ज्येष्ठ पूर्णिमा कब है 2020 Jyestha Purnima Date Shubh Muhurat 2020

ज्येष्ठ पूर्णिमा उपाय Jyestha Purnima Puja Vidhi Upay 2020

ज्येष्ठ पूर्णिमाशास्त्रों में ज्येष्ठ माह में आने वाली पूर्णिमा का बड़ा महत्व बताया गया है। इस दिन स्नान व दान-धर्म के कार्यो का विधान है। कहा जाता है की आज के दिन गंगा जी में स्नान, दान और कुछ उपाय करने से व्यक्ति की मनोकामनाएँ पूर्ण होती हैं। आज के दिन व्रत रखना और विशेष रूप से भगवान शंकर व भगवान विष्णु की पूजा करने से शुभ फलो की प्राप्ति होती है. ज्येष्ठ माह की पूर्णिमा तिथि को बहुत सी जगहों पर वट पूर्णिमा का पर्व और कबीरदास जयंती भी मनाई जाती है जिस कारण इस तिथि का महत्व और भी अधिक बढ़ जाता है आज हम आपको साल 2020 ज्येष्ठ पूर्णिमा व्रत की सही तारीख पूजा का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन मनोकामना पूरी करने के लिए किये जाने वाले एक चमत्कारिक उपाय के बारे में बताएँगे.

ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा शुभ मुहूर्त 2020 Jyestha Purnima Shubh Muhurat 2020

  1. साल 2020 में ज्येष्ठ पूर्णिमा का व्रत 5 जून शुक्रवार के दिन रखा जाएगा.
  2. पूर्णिमा तिथि आरम्भ होगी – 5 जून प्रातःकाल 03:15 मिनट पर |
  3. पूर्णिमा तिथि समाप्त होगी – 6 जून प्रातःकाल 12:41 मिनट पर |

ज्येष्ठ पूर्णिमा पूजा विधि Jyestha Purnima Vrat Vidhi

ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन सूर्योदय से पहले उठकर किसी पवित्र नदी जलाशय अथवा घर पर स्नान आदि कर व्रत का संकल्प करे कहा जाता है की आज के दिन पीपल के पेड़ पर भगवान विष्णु माँ लक्ष्मी जी के साथ वास करते हैं। इसलिए आज प्रातः एक लोटे में कच्चा दूध मिले जल में बताशा डालकर पीपल के पेड़ को अर्पित करे भगवान विष्णु की प्रतिमा पूजास्थल पर स्थापित कर उन्हें चंदन का लेप लगाकर सुपारी, फल, फूल, केले के पत्ते चढ़ाये और सत्यनारायण कथा का पाठ करे साथ ही चंद्र देव को दूध से अर्ध्य देकर किसी जरूरतमंद को दान दक्षिणा देकर पूजा संपन्न करे.

ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन करें ये उपाय / काम Jyestha Purnima upay

शास्त्रों में ज्येष्ठ पूर्णिमा का विशेष महत्व है। मान्यता है की इस दिन से श्रद्धालु गंगा जल लेकर अमरनाथ यात्रा के लिये निकलते हैं। यह हिन्दू वर्ष का तीसरा माह होता है। इस समय गर्मी अपने चरम पर होती है इसलिए इस महीने में जल का महत्व और अधिक बढ़ जाता है। यदि आज के दिन कुछ उपाय किये जाय तो कहते है की व्यक्ति को जीवन में सभ सुखो और धन धन्य की प्राप्ति होती है. आइये जानते है इस दिन किये जाने वाले विशेष कार्य और उपाय क्या है.

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020.

  1. कहते है की आज के दिन पीपल के वृक्ष पर भगवान विष्णु जी देवी लक्ष्मी संग विराजते है इसलिए आज सुबह स्नान कर यदि एक लोटाकच्चा दूध मिला जल बताशा या चीनी डालकर पीपल के पेड़ को अर्पित किया जाय तो है धन लाभ के योग बनते है.
  2. घर के मंदिर में विष्णु जी के सामने दीपक जलाकर पूजा करें और घर को फूलों से उनका श्रृंगार करे.
  3. जिन जातको की जन्म कुंडली में कोई ग्रह दोष है तो आज के दिन विष्णु सहस्त्रनाम या शिवाष्टक का पाठ करना लाभकारी होता है.
  4. ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन पूजा के समय माँ लक्ष्‍मी जी को 11 कौड़ियां हल्‍दी का तिलक कर अर्पित करे और अगले दिन इन्हे लाल कपड़े में बांध कर तिजोरी में रख दें इससे जीवन में सुख समृद्धि और आर्थिक सम्पन्नता होती है.