Devshayani Ekadashi 2019 Date Time Muhurt देवशयनी एकादशी व्रत 

देवशयनी एकादशी व्रत पूजा विधि Devshayani Ekadashi Vrt 2019  

Devshayani Ekadashi 2019

Devshayani Ekadashi 2019 – आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष में आने वाली एकादशी देवशयनी एकादशी कहलाती है शास्त्रों में इस एकादशी का बहुत अधिक महत्व है इसे हरिशयनी एकादशी और पद्मनाभा के नाम से भी जाना जाता है मान्यता है की इसी एकादशी के दिन से भगवान का शयन काल शुरू हो जाता है और साथ ही चतुर्मास भी  आरंभ हो जाता है. देवशयनी एकादशी सभी एकादशियों में श्रेष्ठतम मानी जाती है इस दिन व्रत रखने और भगवान विष्णु जी की आराधना करने पर सभी मनोकामनाओ की प्राप्ति होती है. आज हम आपको देवशयनी एकादशी व्रत की शुभ तिथि मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन किये जाने वाले धनप्राप्ति के एक खास उपाय के बारे में बताएँगे.

देवशयनी एकादशी तिथि व शुभ मुहूर्त Devshayani Ekadashi Vrt Tithi Muhurt 2019

  1. साल 2019 में देवशयनी एकादशी का व्रत 12 जुलाई शुक्रवार के दिन रखा जाएगा.
  2. एकादशी तिथि प्रारम्भ होगी 12 जुलाई शुक्रवार प्रातःकाल 01:02 मिनट पर|
  3. एकादशी तिथि समाप्त होगी 13 जुलाई शनिवार 12:31 मिनट पर|
  4. एकादशी व्रत के पारण का शुभ समय होगा 13 जुलाई प्रातःकाल 06:30 मिनट से 08:20 मिनट तक|

देवशयनी एकादशी पूजा विधि Devshayani Ekadashi Pujan Vidhi

एकादशी के दिन भगवान विष्णु जी की आराधना की जाती है और देवशयनी एकादशी पर भगवान विष्णु जी के शयन का समय शुरूहोने से पहले विधिवत पूजा का बड़ा महत्व है। देवशयनी एकादशी का व्रत रखने से पहले प्रात:काल उठकर स्नान कर पूजा स्थल को स्वच्छ कर ले और भगवान विष्णु जी की प्रतिमा को आसन पर विराजित कर पूजन करे उन्हें पीले रंग के वस्त्र, पीले फूल और पीला चंदन चढ़ाएं। इसके बाद पान, सुपारी अर्पित कर धूप, दीप जलाकर पुष्प अर्पित करे| मान्यता है की इस दिन रात्रि में भगवान विष्णु जी के भजन व स्तुति करे और स्वयं के सोने से पहले भगवान को शयन कराना चाहिए।

देवशयनी एकादशी व्रत का महत्व Devshayani Ekadashi Vrt Importance

पौराणिक कथाओ के अनुसार इस दिन से भगवान श्री विष्णु जी चार मास की अवधि तक पाताल लोक में निवास करते हैं। और इसी दिन से चौमास का आरम्भ होता है क्योकि भगवान 4 महीने के लिए निंद्रा में रहते है इन 4 महीनो तक किसी भी तरह के शुभ कार्य नहीं किये जाते है ऐसा माना जाता है की जो भी लोग इस व्रत को श्रद्धा पूर्वक कर भगवान विष्णु जी का पूजन करते है तो भगवान अपने भक्त पर प्रसन्ना होकर उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते है.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

देवशयनी एकादशी महाउपाय  Devshayani Ekadashi Vrt Upay

शास्त्रों में देवशयनी एकादशी बेहद महत्वपूर्ण और भगवान विष्णु जी को प्रसन्न करने का सबसे शुभ दिन माना गया है कहा जाता है की यदि इस दिन तुलसी का ये खास उपाय कर लिया जाय तो मनोकामना पूरी हो सकती है देवशयनी एकादशी की शाम को तुलसी के सामने गाय के शुद्ध घी का दीपक जलाकर 11 बार परिक्रमा करते हुए “ॐ नमो भगवते वसुदेवाय नम:” मन्त्र का जाप करे मान्यता है की देवशयनी एकादशी पर किये इस महाउपाय को करने से घर से सभी संकट और परेशानियां टल जाती है और साथ ही व्यक्ति की मनोकामना पूर्ती का वरदान प्राप्त होता है.