Margashirsha Purnima Vrat 2018| Date Time Muhurt पूर्णिमा शुभ मुहूर्त

मार्गशीर्ष पूर्णिमा शुभ मुहूर्त पूजन विधि Margashirsha Purnima 2018

Margashirsha Purnima VratMargashirsha Purnima Vrat धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शास्त्रों में कार्तिक पूर्णिमा की तरह मार्गशीर्ष पूर्णिमा का भी खास महत्व है। पूर्णिमा के दिन विशेषकर पवित्र स्थानो पर लोग आस्था की डुबकी यानी की स्नान आदि करते है. कहा जाता है की मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन स्नान-दान से व्यक्ति को विशेष फल प्राप्त होते है. कहा जाता है की पूर्णिमा हिन्दू महीने का आखिरी दिन होता है जिसका धार्मिक महत्व बहुत अधिक है. इस दिन मांगलिक कार्य करना बेहद शुभ होता है आज हम आपको दिसंबर माह में आने वाली पूर्णिमा के व्रत तिथि पूजा विधि शुभ मुहूर्त व महत्व आदि के बारे में बताएँगे.

पूर्णिमा तिथि व शुभ मुहूर्त Margashirsha Purnima Tithi and Muhurt 2018

  1. साल 2018 दिसंबर माह पूर्णिमा का व्रत 22 दिसंबर शनिवार के दिन रखा जाएगा.
  2. पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त समय – 11:58 मिनट से 12:40 मिनट तक का होगा.

मार्गशीर्ष पूर्णिमा पूजन विधि Margashirsha Purnima Pujan Vidhi

मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन प्रातःकाल उठकर अपने दैनिक कार्यो से निवृत होकर व्रत का संकल्प लेना चाहिए. इस दिन व्रत करते हुए भगवान श्री सत्यनारायण जी की पूजा-अर्चना, कथा और आरती करे. इस दिन भगवान् को धुप, दीप के साथ चूरमा का भोग लगाना शुभ माना गया है. कहते है की चूरमा भगवान श्री हरी विष्णु जी को बेहद प्रिय होता है. पूजा के बाद सभी को प्रसाद वितरण कर ब्राह्मणो को अपनी सामर्थ्य अनुसार दान दक्षिणा देकर ही सम्मानपूर्वक विदा करना चाहिए. मान्यता है की पूर्णिमा के दिन विष्णु जी की कृपा से भक्त के सारे संकट दूर हो जाते है और उसकी हर मनोकामनाए पूर्ण होती है।

मार्गशीर्ष पूर्णिमा का महत्व Margashirsha Purnima Importance

मार्गशीर्ष का महीना श्रीकृष्ण भक्ति के लिए विशेष मना जाता है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन पवित्र नदी में स्नान करना और साथ ही गायत्री मंत्र का उच्चारण करना बेहद फलदायी होता है. मान्यता है की जब कोई व्यक्ति इस दिन नदियों या सरोवरों में स्नान कर अपनी साम‌र्थ्य अनुसार दान करता है तो उसके सभी पाप क्षय हो जाते हैं शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की इस दिन दान-पुण्य करने से व्यक्ति को बत्तीस गुना फल प्राप्त होते है इसीलिए इस  मार्गशीर्ष पूर्णिमा को बत्तीसी पूनम भी कहा जाता है.

पूर्णिमा से जुड़े कुछ आसान उपाय Margashirsha Purnima Upay

शास्त्रों में पूर्णिमा को बेहद ख़ास दिन माना गया है कहते है की यदि व्यक्ति इस दिन खुश छोटे छोटे उपाय कर ले तो उसे जीवन भर धन की कमी नहीं होती है और भगवान् की विशेष कृपा उसे प्राप्त होती है.आइये जानते है इन उपायों के बारे में.

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल 

  1. पूर्णिमा के दिन चंद्र उदय होने पर चंद्रमा को कच्चे दूध में चीनी और चावल मिलाकर अर्घ्य देना शुभ होता है ऐसा करने से व्यक्ति को कभी भी धन संबंधी परेशानी नही आती और धीरे-धीरे उसकी धन से जुडी समस्याएं भी ख़त्म होने लगती है.
  2. पूर्णिमा के दिन हो सके तो किसी भी तरह से बुरे कार्यों से आपको बचना चाहिए.
  3. इस दिन किसी बड़े बूढ़े का दिल नहीं दुखाना चाहिए.
  4. शास्त्रों में स्त्रियों को देवी का रूप माना गया है इसीलिए हो सके तो इस दिन उनका सम्मान करना चाहिए. मान्यता है की जिस घर में स्त्री का सम्मान नहीं होता वहा कभी लक्ष्मी नही आती और धन सम्बन्धी परेशानियां लगी रहती है.
  5. यदि आप इस विशेष दिन किसी कन्या को भोजन करवाते है तो आपको धन प्राप्ति के साथ ही भगवान के आशीर्वाद से आपकी कोई मनोकामना भी पूरी होती है.