अपरा एकादशी व्रत तिथि शुभ मुहूर्त Apara Ekadashi Vrat 2019

अचला एकादशी उपाय Achla Ekadashi Vrat Upay

अपरा एकादशी जिसे अचला एकादशी के नाम से भी जाना जाता है साल 2019 में अपरा एकादशी का व्रत 30 मई 2019 के दिन होगा यह व्रत ज्येष्ठ मास के कृ्ष्ण पक्ष की एकादशी तिथि के दिन रखा जाता है. शास्त्रों में इस व्रत को समस्त पापों को नष्ट करने वाला और व्यक्ति को धन वैभव प्रदान करने वाला बताया गया है. इस व्रत के प्रभाव से व्यक्ति को अपार धन संपदा प्राप्त होती है. आज हम आपको अपरा एकादशी व्रत के शुभ मुहूर्त. महत्व, पूजा विधि और इस दिन किये जाने वाले लाभकारी उपायों के बारे में बताएँगे.

अपरा एकादशी शुभ मुहूर्त Apara Ekadashi Shubh Muhurt 2019

  1. साल 2019 मई माह में आने वाले अपरा एकादशी का व्रत 30 मई के दिन रखा जाएगा.
  2. एकादशी तिथि आरम्भ होगी 29 मई बुधवार के दिन शाम 03:21 पर|
  3. एकादशी तिथि समाप्त होगी 30 मई 2019 शाम 04:38 मिनट पर |
  4. एकादशी व्रत के पारण का शुभ समय होगा 31 मई सुबह 05:28 मिनट से 08:12 मिनट तक|

अपरा एकादशी का महत्व Importance of Apara Ekadashi Vrat

प्राचीन मान्यताओं और शास्त्रों के अनुसार ऐसा माना जाता है की जिस प्रकार का फल कार्तिक मास में स्नान दान से मिलता है ठीक वैसा ही फल अपरा एकाद्शी के व्रत से भी व्यक्ति को प्राप्त होता है.  अपरा एकादशी या अचला एकादशी के व्रत का फल यज्ञ करने , स्वर्ण दान करने के बराबर ही बताया गया है जो भी मनुष्य इस व्रत को पूरी श्रद्धा से रखता है तो उसे धन- धान्य की प्राप्ति होती है.

अपरा एकादशी पूजा-विधि Apara achla ekadashi pujan vidhi

अपरा एकादशी व्रत के दिन पूजा- पाठ का विशेष विधान होता है इसमें घर की साफ़-सफाई के साथ ही मन की स्वच्छता का भी पूरा ध्यान रखा जाता है. जो भी यह व्रत रखते है उन्हें इस व्रत की शुरुआत और नियमो का पालन दशमी तिथि से ही कर देना चाहिए. इस दिन सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए और अपने विचारों में संयम बरतना चाहिए. एकादशी तिथि के दिन सबसे पहले प्रात: काल उठकर दैनिक कार्यो से निवृत्त होकर स्नान कर व्रत का संकल्प लेकर श्री हरी विष्णु जी का पूजन करना चाहिए. व्रती को पूरे दिन व्रत रखकर संध्या काल के समय भगवान को भोग लगाकर धूप, दीप कर कथा सुननी  चाहिए इसके बाद प्रसाद वितरण करना चाहिए.

अपरा एकादशी व्रत उपाय apara ekadashi vrat upay

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की सभी एकादशी व्रत बेहद ख़ास होते है प्रत्येक एकादशी तिथि के दिन कुछ विशेष उपाय भी बताये जाते है कहा जाता है की यदि इस दिन कुछ विशेष उपाय विधिवत कर लिए जाय तो इसके फल शीघ्र ही व्यक्ति को प्राप्त होते है. तो चलिए जानते है अपरा एकादशी के दिन किये जाने वाले इन उपायों के बारे में|

  • एकादशी के दिन गाय के कच्चे दूध में केसर मिलाकर भगवान विष्णु जी का अभिषेक करना बहुत ही लाभकारी उपाय बताया गया है.
  • एकादशी तिथि के दिन धनलाभ पाने के लिए भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी जी का पूजन करना विशेष लाभकारी होता है.
  • अपरा एकादशी के दिन यदि दक्षिणावर्ती शंख में गंगाजल भरकर उससे भगवान विष्णु का अभिषेक किया जाय तो यह उपाय व्यक्ति की मनोकामना पूरी करने के अलावा उसे समृद्धि भी प्रदान करता है.
  • एकादशी के दिन पीपल के पेड़ में जल चढ़ाना अत्यंत लाभकारी होता है माना जाता है कि पीपल के पेड़ में विष्णु का वास होता है एकादशी के दिन पीपल के पेड़ की पूजा और जलाभिषेक कर इसकी परिक्रमा की जाय तो यह उपाय करने पर व्यक्ति को विष्णु जी की विशेष कृपा और मनोकामना प्राप्त होती है.
  • एकादशी तिथि के दिन शाम के समय तुलसी के पौधे के सामने गाय के शुद्ध घी का दीपक जलाकर तुलसी के पौधे को प्रणाम कर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करना चाहिए या फिर इस दिन भगवान विष्णु को तुलसी की माला अर्पित करें इससे भगवान् विष्णु अति प्रसन्ना होते है और व्यक्ति को मनचाहा फल प्रदान करते है.
  • इस दिन विष्णु भगवान जी के मंदिर में जाकर अन्न का दान करना और अन्ना जल गरीबो में बाँटना भी बहुत ही पभावशाली उपाय बताया गया है.
  • भगवान विष्णु को पीतांबरधारी कहा जाता है इसलिए एकादशी पर उन्हें पीले वस्त्र, पीले रंग के फूल अर्पित करने चाहिए। यह उपाय व्यक्ति की मनोकामना पूरी और अक्षय पुण्य की प्राप्ति करने वाला उपाय माना जाता है.