पढ़ाई में मन कैसे लगाने का सही तरीका Study Tips to Concentrates on Studies

पढ़ाई में मन कैसे लगाये Tips to Focus on Studies

पढ़ाई में मन Study Tips to Concentrates on Studiesपढ़ाई में मन – टॉपर हर स्टूडेंट बनना चाहता है. हर कोई चाहता है कि वह अपनी क्लास में सबसे अच्छे स्कोर लाये. लेकिन इसी के बीच छात्रों के मन में सबसे बड़ा सवाल यह होता है कि पढ़ाई में मन कैसे लगाएं? जी हाँ, पढ़ना तो हर छात्र चाहता है लेकिन कैसे जब पढ़ाई में मन ही नहीं लग रहा हो. सब आपसे कहते होंगे पढ़ाई में मन लगाओ, आपके Exam आने वाले हैं, आपको Exam में अच्छा Score करना है, लेकिन ये सब कैसे पॉसिबल होगा जब आपका खुद पढ़ाई में मन लगेगा, जब बिना किसी के कहे आप अपने आप पढ़ने बैठोगे. आज की ये वीडियो उन छात्रों के लिए सबसे बेहतरीन रहने वाली है जो पढ़ाई में मन नहीं लगा पा रहे है. जी हाँ, आज हम आपको इस वीडियो में आपके पढाई में मन ना लगने का सबसे बड़ा कारण बताएँगे और बताएँगे कि कैसे आप पढाई में अपना मन लगा सकते है.

जाने मन विचलित होने की वजह know Reason why you’re Distracted –

पढ़ाई में मन नहीं लगने का सबसे बड़ा कारण है पढ़ते समय आपके मन का विचलित होना. सबसे पहले ये जानने की कोशिश करें कि आपका मन पढ़ाई से किस कारण विचलित हो रहा है या कौन सी ऐसी वजह है जिससे आप विचलित यानी डिस्ट्रैक्ट हो रहे है. डिस्ट्रैक्शन किसी भी वजह से हो सकता है. आपको अपने डिस्ट्रैक्शन को पहचानना है. डिस्ट्रैक्शन या आपके मन के विचलित होने के कई कारण हो सकते है. जैसे आपका फैमिली प्रेशर, मूवी देखना, मोबाइल फ़ोन, दोस्तों के साथ बातचीत या फिर पढ़ते समय आपका अधिक आलसी होना. डिस्ट्रैक्शन उन्ही चीजों से होता है जिसमे आपको ज्यादा मजा आता है या जिस चीज में हमे ज्यादा इंटरेस्ट हो. जब आपको अपना डिस्ट्रैक्शन समझ आ जाये तो उसे कम से कम पढ़ाई करते समय खुद से दूर करे. आपको अपना ये डिस्ट्रैक्शन खुद से ही कम करना होगा. और जहां से आपका ये डिस्ट्रैक्शन खत्म हो जायेगा न आप बिना किसी के कहे ही खुद पढ़ने बैठ जायेंगे.

एक बड़ा लक्ष्य बनाये Make a Big Goal –

अपनी पढ़ाई को अपने एक गोल या लक्ष्य से जोड़कर रखें. खुद से पूछे कि आप 5 साल में खुद को किस जगह देखना चाहेंगे. अगर आपका कोई भी बड़ा गोल नहीं है न तो आप एक दिन भी अच्छे से नहीं पढ़ पाएंगे. मन ना लगने का एक कारण यह भी होता है कि हमे अपनी लाइफ में पढ़ने की कोई बड़ी वजह पता नहीं होती. और होते भी तो कुछ सपने.. सपने कभी किसी के पुरे नहीं होते. सपनो को पूरा करने के लिए उससे रियलिटी में बदलना ही पड़ता है. जिस दिन आपने पढ़ने ये एक बड़ी वजह ढूंढ ली तो आपको कोई भी मोटिवेशन की जरूरत नहीं पड़ेगी.

याद रखिये कि सूरज की तरह चमकने के लिए सूरज की तरह तपना ही पढ़ता है. जैसे ही आपका पढ़ने में मन ना लगे तो खुद से सवाल कीजिये क्या आपका ये डिस्ट्रैक्शन आपके गोल से ज्यादा बड़ा है तो आपके अंदर से एक आवाज आएगी नहीं … और यही नहीं आपको अपनी पढ़ाई में कंसन्ट्रेट करने में काफी मदद करेगी. बस उन चीजों से दूर रहिये जिनका आपके गोल से दूर दूर तक कोई कनेक्शन नहीं है. मुझे अपनी जिंदगी में क्या करना है जिसे दिन अपने ये डिसाइड कर लिया न उस दिन से आप पढ़ाई में ही क्या अपने किसी भी काम में डिस्ट्रक्ट नहीं हो सकते. अगर स्टूडेंट लाइफ में आपने अपना 100% दिया तो आगे आप जो भी काम करेंगे उसमे अपना 100 % ही देंगे.