Relationship मजबूत बनाने के आसान Tips How to make strong relationship

5 चीजों से मजबूत होते हैं आपके रिश्ते 5 easy ways to make a interesting relationship

आपने अपने अपने पार्टनर के लिए अंतिम बार कब और क्या किया था? क्या ऐसा कुछ कहा था जिससे उसके चेहरे पर हंसी आई हो? ऐसा कितनी बार हुआ है जब आपने बैठकर, उसके साथ अपने रिश्ते को और मजबूत बनाने के बारे में सोचा हो?

पर आप ऐसा कर नहीं पाते हैं. क्योंकि आप अपने जीवन में ही इतना व्यस्त रहते हैं की उनके लिए समय ही नहीं निकल पाते हैं, तो जाने कैसे आप अपने हर रिश्ते को मजबूत बना सकते हैं.

सामने वाले की बाते सुनें (Listen to your partner) –

जब आप अपने पार्टनर के साथ बैठते हैं तो उनके पास आपको बताने के लिए बहुत कुछ होता है. दुख, सुख के अलावा हर वह बात जो वे किसी और के साथ शेयर नहीं करते। जब आप अपने पार्टनर से मिल रहे हैं तो सिर्फ अपनी कहने के बजाय उनकी भी सुनें। कई बार ऐसा भी होता हैं की आप उन्हें अनसुना कर देते हैं, ऐसा न करें और काम के साथ- साथ उन्हें भी समय दें. और उस समय में उनसे उनकी तबीयत के बारे में, उनके काम के बारे में, थोड़ा बहुत प्यार भरी बाते करें उन्हें बहुत अच्छा लगेगा और आपका पार्टनर आपसे कभी शिकायत नहीं करेगा.

अपने पार्टनर को खास महसूस कराएं (Make your partner feel special) –

आपका पार्टनर आपकी लाइफ का अभिन्न भाग है। यह बात आप जानते हैं लेकिन सिर्फ आपका जानना जरूरी नहीं है कई बार उसे यह फील भी कराएं कि वह आपके लिए बहुत खास है। उसके साथ बैठें, वक्त बिताएं और बातों-बातों में उसे यह जताएं कि आपकी जिंदगी के एक खास हिस्से में सिर्फ वही है।

अपने पार्टनर को सरप्राइज देना भी जरुरी है (Give Surprise to your partner) –

सरप्राइज देने से रिश्तों में एक महक सी बनी रहती है अर्थात रिश्ते में नयापन सा आता है। आपके पार्टनर को भी बहुत अच्छा लगता है, इसलिए अपने पार्टनर को बीच – बीच में छोटे मोटे सरप्राइज देते रहने चाहिए खासतौर पर जन्मदिन पर और आपकी सालगिरह पर.

उन्हें स्पेस भी जरूर दें (Also give them space) –

भले ही आप उन्हें बहुत प्यार करते हों, उनकी चिंता करते हों, उनके बारे में बहुत सोचते हों पर अगर इस वजह से उनका स्पेस खत्म हो रहा है तो यह सही नहीं है। इससे आप दोनों के बीच दरार भी आ सकती है। क्योंकि सामने वाले व्यक्ति को खुद के लिए या अन्य कामो के लिए भी समय चाहिए होता है, उनसे उनकी हर पर्सनल बात न पूछे जब तक वो आपको खुद न बता दें.

हमेशा उनका साथ दें (Always accompany them) –

एक बार को आप उनकी खुशियों में भले ही शामिल न हो, चलेगा लेकिन उनकी परेशानियों में हमेशा उनका साथ जरूर दें। अगर आप उनसे सच्चा प्यार करते हैं तो हर कदम पोर उनका साथ दें फिर चाहे वो पल दुःख का हो सुख का.