Naag Panachmi Date Time 2018 नाग पंचमी शुभ मुहूर्त पूजा विधि महत्व

Naag Panchmi 2018 Kab Hai|Shubh Muhurt Pujan Vidhi नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

Naag Panachmi Date Time 2018Naag Panachmi Date Time 2018- सावन माह में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। शास्त्रों की माने तो साल 2018 में नागपंचमी का त्यौहार 15 अगस्त बुधवार के दिन मनाया जाएगा. कथाओं में नाग पंचमी का विशेष महत्व बताया गया है। पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन सर्पो की पूजा की जाती है नागों की पूजा से भगवान शंकर प्रसन्न होते हैं। इस दिन नाग देवता को दुध से स्नान कराया जाता है। नाग पंचमी को गरुड़ पंचमी के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन रुद्राभिषेक करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है आज हम आपको नाग पंचमी के शुभ मुहूर्त और इसके महत्व के बारे में बताएँगे.

नाग पंचमी का शुभ मुहूर्त Naag Panachmi Date Time 2018 Festival Tips

  1. शास्त्रों की माने तो 15 अगस्त बुधवार के दिन नागपंचमी पर स्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है।
  2. नागपंचमी के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त- सुबह 5 बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा और 8 बजकर 30 मिनट तक रहेगा। इस समय पूजा करने का विशेष महत्व होगा.
  3. पंचमी तिथि शुरू होगी – 15 अगस्त को सुबह 03:27 मिनट से
  4. पंचमी तिथि समाप्ति – 16 अगस्त को सुबह 01:51 मिनट पर समाप्त होगी.

नाग पंचमी पूजा विधि Naag Panchmi Puja Vidhi  

नाग पंचमी के दिन नागों की विशेष रूप से पूजा की जाती है इस दिन नाग देवता की फूल, धूप, दीप और मंत्रों से पूजा की जाती है और इसके बाद दुध से स्नान कराया जाता है। नागपंचमी के दिन रुद्राभिषेक का ख़ास महत्व बताया गया है. नाग पंचमी को गरुड़ पंचमी के नाम से भी जाना जाता हैं। इसीलिए इस दिन नागों के साथ-साथ गरुड़ की पूजा करने का भी विधान है.

नाग पंचमी पर नाग पूजा का महत्व Naag Panchmi Importance Festival Tips

शास्त्रों की माने तो ऐसा कहा जाता है की भगवान विष्णु शेष नाग पर शयन करते हैं इसके अलावा भगवान् शिव के गले में भी नागो की माला रहती है वही जब समुद्र मंथनकिया गया था तब भी नाग वासुकी का प्रयोग किया गया था इसीलिए पुराणों में नाग पूजा का विशेष महत्व है। राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल मान्यता है की इस दिन नागो की पूजा के साथ-साथ शिव की उपासना करने से शिवजी की कृपा प्राप्त होती है.