दर्श अमावस्या 2020 Darsh Amavasya Date Time Puja Vidhi 2020  

दर्श अमावस्या सुख समृद्धि उपाय Chaitra Amavasya Upay 2020

दर्श अमावस्या दर्श अमावस्या – शास्त्रों के अनुसार दर्श अमावस्या के दिन चन्द्रमा पूरी रात गायब रहता है। कहते हैं कि दर्श अमावस्या का दिन सुख समृद्धि व परिवार के सुखद भविष्य की कामना के लिए बहुत ही शुभ होता है ऐसी मान्यता है कि जो लोग इस दिन सच्चे मन से प्रार्थना करते हैं। तो चंद्र देव उनकी प्रार्थना जरूर सुनते हैं वही यह अमावस्या पितरों को प्रसन्न करने के लिए भी बेहद खास होती है आज हम आपको साल 2020 मार्च माह में आने वाली दर्श अमावस्या की शुभ तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और सुख समृद्धि के लिए इस दिन किये जाने वाले एक आसान उपाय के बारे में बातएँगे.

दर्श अमावस्या शुभ मुहूर्त 2020 Chaitra Amavasya 2020 Date

  1. साल 2020 में दर्श अमावस्या 23 मार्च सोमवार के दिन है|
  2. अमावस्या तिथि प्रारम्भ होगी 23 मार्च सोमवार 12 बजकर 30 मिनट पर |
  3. अमावस्या तिथि समाप्त होगी 24 मार्च मंगलवार सायंकाल 02 बजकर 57 मिनट पर |

पितरों की पूजा के लिए खास Darsh Amavasya 2020

कहा जाता है की दर्श अमावस्या के दिन पूजा और उपवास करने से व्यक्ति को चंद्रमा की विशेष कृपा मिलती होती है और मानसिक शांति प्राप्त होती है. मान्यता है की इस तिथि के दिन पूर्वज धरती पर आकर अपने परिवार के लोगो को आशीर्वाद देते हैं। इसलिए आज के दिन पूर्वजों के लिए विशेष रूप से प्रार्थना कर उन्हें प्रसन्न किया जाता है इस अमावस्या को श्राद्ध अमावस्या के नाम से भी जानते है पितृदोष से मुक्ति पाने के लिए यदि आज के दिन पितृ तर्पण, स्नान-दान किया जाय तो यह बहुत ही पुण्य फलदायी माना जाता है।

दर्श अमावस्या पूजा विधि Chaitra Amavasya 2020 Puja Vidhi 

दर्श अमावस्या के दिन पितरों का तर्पण करना सबसे ज्यादा उत्तम माना जाता है. क्योकि इससे पितरों को मुक्ति मिलती है। इस दिन प्रातःकाल किसी पवित्र नदी या सरोवर में स्नान कर पितरो के नाम के तिल नदी में अर्पण करने चाहिए और इसके बाद सूर्य देव को अर्घ्य देकर पितरों का तर्पण करें। जो लोग दर्श अमावस्या के दिन श्रद्धा के साथ पूजा करते हैं उन्हें अपने पूर्वजो के आशीर्वाद से जीवन में समृद्धि की प्राप्ति होती है और साथ ही इस दिन भगवान चंद्र देव की पूजा करने से जीवन के प्रत्येक कार्यो में सफलता का वरदान मिलता है.

दर्श अमावस्या महत्व Chaitra Amavasya 2020 Importance 

प्राचीन मान्यताओं और शास्त्रों में दर्श अमावस्या का इतना अधिक महत्व बताया गया है की यदि जिन लोगो के जीवन में बहुत अधिक संघर्ष होता है, उसे भी भगवान चंद्र देव आसान बना देते है मोक्ष प्राप्ति की इच्छा रखने वाले जातको यदि इस दिन उपवास रखकर चंद्र देव के दर्शन और उनकी आराधना करते है तो उनकी ये मनोकामना पूरी होती है क्योकि शास्त्रों में चंद्र देव को सबसे महत्वपूर्ण नवग्रहों में से एक माना गया है।

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

दर्श अमावस्या उपाय Chaitra Amavasya Upay

  1. ज्योतिष की दृष्टि से यूँ तो प्रत्येक अमावस्या बेहद ख़ास होती है लेकिन दर्श अमावस्या तिथि को और भी अधिक लाभकारी मना जाता है इसीलिए यदि इस दिन कुछ उपाय किये जाय तो व्यक्ति को इसके प्रभाव से जीवन में सुख समृद्धि, सफलता और आरोग्य की प्राप्ति होती है तो आइये जानते है इस दिन किये जाने वाले ये उपाय क्या है.
  2. दर्श अमावस्या के दिन हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्व है। यदि इस दिन श्री हनुमान बाहुक का पाठ किया जाय तो व्यक्ति को रोगों से छुटकारा मिलता है इसके साथ ही किसी भी तरह के संकट का निवारण करने के लिए आज के दिन 100 बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ बेहद लाभ देने वाला होता है।
  3. अमावस्या के दिन घर के ईशान कोण में घी का दीपक जलाने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती है और व्यक्ति को सुख समृद्धि का वरदान देती है.