1 मई शुक्रवार दुर्गा अष्टमी 2020 Baishakh Durga Ashtami Vrat 2020

दुर्गाष्टमी की पूजा विधि Baishakh Durga Ashtami Date Time Muhurat

दुर्गा अष्टमीदुर्गा अष्टमी- प्रत्येक महीने के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को देवी दुर्गा की पूजा की जाती है इसे मासिक दुर्गाष्टमी के नाम से भी जाना जाता है। यह दिन माँ भगवती को समर्पित होता है वही बैशाख शुक्ल पक्ष की अष्टमी के दिन देवी बगलामुखी का अवतरण भी हुआ  मना गया है जिस कारन बैशाख माह की अष्टमी को बगलामुखी जयंती भी मनाई जाती है माँ के भक्तो के लिए आज का दिन बहुत ही खास होता है. मान्यता है की यदि आज के दिन पूरे भक्तिभाव के साथ देवी दुर्गा की पूजा अराधना की जाय तो भक्त की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है. आज इस वीडियो में हम आपको बैशाख यानि अप्रैल माह में आने वाली मासिक दुर्गाष्टमी व्रत की शुभ तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त पूजा विधि और साथ ही इस दिन सुख समृद्धि और मनोकामना पूर्ति के लिए किये जाने वाले उपायों के बारे में जानेंगे।

मासिक दुर्गा अष्टमी शुभ मुहूर्त 2020 Durga Ashtami Shubh Muhurat 2020

  1. साल 2020 बैशाख माह में आने वाली दुर्गा अष्टमीका व्रत 1 मई शुक्रवार के दिन रखा जाएगा।
  2. अष्टमी तिथि प्रारम्भ होगी – 30 अप्रैल सायंकाल 02:39 मिनट पर|
  3. अष्टमी तिथि समाप्त होगी – 1 मई सायंकाल 01:26 मिनट पर|

दुर्गाष्टमी की पूजा विधि Durga Ashtami Puja Vidhi

शास्त्रों में ऐसी मान्यता है की दुर्गा अष्टमी के दिन यदि पूरे विधि विधान से व्रत और माता भगवती की पूजा करने से मनोवांछित फलो की प्राप्ति होती है. इस दिन प्रातःकाल स्नान कर व्रत का संकल्प ले और फिर पूजास्थल पर गंगाजल छिड़कर शुद्ध कर लें. अब एक चौकी पर लाल रंग का वस्त्र बिछाकर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित करे और सभी पूजन सामग्री माता को अर्पित करते हुए लाल रंग के पुष्प जो माँ को अति प्रिय है चढ़ाये. अब उन्हें भोग के रूप में फल और मिठाई अर्पित करे और अंत में धूप दीप जलाकर दुर्गा चालीसा का पाठ व माता की आरती कर ले.

दुर्गा अष्टमी पूजा का महत्व Durga Ashtami Importance

माँ भगवती को समर्पित यह पर्व भक्त हर माह शुक्ल पक्ष की अष्टमी को मनाते है लेकिन मासिक दुर्गाष्टमी के दिन की जाने वाली व्रत और पूजन का बहुत ही ख़ास महत्व है। कहा जाता है कि इस दिन सच्ची श्रद्धा के साथ जो भी कामना की जाती है वो पूरी होती है. एक प्राचीन कथा के अनुसार महिषासुर नाम का राक्षस जो बहुत बलशाली था। देवताओ को उससे बचाने के लिए  त्रिदेवों ने मिलकर मां दुर्गा को अवतरित किया था.

मासिक दुर्गा अष्टमी उपाय Durga Ashtami Upay

शास्त्रों की माने तो यदि दुर्गा अष्टमी के दिन नवदुर्गा के कुछ आसान उपायों को किया जाय तो व्यक्ति के जीवन में खुशिया वापस लायी जा सकती है आइये जानते है इस दिन देवी दुर्गा को प्रसन्न करने वाले ये खास उपाय कौन से है.

  1. आज के दिन उत्तर-पूर्व दिशा में स्वास्तिक का चिह्न बनाकर माँ दुर्गा के मंत्र ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै मंत्र का जाप करे इससे आपके सभी संकटो का निवारण हो सकता है.
  2. यदि आप घर में सुख समृद्धि की कामना से इस व्रत को रखते है तो आग्नेय कोण में माँ दुर्गा की ज्योति लगाएं।
  3. देवी दुर्गा की प्रतिमा को चन्दन की चौकी पर सजाये इससे घर में सकारात्मकता ऊर्जा का प्रवाह बढ़ जाता है.