

शास्त्रों के अनुसार अधिक मास में की गयी पूजा आराधना विशेष फलदायी मानी जाती है विनायक चतुर्थी के दिन सुबह ब्रह्ममुहूर्त में उठकर स्नान के बाद एक साफ चौकी पर गंगाजल छिड़क कर हरे रंग का वस्त्र बिछाएं. अब इस चौकी पर भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करें. इसके बाद जल भरे कलश में सुपारी और सिक्का डालकर उसपर आम के पत्ते रखकर कलश की स्थापना करे. अब भगवान गणेश जी का आह्वाहन कर उन्हें कुमकुम से तिलक करें और उन्हें सिंदूर, फूल, फल, वस्त्र, नैवेद्य और उनका प्रिय दूर्वा अर्पित करें. इसके बाद भगवान गणेश जी के मंत्रों का जाप और श्री गणेश स्तोत्र का पाठ करें. अंत में धूप दीप कर आरती कर उन्हें लड्डूओं का भोग लगाएं.

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020.

विनायक चतर्थी उपाय  ashwin Ganesh Vinayak Chaturthi

  1. विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश जी की पूजा के बाद उन्हें दो लौंग और दो सुपारी चढ़ाएं और इन्हे घर में ही पूजा स्थल पर रख दें। ऐसा करने घर की सुख समृद्धि में बढ़ोत्तरी होती है।
  2. मोदक गणेशजी को बहुत अधिक प्रिय है मान्यता है की गणेशजी को मोदक का भोग लगाने से वे भक्तों की मनोकामना पूरी करते हैं।
  3. हरी दुर्वा भी गणेश जी की को बेहद प्रिय है हरी दुर्वा उन्हें शीतलता मिलती है। इसीलिए आज के दिन यदि आप गणेश जी को हरी दूर्वा अर्पित करते है तो आपको जीवन में सफलता की प्राप्ति होती है.
  4. विनायक चतुर्थी के दिन गणेशजी को बूंदी के लड्डू का भोग लगाने से गणपतिजी अपने भक्तों को धन व सुख समृद्धि का वरदान देते हैं।