सफला एकादशी 2019 तिथि व उपाय Safala Ekadashi Date Time 2019

सफला एकादशी पूजा विधि व उपाय Safala Ekadashi Vrat puja upay

सफला एकादशी का व्रत शास्त्रों में बेहद मान्यता रखता है इस दिन सृष्टि के रचयिता श्री हरि व‍िष्‍णु की पूजा आराधना करने का विधान है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन जो भी सच्ची श्रद्धा से सफला एकादशी का व्रत कर भगवान विष्णु जी की आराधना करता है उसे उसके समस्‍त कार्यों में सफलता मिलने के योग बढ़ जाते है. आज हम आपको साल 2019 साल की आखिरी एकादशी सफला एकादशी व्रत की शुभ तिथि मुहूर्त पूजा विधि व कार्यो में सफलता प्राप्ति के लिए किये जाने वाले उपायों के बारे में बताएँगे.

सफला एकादशी व्रत तिथि शुभ मुहूर्त 2019 Safala Ekadashi Date Timing 2019

  1. साल 2019 दिसंबर माह में आने वाली आखिरी सफला एकादशी का व्रत 22 दिसंबर रविवार के दिन रखा जायेगा|
  2. एकादशी तिथि आरम्भ होगी 21 दिसंबर शनिवार शाम 05:15 मिनट पर |
  3. एकादशी तिथि समाप्त होगी 22 दिसंबर रविवार शाम 03:22 मिनट पर |
  4. सफला एकादशी व्रत के पारण का शुभ समय होगा 23 दिसंबर सोमवार प्रातःकाल 07:11 मिनट 09:13 मिनट तक|
  5. द्वादशी तिथि को पारण किया जाता है पारण के दिन द्वादशी तिथि समाप्त होगी शाम 01:42 मिनट पर|

सफला एकादशी व्रत पूजा विधि Safala Ekadashi Pooja Vidhi

जो भी लोग सफला एकादशी का व्रत रखते है उन्हें दशमी तिथि यानी कि एक दिन पहले से ही व्रत के  नियमों का पालन करना चाहिए. अगले दिन एकादशी तिथि को प्रातःकाल स्‍नान कर स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण कर निर्जल व्रत का संकल्प ले अब पूजास्थल पर भगवान विष्‍णु जी की प्रतिमा स्‍थापित करें और उन्हें  तुलसी दल, फल, फूल, नैवेद्य व सभी पूजन सामग्री अर्पित करें इसके बाद विष्‍णु जी की आरती कर सभी में प्रसाद वितरण करें. व्रत के अगले दिन व्रत का पारण कर किसी ब्राह्मण या जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन कराकर दक्षिणा देकर विदा करें. इसके बाद खुद भी अन्‍न जल ग्रहण कर सफला एकादशी व्रत का पारण करें.

सफला एकादशी व्रत का महत्‍व Importance of Safla Ekadashi

शास्त्रों में में सफला एकादशी का बड़ा महात्‍म्‍य बताया गया है पूरे सालभर में दो सफला एकादशी आती है पुराणों में इस एकादशी का महत्व भगवान कृष्ण ने युधिष्ठिर को बताया था| ऐसी मान्यता है की सफला एकादशी का व्रत रखने से व्‍यक्ति के सारे पाप नष्‍ट हो जाते हैं. और इस व्रत के प्रभाव से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है इस दिन भगवान विष्‍णु की पूजा करने से व्यक्ति को जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलती है.

राशिअनुसार जाने साल 2020 का भविष्यफल

एकादशी व्रत के नियम Ekadashi Vrat ke niyam

  1. जो भी लोग सफला एकादशी का व्रत करते है उन्हें इन बातों का ध्यान अवश्य ही रखना चाहिए.
  2. व्रत के दिन कांसे के बर्तन में भोजन करने से बचना चाहिए.
  3. सफला एकादशी व्रत में नॉन वेज, मसूर की दाल का सेवन करना भी वर्जित माना जाता है.
  4. इस दिन घर में किसी भी तरह का कलेश आदि नहीं करना चाहिए.
  5. एकादशी के व्रत में चावल और चावल से बने पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए.