नाग पंचमी 2019 कब है Nag Panchami 2019 Date Time Shubh Muhurt

नाग पंचमी पूजा विधि Nag Panchami Puja Vidhi

Nag Panchami 2019 Nag Panchami 2019- हिंदू धर्म में देवी देवताओं की पूजा उपासना व्रत व त्योहारों का बड़ा महत्व होता है नाग पंचमी का त्यौहार ऐसा ही पर्व है। जिसमे भगवान भोलेनाथ के गले के हार और भगवान विष्णु की शैय्या माने जाने वाले नागो की पूजा की जाती है सावन मास के आराध्य देव भगवान शिव हैं। यह समय वर्षा ऋतु का होने के साथ ही ऐसी मान्यता है कि भू गर्भ निकलकर नाग भूतल पर आ जाते हैं। शास्त्रों की माने तो इस बार नाग पंचमी पर 20 सालों बाद सावन सोमवार का संयोग बनेगा. आज हम आपको साल 2019 नाग पंचमी पर्व की तिथि शुभ मुहूर्त और इस दिन की जाने वाली विशेष पूजा अर्चना के बारे में बताएँगे.

सोमवार को नागपंचमी का संयोग Naga Panchami 2019 Shubh Sanyog

इस बार सावन के महीने में नाग पंचमी 5 अगस्त सोमवार को विशेष योग लेकर आएगी. 20 साल बाद यह योग बना है। ज्योतिष अनुसार इससे पहले ऐसा योग 16 अगस्त 1999 में बना था और आने वाले समय में 21 अगस्त 2023 को एकबार फिर से ऐसा संयोग बनेगा. नागपंचमी के दिन सोमवार का संयोग बनना अनिष्ट ग्रहों की शांति के लिए बहुत ही शुभ माना जाताहै. मान्यता है की यदि इस शुभ योग में शिवजी का रुद्राभिषेक और पूजन किया जाय तो मनोकामना सिद्धि की जा सकती है.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

नाग पंचमी तिथि व शुभ मुहूर्त Naga Panchami Tithi Date Time 2019

  1. साल 2019 में नाग पंचमी का पर्व 5 अगस्त सोमवार के दिन मनाया जाएगा.
  2. पंचमी तिथि शुरू होगी 4 अगस्त रविवार 18 बजकर 48 मिनट पर|
  3. पंचमी तिथि समाप्त होगी 5 अगस्त सोमवार 15 बजकर 54 मिनट पर|
  4. नाग पंचमी पूजा का शुभ मुहूर्त होगा 5 अगस्त सोमवार 5 बजकर 48 मिनट से 8 बजाकर 28 मिनट तक|
  5. पूजा की कुल अवधि 2 घंटे 48 मिनट की होगी.

नाग पंचमी पूजा विधि Naga Panchami Puja Vidhi

नाग पंचमी के दिन सबसे पहले घर की साफ़ सफी कर दैनिक कार्यो से निवृत होकर स्नान करे.  इसके बाद प्रसाद के रूप में श्रद्धानुसार सेवई और चावल बनाये जाते है इसके बाद चौकी पर नागदेवता की मूर्ति या तस्वीर रखे और जल से अर्घ्य दें. इसके बाद प्रतिमा को दूध, दही, घी, मधु और शक्कर से बने पंचामृत से स्नान कराएं. प्रतिमा पर चंदन, नये वस्त्र, कुमकुम, बेलपत्र, फूल, धूप दीप, चढ़कर आरती करे और अंत में नाग देवता की कथा पढ़ने अथवा सुनंने के बाद प्रसाद वितरण कर आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए.

नाग पंचमी महत्व Importance of Naag Panchami Vrat

मान्यताओं के अनुसार सर्पों को प्राचीन काल से ही देवता के रूप में पूजा जाता है। इसलिए इस दिन नाग पूजन अत्यधिक महत्व रखता है। ऐसी भी मान्यता है कि नाग पंचमी के दिन पूजन व व्रत करने से अक्षय-पुण्य की प्राप्ति होती है. साल 2019 में नाग पंचमी के दिन सावन सोमवार का विशेष शुभ संयोग बनने के कारण इसका महत्व और भी अधिक बाद जायेगा. जिस कारण इस दिन की गयी पूजा और भी अधिक फलदायी होगी.