Guru Purnima Chandra Grahan Sanyog 2019 जानें गुरु पूर्णिमा शुभ मुहूर्त

गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण Guru Purnima Puja Date Time 2019

Guru PurnimaGuru Purnima- गुरु को धरती पर बहुत बड़ा स्थान दिया गया है कहा जाता है की गुरु के आशीर्वाद से ऐश्वर्या की प्राप्ति होती है शास्त्रों की माने तो आषाढ़ शुक्ल की पूर्णिमा के दिन गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया जाता है. साल 2019 में 16 जुलाई के दिन गुरु पूर्णिमा है लेकिन साथ ही इसी दिन चंद्र ग्रहण भी होगा और गुरु पूर्णिमा राहू केतु की युति के अधभुद संयोग में होने होगी आज हम आपको गुरु पूर्णिमा 2019 शुभ मुहूर्त, चंद्रग्रहण सूतक काल समय और इसकी पूजा विधि के बारे में बताएँगे.

गुरु पूर्णिमा तिथि Guru Purnima 2019 Date

  1. साल 2019 में गुरु पूर्णिमा का पर्व 16 जुलाई मंगलवार के दिन है.
  2. पूर्णिमा तिथि शुरू होगी 16 जुलाई मंगलवार 1 बजकर 48 मिनट पर|
  3. पूर्णिमा तिथि समाप्त होगी 17 जुलाई बुधवार 3 बजकर 7 मिनट पर|

चंद्रग्रहण सूतक काल समय Lunar Eclipse 2019 Date Time

  1. साल 2019 में लगने जा रहा दूसरा चंद्रग्रहण 16 -17 जुलाई मंगलवार की रात 1 बजकर 31 मिनट पर प्रारम्भ होगा जो की 4 बजकर 30 मिनट तक रहेगा|
  2. चंद्रग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 59 मिनट की होगी|
  3. चंद्रग्रहण शुरू होने से 9 घंटे पहले सूतक काल लग जाएगा.
  4. ग्रहण के मोक्ष का समय 17 जुलाई की सुबह करीब 4.31 मिनट पर होगा।

गुरु पूर्णिमा पूजा का शुभ समय Guru Purnima Worship Timing

गुरु पूर्णिमा का पर्व भले ही 16 जुलाई मंगलवार के दिन है लेकिन गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण होने के कारण गुरु पूर्णिमा की पूजा सूतक लगने से पहले ही सम्पन्न की जायेगी और जिस कारण गुरु पूर्णिमा 15 जुलाई यानि की सोमवार के दिन ही मनाई जायेगी. 16 जुलाई मंगलवार की रात 1 बजकर 31 मिनट पर चंद्रग्रहण लगेगा जिस कारण चंद्रग्रहण से 9 घंटे पहले 16 जुलाई को सूतक लगने के कारण 4 बजकर 30 मिनट से मंदिरो के कपाट बंद हो जाएंगे और 15 जुलाई को ही गुरु पूर्णिमा की पूजा 4 बजकर 30 मिनट से पहले ही सम्पन कर ली जायेगी.

गुरु पूर्णिमा राहू केतु युति महासंयोग Lunar Eclipse Guru Purnima Sanyog 2019

पंचांग की माने तो आषाढ़ी पूर्णिमा पर पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, वैधृति योग, विशिष्ट करण और चंद्रग्रहण अवधि में चंद्रमा धनु राशि में होंगे साथ ही शनि व केतु भी पहले से ही धनु राशि रहेंगे| सूर्य और चंद्र चार ग्रहो शुक्र, शनि, राहु और केतु के घेरे में रहेंगे। जिस कारण त्रिग्रही युति का महासंयोग बनेगा जोकी बेहद प्रभावशाली होगा.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

गुरु पूर्णिमा पूजा विधि Guru Purnima Pujan Vidhi

गुरु पूर्णिमा के दिन प्रातः काल उठाकर घर की सफाई कर दैनिक कार्यों व स्नानादि से निवृत्त होकर अपने गुरु का आशीर्वाद लेना चाहिए और इस दिन उन्हें अपनी सामर्थ्य अनुसार वस्त्र, फल, फूल व उपहार भेट करने चाहिए. खासकर विद्यार्थियों के लिए गुरु पूर्णिमा का दिन विशेष कल्याणकारी माना जाता है. इसके साथ ही इस दिन गुरु के साथ साथ माता-पिता और भाई बहन का आशीर्वाद लेना भी शुभ होता है.