Sawan Masik Shivratri Vrat 2018 सावन शिवरात्रि शुभ मुहूर्त Festival Tips

सावन शिवरात्रि व्रत तिथि शुभ मुहूर्त Sawan Month Masik Shivratri 2018

Sawan Masik Shivratri Vrat 2018 Sawan Masik Shivratri Vrat 2018 – शास्त्रों में सावन महीने को बेहद ही शुभ और पवित्र बताया गया है. ये महीना भगवान् भोलेनाथ की पूजा अर्चना का है जिस कारण इस महीने भगवान् भोले के भक्त उनकी आराधना में लीन रहते है और व्रत करते है. मान्यता है की सावन माह में जो लोग पूरी श्रद्धा और भक्ति भाव से भगवान शिव की आराधना करते हैं तब भगवान शिव  उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। साल 2018 में 9 अगस्त गुरुवार के दिन सावन महीने की मासिक शिवरात्रि मनाई जाएगी। नौ अगस्त के दिन शिवरात्रि के साथ साथ प्रदोष व्रत भी है. सावन माह में शिवरात्रि और प्रदोष व्रत एक ही तिथि में होने के कारण सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा है. जिसमें पूजा करना बहुत ही शुभ होगा. यह दिन भगवान भोले माता पार्वती को खुश करने का सबसे ख़ास दिन होता है. आज हम आपको सावन माह में 9 तारिख के दिन पड़ने जा रही मासिक शिवरात्रि के व्रत पूजन और शुभ मुहूर्त के बारे में बताएँगे. 

मासिक शिवरात्रि तिथि और शुभ मुहूर्त Sawan Masik Shivratri Vrat 2018 Date Time

  1. सावन माह में मासिक शिवरात्रि 9 अगस्त गुरुवार के दिन मनाई जायेगी
  2. इस दिन निशिथ काल पूजा का शुभ मुहूर्त- 24:05 से 24:49 मिनट तक होगा
  3. पारण का समय – पारण 10 अगस्त के दिन 05:52 से 15:44 मिनट तक होगा.
  4. वही प्रदोष काल का शुभ मुहूर्त शाम 7 बचकर 1 मिनट से रात के 9 बजकर 11 मिनट तक का होगा.

सावन शिवरात्रि पूजा विधि और अभिषेक Sawan Masik Maha Shivratri Pujan Vidhi 2018

शास्त्रों में सावन माह को सबसे पवित्र महीना माना गया है सावन शिवरात्रि के दिन प्रात काल उठकर स्नानादि के बाद भगवान् भोलेनाथ की पूजा का संकल्प ले और शिव और माता पार्वती की पूरे विधि विधान के साथ पूजा करे शिवजी की पूजा में अभिषेक करना ना भूले सावन माह में पड़ने वाली शिवरात्रि और सोमवार के दिन भगवान भोलेनाथ की पूजा में जल का अभिषेक अवश्य करे इस दिन व्रत और जलाअभिषेक का ख़ास महत्व होता है। कहते है की बिना अभिषेक के पूजा अधूरी होती है इस दिन जल, दूध, पंचामृत के रूप में जलाभिषेक करना शुभ होता है.

सावन शिवरात्रि व्रत का महत्व और फायदे Importance of Sawan Shivratri Vrat 2018

Sawan Masik Shivratri Vrat 2018- शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की यदि सावन माह शिवरात्रि के दिन कोई भी कुंवारी कन्या व्रत रखती है तो उसे मनचाहे जीवनसाथी की प्राप्ति होती है शादीशुदा महिलाओं द्वारा इस व्रत को करने पर उन्हें सौभाग्य और जीवनसाथी के लंबी आयु का वरदान मिलता है. कहते है की इस पावन दिन जो भी अच्छे मन से भगवान् शिव और माता पार्वती की पूजा अर्चना करते है तोउनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है.

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल