हरतालिका तीज शुभ योग 2020 Hartalika Teej Puja Vidhi 2020

हरतालिका तीज 2020 कब है Hartalika Teej Do these things  

Hartalika Teej Puja Vidhi 2020Hartalika Teej Puja Vidhi 2020भाद्रपद शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को महिलाओं द्वारा अखंड सौभाग्य की कामना से रखा जाने वाला व्रत हरतालिका व्रत कहलाता है इस व्रत में महिलाएं 24 घंटे का निर्जला व्रत रखकर भगवान शिव और पार्वती की पूजा करती है। भाद्रपद शुक्ल तृतीया के दिन हस्त नक्षत्र में भगवान शिव और माता पा र्वती का पूजन विशेष महत्व है। मान्यता है कि माता पार्वती भगवान शिव को वर रूप में प्राप्त करने के लिए हरितालिका तीज का व्रत रखा था। ज्योतिष अनुसार साल 2020 का हरतालिका तीज का व्रत कई शुभ योगो में आने वाला है जिस कारण इस व्रत का महत्व और भी अधिक बाद जाएगा आज हम आपको इस वीडियो में साल 2020 हरतालिका तीज व्रत तिथि शुभ योग पूजा का मुहूर्त पूजा विधि और इस शुभ योग में अखंड सौभाग्य के लिए किये जाने वाले एक जरूरी उपाय के बारे में बताएँगे

हरतालिका तीज तिथि व शुभ मुहूर्त Hartalika Teej Date time tithi Muhurt 2020

  1. साल 2020 में हरतालिका तीज का पर्व 21 अगस्त शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा.
  2. तृतीया तिथि शुरू होगी 21 अगस्त प्रातःकाल 02:13 मिनट पर|
  3. तृतीया तिथि समाप्त होगी 21 अगस्त रात्रि 11:02 पर|
  4. हरितालिका प्रातःकाल पूजा मुहूर्त होगा – प्रातःकाल 05:54 मिनट से 08:30 मिनट तक
  5. पूजा की कुल अवधि – 02 घण्टे 36 मिनट्स
  6. हरितालिका प्रदोषकाल पूजा मुहूर्त होगा – सायंकाल 06:54 मिनट से 09:06 मिनट तक|
  7. पूजा की कुल अवधि – 02 घण्टे 12 मिनट्स

हरतालिका तीज शुभ योग 2020 hartalika Teej Shubh Yog

तीज का यह व्रत महिलाओं द्वारा अखंड सौभाग्य और धन वैभव की प्राप्ति से रखा जाता है ज्योतिष अनुसार 21 अगस्त शुक्रवार को मंगल, गुरु, शनि और सूर्य अपनी स्वयं की राशि में होंगे जिस कारण गजकेशरी और बुधादित्य योग का संयोग बनेगा जो हरतालिका तीज की पूजा के लिए बहुत ही शुभ संयोग होगा क्योकि सौभाग्य के कारक ग्रह गुरु भी खुद की राशि धनु में रहेंगे जिस वजह से यह योग महिलाओं के सौभाग्य में वृद्धि करने वाला होगा. इसके अलावा 21 अगस्त के दिन सिद्ध तथा साध्य योग में भगवान शिव व माता पार्वती की पूजा की जायेगी।

हरतालिका तीज पूजा विधि Hartalika Teej Puja Vidhi

हरतालिका तीज की पूजा प्रातःकाल और प्रदोषकाल में करना बहुत ही शुभ होता है. र्यास्त के बाद के तीन मुहूर्त का समय प्रदोषकाल होता है प्रातः स्नान के बाद व्रत का संकल्प कर पूजा के लिए भगवान शिव, माता पार्वती और भगवान गणेश की रेत व काली मिट्टी से प्रतिमा बना ले. अब एक चौकी भगवान शंकर, माता पार्वती और भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित कर सभी देवी देवताओं का आह्वान करे और विधिवत सभी का पूजन करें। इसके बाद सुहाग का सामान माता पार्वती को अर्पित कर व्रत कथा सुन ले और अंत में आरती कर ले. व्रत के अगले दिन व्रत का पारण कर ब्राह्मण को दान दक्षिणा देकर व्रत संपन्न करे.

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

शुभ योग में करे ये काम Hartalika Teej Puja Upay

इस बार हरतालिका तीज पर कई शुभ योग बन रहेहै इसीलिए इन शुभ योगो में यदि आप पूजा के समय कुछ विशेष चीजों को अर्पण करते है तो आपको भगवान् शिव और माता पार्वती की विशेष अनुकम्पा प्राप्त होती है. आइये जानते है ये चीजे क्या है.

  1. पूजा में भगवान शिव का पंचामृत से अभिषेक जरूर करे.
  2. हो सके तो उन्हें गुलाब व इत्र अर्पण करे.
  3. हरतालिका तीज के दिन पूजा में मां पार्वती को हल्दी और भगवान भोलेनाथ को उनका प्रिय सफेद चंदन अर्पित करें
  4. पूजा के समय शिव मंत्र ओम नमः शिवाय का जाप करें
  5. क्योकि यह व्रत शिव पार्वती को अर्पित है इसीलिए शिव जी को पूजा में बेलपत्र जरूर चढ़ाये.
  6. व्रत के बाद सुहागन महिला को शृंगार की वस्तुओं का दान जरूर करें.