योग द्वारा करे जांघो का फैट कम

जांघों को पतला करने के उपाय

lose thigh fatJangho ko patla karne ke upay

जांघों पर कई बार अनावश्यक फैट जमा हो जाता है जो आपको अनाकर्षक बना सकता है. शरीर के इस हिस्से पर फैट जमने का प्रमुख कारण हारमोंस, आनुवंशिकी और अस्वस्थ जीवनशैली है,

तथा महिलाओं के लिए तो वजन का बढ़ना एक चिंता का विषय है. महिलाओं के शरीर में वजन विशेषरूप से जांघो पर ज्‍यादा दिखाई देता हैं. शरीर के इस हिस्से में आसानी से वसा जमा हो जाता है जिसके कारण महिलाओ के शरीर में अधिक मोटापा दिखने लगता है. ऐसे में फीमेल वजन को कम करने के लिए कई प्रकार के प्रयोग करती है तथा इसके लिए महिलाओ को काफी मेहनत भी करनी पड़ती है.

महिलाएं वजन कम करने के लिए कई बार बेल्‍ट का प्रयोग करती हैं और डायट चार्ट के हिसाब से खान-पान का भी ध्यान रखती हैं. परन्तु असफल हो जाती हैं. इसके लिए जरुरी हैं की आप कुछ आसान योग के द्वारा अपने शरीर से एक्स्ट्रा फैट को कम कर सकते हैं.

जांघो का मोटापा कम करने के आसान योग Easy yoga tips for reduce  thigh Fat

जांघो का मोटापा कम करने के लिए धनुरासन (Bow Pose)

इस आसन को करने से शरीर की आकृति खींचे हुए धनुष की तरह हो जाती है. इसलिए इसको धनुरासन कहते हैं. इस आसन से वजन कम करने में मदद मिलती हैं.

  • सबसे पहले पेट के बल लेट जाये. ठोड़ी को भूमि पर टिका दें.
  • हाथ कमर से सटे हुए और पैरों के पंजे एक-दूसरे से मिला ले.तलवें और हथेलियां आकाश की ओर रखें.
  • घुटनों को मोड़कर दाहिने हाथे के पंजे से दाहिने पैर और बाएं हाथ के पंजे से बाएं पैर की कलाई को पकड़ें.
  • सांस लेते हुए पैरों को खींचते हुए ठोड़ी-घुटनों को भूमि पर से उठाएं .
  • सिर और तलवों को समीप लाने का प्रयत्न करें.
  • जब तक आप सरलता से सांस ले सकते हैं इसी मुद्रा में रहें.
  • सांस छोड़ते हुए पहले ठोड़ी और घुटनों को भूमि पर टिकाएं.
  • फिर पैरों को लंबा करते हुए पेट के बल लेट जाये.
  • जांघो का मोटापा कम करने के लिए उटकाटासन (Chair Pose)

इस आसन को करने के लिए बहुत सहनशक्ति की आवश्यकता होती है. हो सकता है कि शुरूआत में आपके पैरों में दर्द हो। इसे नियमित रूप से करने पर दर्द कम होने लगेगा

  • सबसे पहले अपने दोनों पैरों पर खड़े हो जाएं.
  • सांस अंदर की ओर खींचे और अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाएं.
  • अब अपने घुटनों को फोल्‍ड करें और एक लम्‍बी सांस छोड़े.
  •  इस आसन को शुरू में सिर्फ दस बार करें, बाद में इसकी संख्‍या बढ़ाते जाएं.

जांघो का मोटापा कम करने के लिए सेतुबंधासन (Bridge Pose)

इस आसन को करने से शरीर का मोटापा घटाने के साथ-साथ आप अपने शरीर को भी स्वस्थ रख सकते हैं.

  • जमीन पर सीधे लेट जाएं.
  • अपने पैरों को उठाएं और उन्‍हे घुटनों से फोल्‍ड करें.
  • अपने हाथों को अपनी ओर लाएं और चेहरे के सामने हथेली रख दें.
  • अब अपने हिप्‍स को हल्‍का सा उठाएं और अपने सिर की ओर लाएं. इस आसन को करते समय अपने पैरों को हवा में रखें.
  • अब अपनी पुनः स्थिति में वापस आ जाये.

Jangho par kai bar anwsyak fait jama ho jata hai jo apko anakrshk bana sakta hai. Sarir ke is hisse me fait jamne ka permukh karan harmones, anuwanshki or aswasth jivansaili hai thata mahilao ke liye to vajan badna ek chinta ka visay hai. Mahilao ke sarir me wajan viseshrup se jagho par jayada dikhayi deta hai. Sarir ke is hisse me aasani se wsa jama ho jata hai. Jiske karan mahilao ke sarir me adhik motapa dikhne lagta hai. Aise me female vajan ko kam karne ke liye kai parkar ke paryog kati hai thata iske liye mahilao ko kafi mehnat bhi karni padti hai. Mahilaye kai bar wajan kam karne ke liye belt ka pryog karti hai or diet chart ke hisab se khan-pan ka bhi dhyan rakhti hai. Parantu asafal ho jati hai. Iske liye jaruri hai ki aap kuch aasan yog dwara sarir ke extra fat ko kam kare.

Dhanurasan (Upward Wheel Pose – Urdva Chakrasana)

Is aasan ko karne se sarir ki aakrti khichte huye dhanush ki tarah ho jati hai, isliye isko dhanurasan kahte hai. Is aasan se wajan kam karne me madad milti hai.

  • Sabse pahle pet ke bal let jaye. Thondi ko bhumi par tika de.
  • Hath kamar se sate huye or pairo ke panje ek-dusre se mila le.
  • Talwe or hatheliye aakash ki oor rakhe.
  • Ghutno ko modkar dahine hath ke panje se dahiye pair or baye hath ke panje se baye pair ki kalai pakde.
  • Saans lete huye pairo ko khichte huye thondi-ghutno ko bhumi par se uthaye.
  • Sir or talwo ko samip lane ka pryatan kare.
  • Jab tak aap saralta se saans le sakte hai isi midra me rahe.
  • Saans chodte huye pahle thondi or ghutno ko bhumi par tikaye.
  • Fir pairo ko lambva karte huye pet ke bal let jaye.

Utkatasan (Chair Pose)

Is aasan ko kane ke liye bahut sahanshakti ki aawsaykta hoti hai. Ho sakta hai ki suruaat me aapke pairo me dard ho. Ise niyamit rup se karne par dard kam hone lagega.

  • Sabse pahle apne dono pairo par khde ho jaye.
  • Saans andar ki oor khiche or apne dono hatho ko upar uthaye.
  • Ab apne ghutno ko fold kare or ek lambi saans chode.
  • Is aasan ko suru me sirf lagbhag das bar kare, bad me iski sankhya badate jaye.

Setubandhasan (Bridge Pose)

Is aasan ko karne se sarir ka motapa ghtane ke sath-sath apne sarir ko swsthy bhi rakh sakte hai.

  • Jamin par sidhe let jaye.
  • Apne pairo ko uthye or unhe ghutno se fald kare.
  • Apne hatho ko apni oor laye or chehre ke samne hatheli rakh de.
  • Ab apne hips ko halka sa uthye or apne sir ki oor laye. Is aasan ko karte samay apne pairo ko hawa me rakhe.
  • Ab apni punah sthiti me waps aa jaye.