सावन पूर्णिमा तिथि शुभ मुहूर्त 2020 Sawan Purnima 2020 Shubh Sanyog

सावन पूर्णिमा 2020 Rakhi Purnima 2020

पंचांग के अनुसार श्रावण मास में आने वाली पूर्णिमा तिथि को श्रावण या श्रावणी पूर्णिमा कहते है। इसी दिन रक्षाबंधन का त्योहार भी मनाया जाता है और साथ ही इसी दिन दान, पुण्य करने का भी बहुत महत्व है। इस दिन बहने भाई की कलाई पर राखी बांधती है और भाई अपनी बहनो को उनकी रक्षा का वचन देते है. ज्योतिष अनुसार इस साल सावन पूर्णिमा के दिन बेहद शुभ योग बनेगे जिस कारण इस तिथि का महत्व और भी अधिक होगा| आज हम आपको साल 2020 सावन पूर्णिमा शुभ योग राखी बांधने का शुभ मुहूर्त पूजा विधि श्रावण पूर्णिमा पर किये जाने वाले कार्य के बारे में बताएँगे.

सावन पूर्णिमा शुभ योग Sawan Purnima shubh Yog 2020

इस बार भाई बहन के प्रेम का प्रतीक पर्व रक्षाबंधन 3 अगस्त को कई शुभ संयोग में मनाया जाएगा। इस बार श्रावणी पूर्णिमा के साथ महीने का श्रावण नक्षत्र भी 3 अगस्त को पूरे दिन रहेगा जिससे इसकी शुभता और बढ़ जाएगी। इसके अलावा इस दिन सावन माह का आखिरी सोमवार, और सर्वार्थसिद्धि का विशेष संयोग रहेगा।

श्रावण पूर्णिमा पूजा विधि Sawan Purnima puja vidhi

चूंकि इस दिन रक्षासूत्र बांधने या बंधवाने की परंपरा है इसीलिए आज के दिन बहनो को भाइयो की कलाई पर रक्षा-सूत्र या राखी बांधने से पूर्व स्नानादि के बाद दोनों को मिलकर पूजा करनी चाहिए. पूजा से पहले पूजा की थाल सजाकर उसमे रोली अक्षत, दीपक और राखियां रख ले. पूजा के बाद भाई को आसन पर बिठाकर उनका तिलक कर उनके दाहिनी कलाई पर रक्षा सूत्र बांधने के बाद मिठाई खिलाकर पूजा सम्पन्न करे. राखी बंधवाने के बाद भाई भी बहनो रक्षा का वचन और कुछ उपहार भेंट देते है.

राखी पूर्णिमा शुभ मुहूर्त 2020 Raksha Bandhan 2020 Shubh Muhurat

  1. साल 2020 में राखी पूर्णिमा का पर्व 3 अगस्त सोमवार के दिन मनाया जाएगा.
  2. पूर्णिमा तिथि शुरू होगी – 2 अगस्त रविवार रात्रि 09:28 मिनट पर|
  3. पूर्णिमा तिथि समाप्त होगी – 3 अगस्त सोमवार रात्रि 09:28 मिनट पर|
  4. रक्षा सूत्र बांधने का शुभ मुहूर्त होगा – 3 अगस्त सोमवार प्रातःकाल 09:28 मिनट से रात्रि 09:17 मिनट तक|
  5. रक्षा बन्धन अपराह्न मुहूर्त होगा – दोपहर 01:48 मिनट से शाम 04:29 मिनट तक|
  6. रक्षा बन्धन प्रदोष काल मुहूर्त होगा – शाम 07:10 मिनट से रात्रि 09:17 मिनट तक|
  7. भद्रा काल समाप्ति का समय होगा- प्रातःकाल 09:28 मिनट पर|

सुख वैभव के लिए करे ये काम Sawan Purnima Upay

  1. श्रावण पूर्णिमा पर रक्षाबंधन मनाने की परंपरा है इस दिन अपने इष्ट देव का पूजन कर भाइयो की कलाई पर रक्षासूत्र बांधना चाहिए.
  2. राखी पूर्णिमा श्रावण माह का ही दिन है इसलिए इस दिन भगवान शिव की पूजा करने कैसे जीवन में विशेष लाभ मिलते है. यह सावन का आखिरी सोमवार भी होगा ऐसे में यदि आप भगवन शिव का जलाभिषेक कर उन्हें बेलपत्र चढ़ाये तो यह बहुत ही शुभ होता है.
  3. श्रावण पूर्णिमा के दिन किसी पवित्र नदी में स्नान कर गाय को चारा खिलाना चाहिए।

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

  1. इस दिन चीटियों को बूरा और मछलियों को आटें की गोली बनाकर खिलाने से सभी परेशानिया दूर होने लगती है.
  2. श्रावण पूर्णिमा के दिन किसी जरूरतमंद या ब्राह्मण को भोजन अवश्य करवाकर अपनी श्रद्धा के अनुसार दान दक्षिणा देकर उन्हें विदा करना चाहिए।
  3. इस दिन श्री हरि विष्णु और मां लक्ष्मी पूजा कर उन्हें रक्षासूत्र अर्पित करना चाहिए।
  4. श्रावण पूर्णिमा के दिन चंद्रमा अपनी पूर्ण कलाओं में होता है इसीलिए यदि इस दिन चंद्रमा की पूजा की जाय तो व्यक्ति को चंद्रदोष से मुक्ति मिलती है.