सावन सोमवती हरियाली अमावस्या 2020 Somvati Amavasya Date Time 2020 

हरियाली अमावस्या 2020 सुख समृद्धि उपाय Hariyali Amavasya Upay 2020

हरियाली अमावस्याहरियाली अमावस्या- सावन मास में कृष्णपक्ष की अमावस्या तिथि को हरियाली अमावस्या के रूप में मनाया जाता है। साल 2020 में हरियाली और सोमवती अमावस्या एक ही दिन पड़ेंगी जिस कारण यह तिथि और भी अधिक शुभ होगी। शास्त्री के अनुसार हरियाली अमावस्या के दिन पीपल, आंवला, नीम, आम जैसे छायादार एवं फलदार पेड़ लगाने की परंपरा है। आज हम आपको साल 2020 हरियाली अमावस्या पर बनने वाले शुभ योग अमावस्या तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस शुभ योग में किये जाने वाले कुछ आसान उपाय बताएँगे।

हरियाली अमावस्या शुभ मुहूर्त 2020 sawan Amavasya 2020 Date

  1. साल 2020 में सावन हरियाली अमावस्या का पर्व 20, जुलाई सोमवार के दिन मनाया जाएगा|
  2. अमावस्या तिथि प्रारम्भ होगी – 20 जुलाई प्रातःकाल 12:10 मिनट पर|
  3. अमावस्या तिथि समाप्त होगी- 20 जुलाई रात्रि 11:02 मिनट पर|

सावन अमावस्या शुभ योग sawan Amavasya Shubh yog 2020

इस साल सावन अमावस्या तिथि पर बेहद खास संयोग बन रहा है। सावन माह में जहां अमावस्या सोमवार के शुभ योग में आ रही है वहीं 20 साल बाद सावन सोमवार को सोमवती और हरियाली अमावस्या का संयोग बड़ा ही अद्भुद होगा। सोमवती व हरियाली अवमास्या के दिन सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा और साथ ही रात्रि में पुष्प नक्षत्र योग के आने से सोम पुष्प नक्षत्र योग भी बनेगा। मान्यता है की इस चमत्कारिक योग में यदि विधिवत पूजा कर कुछ उपाय किये जाय तो जीवन से सभी परेशानियों का अंत हो जाता है.

अमावस्या पूजा विधि Halharini Amavasya Pooja Vidhi

हरियाली अमावस्या और सोमवती अमावस्या के इस शुभ योग में सुबह जल्दी उठकर स्नान कर स्वच्छ हो जाएं इसके बाद सूर्य देव को अर्घ्य देने के बाद पितरों के निमित्त तर्पण करें। संभव हो तो श्रावणी अमावस्या का उपवास करें और किसी गरीब को दान-दक्षिणा दें। सोमवती अमावस्या के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा और परिक्रमा करने का विधान है। सावन अमास्या पर शिवलिंग पर जल चढ़ाकर बिल्व पत्र और धतूरा अर्पित करें साथ ही भगवन शिव को चंदन से तिलक कर भोग लगाएं। इस दिन सुहागन महिलाओं द्वारा अपने पति की दीर्घायु की कामना के लिए व्रत रखने का भी विधान है।

अमावस्या पर करे ये काम somwati amavasya 

धार्मिक दृष्टि से अमावस्या तिथि बहुत लाबकरि मानी जाती है यदि अमावस्या पर सोमवार का शुभ योग बने तो इसे सोमवती अमावस्या कहते है और शास्त्रों के अनुसार सोमवती अमावस्या कुछ विशेष कार्य किये जाय तो कहा जाता है की व्यक्ति को सुख समृद्धि का वरदान प्राप्त होता है आइये जानते है वे कार्य कौन से है.

  1. परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए सावन की अमावस्या के दिन हनुमान मंदिर जाकर हनुमान चालीसा का पाठ karna लाभकारी होता है.
  2. अमावस्या की शाम को मां लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए घर के ईशान कोण में घी का दीपक जलाएं।
  3. सोमवती अमावस्या के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा, जला चढाने और परिक्रमा करने करने से जीवन में सफलता मिलती है.
  4. श्रावणी अमावस्या के दिन शाम को शिवजी की विधिवत पूजा आराधना करें उन्हें खीर का भोग लगाएं। ऐसा करने से आपको शिवजी की कृपा मिलती है।