Yogini Ekadashi 2019 Date Time योगिनी एकादशी शुभ मुहूर्त पूजा विधि

Yogini Ekadashi puja vidhi योगिनी एकादशी पूजा विधि

Yogini Ekadashi 2019Yogini Ekadashi 2019- आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष में आने वाली एकादशी योगिनी एकादशी के नाम से जानी जाती है. साल 2019 में योगिनी एकादशी का व्रत 29 जून शनिवार के दिन रखा जाएगा. इस दिन भगवान विष्णु जी का पूजन किया जाता है शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की योगिनी एकादशी के दिन विधि विधान से पूजा और उपाय करने पर मनोकामनाओं पूर्ति की जा सकती है आज हम आपको योगिनी एकादशी व्रत के शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन किये जाने वाले उपायों के बारे में बताएँगे.

योगिनी एकादशी व्रत तिथि व शुभ मुहूर्त Yogini Ekadashi Vrat Tithi Shubh Muhurt 2019

  1. साल 2019 में योगिनी एकादशी का व्रत 29 जून शनिवार के दिन रखा जाएगा|
  2. एकादशी तिथि शुरू होगी 28 जून शुक्रवार प्रातः काल 6 बजकर 36 मिनट पर|
  3. एकादशी तिथि समाप्त होगी 29 जून शनिवार प्रातःकाल 6 बजकर 45 मिनट पर|
  4. एकादशी व्रत के पारण का शुभ समय होगा 30 जून रविवार प्रातःकाल 5 बजकर 31 मिनट से 6 बजकर 11 मिनट तक|
  5. 28 जून की सुबह 6 बजकर 36 मिनट पर एकदाशी शुरू तो हो जायेगी. लेकिन सूर्योदय दशमी तिथि में साढ़े पांच बजे हो रहा है जिस कारण 28 तारीख को उदया तिथि नहीं मिलने के कारण 29 तारीख को ही एकादशी का व्रत रखा जाएगा.

योगिनी एकादशी पूजा विधि Yogini Ekadashi fast pujan vidhi

योगिनी एकादशी का व्रत रखने वाले सभी जातको को एक दिन पहले से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए व्रत के पहले दिन सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए एकादशी तिथि को सूर्योदय से पहले दैनिक कार्यो से निवृत होकर स्नान कर व्रत का संकल्प ले और इसके बाद पूजा घर में भगवान विष्णु की प्रतिमा को सभी पूजन सामग्री अर्पित कर धुप दीप जलाकर पूजा करें। इसके बाद विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें और ॐ नमो भगवते वासुदेवाय महामंत्र का जाप करें।

योगिनी एकादशी का महत्व Yogini Ekadashi vrat importance

शास्त्रों में योगिनी एकादशी का विशेष महत्व बताया गया है. अन्य एकादशियों की तरह ही इस एकादशी पर भी भगवान विष्णु की आराधना की जाती है। मान्यता है की जो भी व्यक्ति इस व्रत को करता है उसे अट्ठासी हजार ब्राह्मणों को भोजन कराने के बराबर का फल मिलता है। इस व्रत के शुभ प्रभाव से व्रत करने वाले व्यक्ति के जीवन के सभी पाप कट जाते हैं और उसे जीवन में हर सुख प्राप्त होकर धन यश, मान सम्मान व मनोकामना की प्राप्ति होती है.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

योगिनी एकादशी महाउपाय Yogini Ekadashi Mahaupay

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की योगिनी एकादशी के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा करना बहुत ही शुभ फल देने वाला उपाय है. पीपल का पेड़ दिव्यता से परिपूर्ण माना जाता है जिस कारण यदि इस शुभ दिन भगवान विष्णु जी के साथ-साथ पीपल के वृक्ष की पूजा की जाय तो इससे साधक को जीवन का हर सुख प्राप्त होता है योगिनी एकादशी पर किये इस महाउपाय से व्यक्ति को धन यश वैभव मान सम्मान और मनोकामना पूर्ति का वरदान मिलता है.