दीपावली 2020 499 सालों बाद त्रिग्रही संयोग जरूर करे ये काम Diwali 2020 Upay

दीपावली लक्ष्मी पूजन विधि 2020 Diwali Lakshmi Ganesh Puja Vidhi

दीपावली 2020दीपावली 2020- दीपावली का त्यौहार कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को मनाया जाता है इस दिन सुख समृद्धि के लिए लक्ष्मी गणेश जी के साथ ही धन के देवता कुबेर जी का पूजन भी किया जाता है. ज्योतिष की माने तो इस बाद दिवाली पर सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ ही त्रिग्रही महासंयोग भी रहेगा जो की जीवन में शुभता बढ़ाने वाला होगा. आज हम आपको साल 2020 दिवाली की सही तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त और सर्वार्थ सिद्धि व त्रिग्रही योग में धनप्राप्ति के लिए किये जाए वाले उपायों के बारे में बताएँगे.

दिवाली तिथि व शुभ मुहूर्त Diwali Festival 2020 Date Time

  1. साल 2020 में दिवाली का त्यौहार 14 नवंबर शनिवार के दिन मनाया जाएगा|
  2. लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त होगा – शाम 05:28 मिनट से शाम 07:24 मिनट तक |
  3. प्रदोष काल समय होगा – शाम 05:28 मिनट से शाम 08:07 मिनट तक |
  4. वृषभ काल समय होगा – शाम 05:28 मिनट से  07:24 मिनट तक |
  5. अमावस्या तिथि प्रारम्भ होगी – 14 नवंबर शाम 02:17 मिनट पर |
  6. अमावस्या तिथि समाप्त होगी – 15 नवंबर प्रातःकाल 10:36 मिनट पर |

दिवाली महानिशीथ काल मुहूर्त 2020 Diwali Worship Timing

  1. दीवाली के दिन महानिशीथ काल में माता काली का पूजन किया जाता है.
  2. महानिशीथ पूजा मुहूर्त होगा – रात्रि 11:55 मिनट से प्रातःकाल 12:30 मिनट पर |
  3. पूजा की कुल अवधि 35 मिनट की होगी |

दिवाली शुभ संयोग 2020 Diwali Shubh Yog 2020

इस बार दिवाली पर 14 नवंबर शनिवार के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा. इस शुभ योग में पूरा दिन यानि की सुबह 6 बजे से रात 8.30 बजे तक सर्वार्थ सिद्धि योग रहेगा इस दौरान पूरा दिन कोई भी शुभ कार्य किया जा सकेगा। इसके अलावा इस बार 14 नवंबर के दिन करीब 499 सालों के बाद त्रिग्रही संयोग बनेगा जिसमे शनि मकर राशि में और गुरु धनु राशि में और शुक्र ग्रह कन्या राशि में रहेंगे, ग्रहो का ये त्रिग्रही दुर्लभ योग माँ लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए बेहद ख़ास होगा.

दिवाली पूजा व लक्ष्मी पूजन विधि Dewali Goddess Lakshmi Puja Vidhi

दिवाली के दिन संध्याकाल और रात्रि शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी, भगवान गणेश जी की पूजा आराधना की जाती है। सांध्यकाल के समय घर के पूजास्थल पर चौकी पर लक्ष्मी गणेश जी की प्रतिमा और जल से भरे कलश की स्थापना करे. अब लक्ष्मी गणेश जी के सामने घी के दीपक जलाये इसके बाद हाथ में जल व पुष्प लेकर सभी देवी देवताओं का आहवाहन करे और विधिवत लक्ष्मी गणेश जी की पूजा करे. पूजा में खील, बताशे, पंच मेवा, गुड़, फल फूल, मिठाई, कमल का फूल व माँ लक्ष्मी जी को प्रिय कौड़िया अर्पित करे. अब माता लक्ष्मी के मंत्रों का जाप और श्री सूक्त का पाठ करें। दीवाली पर महालक्ष्मी पूजन के बाद तिजोरी व बहीखाते की पूजा करें। पूजा के बाद घर के सभी कोनों में दिए जलाये. दीवाली के दिन यदि आप माँ लक्ष्मी गणेश जी के साथ धन के देवता कुबेर जी का पूजन भी जरूर करे.

शुभ योग धनप्राप्ति उपाय Diwali Dhanprapti Upay

दीपावली पर हम सभी माता लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए उनकी पूजा-अर्चना करते है इस बार दिवाली पर बन रहे इस शुभ योगो में यदि आप कुछ आसान उपायों को करते है तो शास्त्रों के अनुसार ये उपाय आपको सालभर सुख-समृद्धि का वरदान देंगे.

दिवाली की रात सुपारी, हल्दी की गाँठ, पीली कौड़ी या फिर गोमती चक्र को लक्ष्मी पूजन के समय पूजा में रखे और अगले दिन इन्हे लाल कपडे में बांधकर अपने धन रखने के स्थान पर रख दे इससे आर्थिक समस्याएं दूर होने लगती हैं।

दीपावली के दिन सांयकाल में अशोक वृक्ष की पूजा करे और इसके नीचे शुद्ध घी का दीपक जलाये इससे जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाते है.