मासिक शिवरात्रि शुभ मुहूर्त 2020 Masik Shivratri Puja Date Time 2020

चैत्र मासिक शिवरात्रि व्रत कब है Masik Shivratri in March 2020

मासिक शिवरात्रिमासिक शिवरात्रि – वैदिक पंचांग की माने तो प्रत्येक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस दिन व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा आराधना की जाती है. शास्त्रों में मासिक शिवरात्रि के व्रत का फल भी महाशिवरात्रि की तरह माना गया है. कहा जाता है की इस दिन व्रत रखने से भगवान शिव अपने भक्तों पर हमेशा कृपा बनाये रखने के साथ ही जिन जातको की जन्म कुंडली में ग्रहों का दोष होता है उन दोषों को भी दूर करते हैं. आज हम आपको साल 2020 चैत्र माह में आने वाली मासिक शिवरात्रि व्रत की शुभ तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन किये जानें वाले मनोकामना पूर्ति व मनचाहे वर पाने के लिए किये जानें वाले एक शक्तिशाली महाउपाय के बारे में बातएंगे.

मासिक शिवरात्रि शुभ मुहूर्त 2020 Masik Shivratri Dates 2020

  1. साल 2020 चैत्र माह में मासिक शिवरात्रि का व्रत 22 मार्च रविवार के दिन रखा जाएगा|
  2. मासिक शिवरात्रि पूजा का शुभ मुहूर्त होगा 22 मार्च प्रातःकाल 10 बजकर 07 मिनट से लेकर 12 बजकर 30 मिनट तक|

मासिक शिवरात्रि व्रत के फायदे Masik Shivratri Benefits

मान्यता है की मासिक शिवरात्रि के दिन व्रत रखने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. और जो युवतियां इस दिन मनचाहे वर को पाने के लिए व्रत कर भगवान शिव की उपासना करती है तो उन्हें मनचाहे वर की प्राप्ति होती है और विवाह में आ रही रूकावट भी इस व्रत के प्रभाव से दूर हो जाती है वही जो लोग मासिक शिवरात्रि का व्रत रखते हैं और शिव मंदिर में जाकर अभिषेक करते हैं तो उन्हें महादेव की विशेष कृपा प्राप्त होती है और जीवन से सभी परेशानियों का अंत होता है.

मासिक शिवरात्रि पूजा विधि Masik Shivratri Puja Vidhi

शास्त्रों के अनुसार मासिक शिवरात्रि का व्रत तप व महादेव को प्रसन्न करने के लिए सबसे उतिच समय मध्यरात्रि माना गया है है। लेकिन यदि यह संभव ना हो तो इस दिन सुबह उठकर स्नान करने के बाद व्रत का संकल्प लेकर पूजा आरंभ करनी चाहिए. भगवान शिव के मंदिर में जाकर उनका अभिषेक करना चाहिए और उन्हें बेल पत्र अर्पित करते हुए उनके समक्ष धूप-दीप जलानी चाहिए. इसके बाद शिव चालिसा, शिव अष्टक तथा शिव स्तुति का पाठ करना चाहिए.  यदि इस दिन महादेव के साथ मां पार्वती, भगवान गणेश, कार्तिक और नंदी की पूजा की जाय तो इसके अद्भुद परिणाम व्यक्ति को प्राप्त होते है. यदि संभव हो तो शिवरात्रि पर रात में फलाहार कर अगले दिन व्रत को खोलें।

मनचाहा जीवनसाथी पाने के उपाय Masik Shivratri Upay

ऐसी मान्यता है की शिवरात्रि के दिन ही भगवान शिव ने माता पार्वती से विवाह कर उन्हें पत्नी रूप में स्वीकार किया था. इसीलिए यदि कोई भी स्त्री या पुरुष इस दिन सच्ची भक्ति और श्रद्धा भाव से भगवान शिव की प्रसन्न करता है और कुछ उपाय करता है तो उसे मनचाहा प्रेम और योग्य जीवनसाथी का वरदान मिलता है तो आइये जानते है इस दिन किया जानें वाला ये महाउपाय क्या है.

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

अपनी प्रार्थना या मनोकामना को मन में ध्यान करते हुए आज के दिन भगवान शिव को कच्चे दूध से अभिषेक करते हुए ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करते रहे और इसके बाद उन्हें 108 बार इसी मंत्र का जाप करते हुए बेलपत्र अर्पित करे कहा जाता है की यदि आप इस तरह मासिक शिवरात्रि के दिन भगवान शिव का पूजन करते है तो आपको मनचाहे वॉर की प्राप्ति होती है.