ऋषि पंचमी शुभ योग 2020 Rishi Panchami Puja Vidhi 2020

ऋषि पंचमी 2020 कब है Rishi Panchami Do these things  

ऋषि पंचमीऋषि पंचमी के दिन महिलाओं द्वारा सप्त ऋषि का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिये ऋषि पंचमी का व्रत रखा जाता है. यह व्रत भाद्र पद माह की शुक्ल पंचमी को आता है। वैसे तो आमतौर पर यह व्रत हर साल गणेश चतुर्थी के अगले दिन और ऋषि पंचमी व्रत के ठीक दूसरे दिन मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार यह व्रत महिलाओं के लिए अटल सौभाग्य प्राप्त करने वाला व्रत माना गया  है। आज हम आपको इस वीडियो में साल 2020 ऋषि पंचमी व्रत की शुभ तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त पूजा विधि महत्व और इस दिन किये जाने वाले एक दिव्या उपाय के बारे में बताएँगे.

ऋषि पंचमी तिथि व शुभ मुहूर्त Rishi Panchami Date Time Muhurt 2020

  1. साल 2020 में ऋषि पंचमी का व्रत 23 अगस्त रविवार को रखा जायेगा.
  2. ऋषि पञ्चमी पूजा का शुभ मुहूर्त होगा – 23 अगस्त प्रातःकाल 11:06 मिनट से लेकर सायंकाल 01:41 मिनट तक |
  3. पूजा की कुल अवधि अवधि – 02 घण्टे 36 मिनट्स की होगी|
  4. पञ्चमी तिथि प्रारम्भ होगी – 22, अगस्त सायंकाल 07:57 मिनट पर|
  5. पञ्चमी तिथि समाप्त होगी – 23, अगस्त सायंकाल 05:04 मनूत पर |

ऋषि पंचमी व्रत पूजा विधि Rishi Panchami Puja Vidhi

ऋषि पंचमी के दिन सप्तऋषियों की पूजा की जाती है। मान्यताओं के अनुसार ऋषि पंचमी का व्रत शुद्ध मन से करने पर व्यक्ति के सारे दुख दूर हो जाते हैं और महिलाओं को अटल सौभाग्य की प्राप्ति होती है. इस दिन महिलाएं प्रातः स्नान कर सप्तऋषि की प्रतिमा बनाएं। उसके बाद कलश की स्थापना करें कलश स्थापना के बाद हल्दी, कुमकुम ,चदंन, पुष्प और अक्षत से पूजा करें. अब धूप-दीप जलाकर, सप्तऋषियों को फल का भोग लगाएं। यदि संभव हो तो इस दिन महिलाएं अनाज का सेवन न कर फलाहार करे इस व्रत में विधि-विधान से सप्तऋषियों की पूजा के बाद ऋषि पंचमी व्रत कथा अवस्य सुने या पढ़े| अंत में उद्यापन करने के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराकर व्रत संपन्न करे.

ऋषि पंचमी का महत्व Rishi Panchami Mahatva

ऋषि पंचमी के दिन व्रत रखना बहुत ही शुभ माना जाता है पौराणिक कथाओ के अनुसार है विशेषकर ऋषि पंचमी का व्रत स्त्रियों को जरूर करना चाहिए क्योंकि इस व्रत के प्रभाव से उनके सभी दुख दूर होकर उन्हें सुख समृद्धि और अटल सुहाग की प्राप्ति होती है यदि इस दिन सुहागिन महिलाएं व्रत रखें तो उन्‍हें सप्त ऋषि के आशीर्वाद से मनचाहा फल प्राप्त होता है। इस दिन गंगा स्नान का भी विशेष महत्व है। साथ ही अविवाहित महिलाओं के लिए भी यह व्रत बेहद महत्त्वपूर्ण और लाभकारी माना जाता है।

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

ऋषि पंचमी उपाय Rishi Panchami Upay

ऋषि पंचमी के दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्‍नान कर पीले वस्‍त्र धारण करें और गणपति जी को हरी इलायची अर्पण कर उनके समक्ष घी का दीपक जलाये इस छोटे से दिव्य उपाय से न सिर्फ जीवन में शुभता बढ़ती है बल्कि भगवान गणेश जी के आशीर्वाद से व्यक्ति को रिद्धि सिद्दी की प्रापति होती है. शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की जो भी ऋषि पंचमी के दिन व्रत कर इस उपाय को करता है तो उसे सभी सुख वैभव और धन धान्य का आशीर्वाद प्राप्त होता है