Ganesh Chaturthi 2018 Kab Hai |Date Time Puja Vidhi | गणेश चतुर्थी महत्व

गणेश चतुर्थी 2018 Ganesh Chaturthi festival puja shubh muhurt

Ganesh Chaturthi 2018 Ganesh Chaturthi 2018 धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हर साल गणपति बाप्पा 10 दिनों के लिए धरती पर रहते है. इस पर्व को गणेश चतुर्थी के रूप में पूरे देश में हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाता है इस दिन गणेश जी को घर में स्थपित कर लोग उनकी पूजा आराधना करते है माना जाता है की इससे पूरे साल गणेश जी की कृपा प्राप्त होती है. आज हम आपको गणेश चतुर्थी पर्व की तारीख, शुभ मुहूर्त और इसकी संपूर्ण पूजा विधि के बारे में बताएँगे.

गणेश चतुर्थी स्थापना तिथि और पूजा शुभ मुहूर्त Ganesh Chaturthi 2018 Puja Vidhi 

  • साल 2018 में गणेश चतुर्थी का त्यौहार 13 सितम्बर से शरू होगा और 23 सितम्बर तक मनाया जाएगा.
  • चतुर्थी तिथि बुधवार 12 सितंबर को शाम 4:07 बजे के बाद शुरू होगी.
  • और गुरुवार 13 सितंबर को दोपहर 2:51 बजे तक रहेगी.
  • गणेश पूजा का शुभ मुहूर्त गुरुवार 13 सितंबर मध्याह्न को सुबह 11 बजकर 2 मिनट से 1 बजकर 31 मिनट का होगा.
  • गणेश पूजा शुभ मुहूर्त की कुल अवधि : 2 घंटे 28 मिनट तक होगी.

गणपति जी की स्थापना विधि Ganesh Chaturthi Tithi Sthpna Process 

गणेश जी की कृपा पाने के लिए गणेश चतुर्थी के दिन इनकी स्थापना करने का शास्त्रों में बहुत अधिक महत्व बताया गया है. यदि आप भी इस बार गणेश चतुर्थी के दिन गणेश जी को अपने घर लाना चाहते है तो सर्वप्रथम उन्हें घर में विराजित करने से पहले पूजा स्थल को अच्छी तरह से साफ़ कर स्वच्छ कर ले.  अब एक साफ़ चौकी ले और इसपर लाल कपडा बिछा ले इसमें अक्षत रख दे. अब गणपति जी को गंगाजल से स्नान कराकर पीले वस्त्र अर्पित करे. गणेश जी को तिलक कर अक्षत, फूल और मिष्ठान आदि चढ़ाये. गणपति महोत्सव के 10 दिनों तक भजन कीर्तन करना शुभ माना जाता है. गणपति की स्थापना के बाद व्रत का संकल्प अवश्य करे.

गणेश चतुर्थी पर इन बातो का ध्यान रखे Ganesh chaturthi Date Time 2018

  • गणेश जी को स्थापित करते समय जल से भरा कलश गणेश जी के बाएं ओर रखना चाहिए.
  • गणेश प्रतिमा को हमेशा चावल या गेहूं के ऊपर स्थापित करना चाहिए.
  • कलश पर मौली बांधकर उसमें आम के पत्तों के साथ एक नारियल रखना शुभ होता है.
  • मान्यता है की गणेश जी का जन्म मध्याह्न में हुआ था जिस कारण उनकी पूजा भी इसी समय की जाती है.
  • गणेश महोत्सव के 10 दिनों तक रोज गणेश जी की नियमित समय पर पूजा आरती करनी चाहिए.
  • गणेश जी के साथ उनके पूरे परिवार की आराधना और ध्यान अवश्य करें।

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल

गणेश चतुर्थी का महत्व Importance of Ganesh Chaturthi 2018

शास्त्रों की माने तो गणेश जी को विद्या-बुद्धि, विघ्न-विनाशक, मंगलकारी, सिद्धिदायक, समृद्धि, प्रदान करने वाले भगवान माना गया है. वैसे तो हर महीने कृष्णपक्ष की चतुर्थी को “संकष्टी गणेश चतुर्थी” व शुक्लपक्ष की चतुर्थी को “वैनायकी गणेश चतुर्थी” के रूप में मनाया जाता है लेकिन हर साल गणेश चतुर्थी के दिन गणेश जी के धरती पर अवतरित होने के कारण  उनकी विशेष पूजा अर्चना की जाती है जो भी इस दिन गणेश जी की पूजा आराधना करते है उन्हें गणपति जी के आशीर्वाद स्वरुप बल बुद्धि विद्या समृद्धि का वरदान मिलता है.