मोटापा कम करने के लिए व्यायाम

पेट के मोटापे को कम करने के आसान टिप्स

motapa kare kam upcharnuskhePet ke motape ko kam karne ke aasan tips

मोटापा कई बीमारियों का कारण होता है. मोटापा शरीर में जमा होने वाली अतिरिक्त चर्बी होती है जिससे वजन बढ़ जाता है. ऑफिस में काम करने वालों का वज़न अक्सर जंक फूड खाने के कारण बढ़ जाता है और इसका सबसे गहरा असर हमारे पेट में पड़ता है क्योंकि लोग भूख लगने पर जंक फूड खाते हैं जो खाने में तो बहुत अच्छा होता हैं.

जंक फूड कैलोरीज़ से भरपूर होता है तथा पेट की चर्बी बड़ा देता है, तथा कुछ लोग मोटे नहीं होते लेकिन उनके पेट के आसपास काफी चर्बी इक्क्ठा हो जाती है. पेट पर जमा फैट आपकी सेहत को बिगाड़ देता है. इस समस्या से निजात पाने के लिए कुछ आसान तरीके अपनाने चाहिए जो सेहतमंद होने के साथ-साथ लाभदायक भी होते है.

भुजंगासन

भुजंगासन पेट की चर्बी कम करने में बहुत सहायक होता है, तथा इससे से न सिर्फ पेट की चर्बी कम होती है बल्कि बाजुओं, कमर और पेट की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है.

  • पहले पेट के बल सीधा लेट जाएं और दोनों हाथों को माथे के नीचे टिकाएं.
  • दोनों पैरों के पंजों को साथ रखें.
  • अब माथे को सामने की ओर उठाएं और दोनों बाजुओं को कंधों के समानांतर रखें जिससे शरीर का भार बाजुओं पर पड़े.
  • अब शरीर के अग्रभाग को बाजुओं के सहारे उठाएं.
  • शरीर को स्ट्रेच करें और लंबी सांस लें.
  • कुछ सेकंड इसी अवस्था में रहने के बाद वापस पेट के बल लेट जाएं.

बलासन

इससे पेट की चर्बी भी कम होती है और मांसपेशियां मजबूत होती हैं तथा यह योग गर्भवती महिलाओ या घुटने के रोगियों को नहीं करना चाहिए.

  • घुटने के बल जमीन पर बैठ जाएं जिससे शरीर का सारा भाग एड़ियों पर हो.
  • गहरी सांस लेते हुए आगे की ओर झुकें.
  • आपका सीना जांघों से छूना चाहिए और माथे से फर्श छूने की कोशिश करें.
  • कुछ सेकंड इस अवस्था में रहने के बाद सांस छोड़ते हुए वापस उसी अवस्था में आ जाएं.

पश्चिमोत्तानासन

पश्चिमोत्तानासन पेट बी चर्बी कम करने के लिए बहुत सरल है.इसकी विधि इस प्रकार है.

  • सबसे पहले सीधा बैठ जाएं और दोनों पैरों को सामने की ओर सटाकर सीधा फैलाएं.
  • दोनों हाथों को ऊपर की ओर उठाएं और कमर को बिल्कुल सीधा रखें.
  • फिर झुककर दोनों हाथों से पैरों के दोनों अंगूठे पकड़ने की कोशिश करें. ध्यान रहे इस दौरान आपके घुटने न मुड़ें और न ही आपके पैर जमीन से ऊपर उठें.
  • कुछ सेकंड इस अवस्था में रहने के बाद वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं.

इन योगासनों को प्रतिदिन करने से पेट की चर्बी कम करने में मदद मिलती है साथ ही शरीर स्वस्थ रहता है.

Motapa kai bimariyo ka karan hota hai. Motapa sarir me jama hone wali atirikt charbi hoti hai jiske karan wajan bad jata hai. Office me kam karne walo ka wajan aksar junk food khane ke karan bad jata hai or iska sabse gahra prbhaw hamare pet me padta hai, kyoki log bhuk lagne par jung food khate hai jo khane me bahut accha hota hai lekin calories se bharpur hota hai thata pet ki charbi bada deta hai, tatha kuch log mote nahi hote lekin unke pet ke aaspas kafi charbi ikttha ho jati hai. Pet me jama fat aapki sehat ko bigad deta hai. Is samsya se nijat pane ke liye kuch aasan gharelu tarike apnane chhaiye jo sehatmand hone ke sath-sath labhdayak bhi hote hai. 

Bhujansan

Bhujansan pet ki charbi kam karnem bahut shyak hota hai., thata isse na sirf ki charbi kam hota hai balki bajuo, kamar or pet ki manspeshiyo ko majbuti milti hai.

  • Pahle pet ke bal siddha let jaye or dono hatho ko mathe ke niche tikaye.
  • Dono pairo ke panjo ko sath rakhe.
  • Ab mathe ko samne ki oor uthaye or dono bajuo ko kandho ke samanter rakhe jisse sarir ka bhar bajuo par pade.
  • Ab sarir ke agrbhag ko bajuo ke share uthaye.
  • Sarir ko stretch kare or lambi saans le.
  • Kuch second is awstha me rahne ke bad wapas pet ke bal let jaye.

Pachimottanasan

Pachimottanasan pet ki charbi kam karne ke liye bhaut saral hai. Iski vidhi is prkar hai.

  • Sabse pahle siddha baith jaye or dono pairo ko samne ki oor stakar sidha failaye.
  • Dono hatho ko upar ki oor uthaye or kamar ko bilkul siddha rakhe.
  • Fir jhukkar dono hatho se pairo ke dono anguthe pakdane ki kosis kare. Dhyan rahe is doran aapke ghutne na mude or na hi aapke pair jamin se upar uthe.
  • Kuch second is awstha me rahne ke bad waapas samany awstha me aa jaye.

Balasan

Isse pet ki charbi bhi kam hoti hai or manspesiya majbut hoti hai tatha yah yog garbwati mahilao ya ghutne ke rogiyo ko nahi karna chahiye.

  • Ghutne ke bal jamin me baith jaye jisse sarir ka sara bhag aidiyo par ho.
  • Gahri saans lete huye aage ki oor jhuke.
  • Aapka sina jangho ko chuna chahiye or mathe se farsh chune ki kosis kare.
  • Kuch second is awstha me rahne ke bad saans chodte huye waapas usi awastha me aa jaye.

In yogasano ko prtidin karne se pet ki charbi kam karne me madad milti hai sath hi sarir swasth rahta hai.