ठंड में ड्राइ स्किन की देखभाल के उपाय

सूखी त्वचा (ड्राइ स्किन / Dry skin)की सर्दियों में कैसे करे देखभाल

dryskincarein winterRukhi twcha ki sardiyo me kaise kare dekhbhal

सर्दियों  के मौसम में सबसे ज्यादा प्रभाव हमारी त्वचा पर प़डता है. सर्दियों में नमी की कमी के कारण  हमारी त्वचा शुष्क, बेजान होने के साथ-साथ त्वचा का रूखा होना, फटना, रैशेज जैसी समस्याएं हो सकती है, तथा सर्दियों में त्वचा के रंग पर भी प्रभाव पड़ता है.

मौसम के अतिरिक्त अधिक मेकअप का करने, सूर्य की तेज रोशनी, प्रदूषण का आदि का होना तथा पोषक तत्वो जैसे विटामिन ई, विटामिन ए तथा विटामिन बी की कमी, या फिर शरीर मे तेल गिरन्थियों में तेल का अभाव भी त्वचा मे रूखेपन का करण हो सकता है. इस मौसम में शुष्क त्वचा (ड्राइ स्किन / Dry skin) की देखरेख के लिए हम कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं. ये घरेलू उपाय हमारी त्वचा के लिए जितने फायदेमंद हैं उतने ही तैयार करने में सरल भी होते है.

Sardiyo ke mosam me sabse jayada prbhaw hamari twcha par padta hai. Sardiyo me nami ki kami ke karan hamari twcha sushk, bejan hone ke sath-sath twcha ka rukha hona, fatna, raishes jaisi samsyaye ho sakti hai, tatha sardiyo me twcha ke rang par bhi prbhaw padta hai. Mosam ke atirikt adhik makeup karne, sury ki tej roshni, prdusan aadi ka hona tatha poshak tatwo jaise vitamin E, vitamin A tatha vitamin B ki kami ya fir sarir me tel girnthiyo me tel Ka abhaw bhi twcha me rukhpan ka karan ho sakta hai. Is mosam me sushk twcha ki dekhrekh ke liye hum kuch gharelu upay apna sakte hai. Ye gharelu upay hamari twcha ke liye jitne faydemand hai utne hi tayaar karne me sarl bhi hote hai.

  • एक चम्मच दूध पाउडर में एक चम्मच गुलाबजल तथा आधा चम्मच शहद मिलाकर मिश्रण बना ले. अब इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाये. 20 मिनट तक इस मिश्रण को चेहरे पर लगाने के बाद चेहरे को पानी से धो ले. रूखी त्वचा में नमी आने लगेगी.
  • Ek chammach dudh powder me ek chammach gulabjal tatha aadha chammach sahad milkar mishran bana le. Ab is mishran ko chehre par lgaye. 20 mint tak is mishran ko chehre par lgane ke bad chehre ko pani se dho le. Rukhi twcha me nami aane lagegi.
  • बहुत जयादा रूखी त्वचा में जलन होती है. त्वचा के रूखेपन को दूर करने के लिए एक मग पानी में २ चम्मच सिरके को मिला दे, और नहाने के बाद जलन वाले स्थान पर लगाये. इससे त्वचा का रूखापन भी दूर होगा और त्वचा में जलन भी नहीं होगी.
  • Bahut jayada rukhi twcha me jalan hoti hai. Twcha ke rukhepan ko dur karne ke liye ek mag pani me do chammach sirke ko mila de or nahane ke bad jalan wale sthan par lgaye. Isse twcha ka rukhapan bhi dur hoga or twcha me jalan bhi nahi hogi.
  •  
  • जैतून के तेल की कुछ बूंदो को आधे कप ठन्डे दूध में मिला ले, और इस मिश्रण को किसी साफ बोतल में डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लीजिये. अब इस मिश्रण को रोज अपने चेहरे पर रुई द्वारा लगाये. रूखी त्वचा से छुटकारा मिलेगा.
  • Jaitun ke tel ki kuch bundo ko aadhe cup thande dudh me mila le, or is mishran ko kisi saf bottle me dalkar acchi tarah mix kar lijiye. Ab is mishran ko roj apne chehre par rui dwara lgaye. Rukhi twcha se chutkara milega. 
  • निम्बू के रस की कुछ बूंदो में एक चम्मच मलाई मिलाकर रोज चेहरे पर लगाये इससे चेहरे का रूखापन दूर होता है तथा चेहरा फटता भी नहीं है.
  • Nimbu ke ras ki kuch bundo me ek chammach malai milakr roj chehre par lagaye isse chhere ka rukhpan dur hota hai tatha chehra fatta bhi nahi hai.
  •  
  • एक चम्मच बेसन में थोड़ी मलाई मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे की त्वचा मुलायम होती है.
  • Ek chammach besan me thodi malai milakr chhere par lgane se chehre ki twcha mulayam hoti hai.
  • एक चम्मच मलाई में एक चम्मच सेब का रस मिलाये और हल्के हाथ से चेहरे पर मले. कुछ दिन इस विधि का प्रयोग करते रहे इससे चेहरे की त्वचा में नमी बनी रहती है और शुष्क त्वचा से राहत मिलती है.
  • Ek chammach malai me ek chammach seb ka ras milaye or halke hath se chehre par male. Kuch din is bidhi ka pryog karte rahe. Isse chhere ki twcha me nami bani rahti hai or sushk twcha se rahat milti hai.