A अक्षर वाले कुछ प्रसिद्ध लोग Famous people celebrities that name start with A letter

A नाम वाले कुछ सुप्रसिद्ध व्यक्ति A latter Some world famous peoples

देश – विदेश में बहुत से ऐसे प्रसिद्ध व्यक्ति हैं, जिनके नाम का पहला अक्षर ए होता है, ए अक्षर से शुरू होने कुछ खाश प्रसिद्ध लोग जिन्हें देश-विदेश में सभी जानते हैं. अक्सर लोग जानना चाहते हैं कि जिन अक्षर से उनका नाम शुरू होता है,

वैसे ही टॉप प्रसिद्ध लोग जिनका नाम भी उनके नाम के पहले अक्षर से ही शुरू होते हैं, यहाँ पर आपको बताया गया है कि ए अक्षर से शुरू होने वाले कुछ महान और प्रसिद्ध लोग जिन्हें सभी जानते हैं और उनकी जीवन की संछिप्त जीवनी.

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) –

अमिताभ बच्चन फिल्म इंड्रस्ट्री के लोकप्रिय अभिनेता हैं. अमिताभ बच्चन का जन्म का नाम अमिताभ हरिवंश श्रीवास्तव है. इनका जन्म 11 अक्टूबर 1942 में इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश, भारत में हुआ था. इनके पिता का नाम डॉ॰ हरिवंश राय बच्चन था जो हिन्दी के महान कवि थे. अमिताभ बच्चन अभिनेता होने के साथ-साथ निर्माता, पार्श्वगायक भी हैं तथा लोग इन्हें भारतीय सिनेमा के इतिहास में सबसे प्रमुख व्यक्तित्व के रूप में भी जानते हैं. बच्चन साहब को अपने करियर में कई पुरस्कारो से नवाजा गया है. उनके नाम सर्वाधिक सर्वश्रेष्ठ अभिनेता फिल्मफेयर अवार्ड का रिकार्ड हैं.

आशा भोसले (Asha Bhosle) –

आशा भोंसले हिन्दी फ़िल्मों की लोकप्रिय सिंगर है, इनका जन्म 8 सितम्बर 1933 को हुआ था। आशा भोंसले लता मंगेशकर की छोटी बहन और दीनानाथ मंगेशकर की पुत्री हैं. आशा भोंसले जी ने फिल्मी और गैर फिल्मी लगभग 16 हजार गाने गाये हैं। हिंदी के अलावा उन्होंने मराठी, बंगाली, गुजराती, पंजाबी, भोजपुरी, तमिल, मलयालम, अंग्रेजी और रूसी भाषा के भी बहुत से गीत गाए हैं। आशा भोंसले ने अपना पहला गीत वर्ष 1948 में सावन आया फिल्म चुनरिया में गाया था.

आतिफ असलम (Atif Aslam) –

आतिफ अस्लम का जन्म 12 मार्च 1983 को पाकिस्तान के वज़ीराबाद, गुजरानवाला इलाके में हुआ था. यह एक जाने माने शुप्रसिद्ध गायक व अभिनेता हैं.अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ये सामान्यत: हिन्दी-ऊर्दू गायक के रूप में जाने जाते हैं। वर्ष 2008 में पाकिस्तान सरकार ने इन्हें तम्गा-ऐ-इम्तियाज़ की उपाधि से पुरस्कृत किया। 14 वर्ष की आयु में ही इन्होंने दसवीं कक्षा उत्तीर्ण की। ये हमेशा ही अपनी कक्षा के सबसे कम आयु के छात्र रहे।

अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) –

अनुष्का शर्मा का जन्म 1 मई 1988 में हुआ था. यह एक मॉडल और बॉलीवुड फिल्म इंड्रस्ट्री की एक लोकप्रिय अभिनेत्री हैं। इन्होंने अपना अभिनय का सफर 2008 मे प्रसिद्ध हिन्दी फिल्म रब ने बना दी जोड़ी के साथ शुरु किया था इसके बाद उन्हें फ़िल्म बैंड बाजा बारात (2010) के लिए काफ़ी सराहा गया. दोनों ही फ़िल्मों ने इन्हें फ़िल्मफेयर पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का नामांकन दिलाया।

अनिल अम्बानी (Anil Ambani) –

अनिल अंबानी का जन्म 4 जून, 1959 को हुआ था यह एक शुप्रसिद्ध भारतीय व्यवसायी हैं। प्रतिशत के आधार पर वे विश्व के सबसे तेज गति से प्रगति करने वाले बहु-अरब-डॉलर वाले समृद्धशाली व्यक्ति हैं क्योंकि उनकी संपत्ति सिर्फ 1 वर्ष में तीन गुनी हो गई. अनिल अंबानी रिलायंस कैपिटल और रिलायंस कम्युनिकेशंस के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक और रिलायंस एनर्जी तथा पूर्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के उप अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक थे। उनका विवाह टीना मुनीम अंबानी से हुआ है जो 1980 के दशक के प्रारम्भिक समय की एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेत्री थी.

अंबानी ने मुंबई विश्वविद्यालय से विज्ञान स्नातक की उपाधि प्राप्त की है तथा पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल से एमबीए की उपाधि प्राप्त की। इन दिनों वे व्हार्टन बोर्ड ऑफ़ ओवरसीअर्स के सदस्य हैं।

एनी बेसेंट (Annie Besant) –

डॉ एनी बेसेन्ट का जन्म लन्दन शहर में 1 अक्टूबर 1847 को हुआ था. यह अग्रणी आध्यात्मिक, थियोसोफिस्ट, महिला अधिकारों की समर्थक, लेखक, वक्ता एवं भारत-प्रेमी महिला थीं। सन 1917 में वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की अध्यक्षा भी बनीं।  डॉ॰ बेसेन्ट के ऊपर इनके माता पिता के धार्मिक विचारों का गहरा प्रभाव था। पिता की मृत्यु के बाद धनाभाव के कारण इनकी माता इन्हें हैरो ले गई। वहाँ मिस मेरियट के संरक्षण में इन्होंने शिक्षा प्राप्त की। युवावस्था में इनका परिचय एक युवा पादरी से हुआ और 1867 में उसी रेवरेण्ड फ्रैंक से एनी बुड का विवाह भी हो गया। 

ऐ॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम (A.P.J.Abdul Kalam) –

डॉक्टर ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम जी का पूरा नाम अबुल पकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम था इनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को हुआ था. जिन्हें मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से भी जाना जाता है, ये भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे। वे भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता (इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे।

अरस्तु (Aristotle) –

अरस्तु (384 ईपू – 322 ईपू) यूनानी दार्शनिक (Philosopher) थे। वे प्लेटो के शिष्य व सिकंदर के गुरु थे। उनका जन्म स्टेगेरिया नामक नगर में हुआ था । वे प्लेटो, सुकरात और अरस्तु पश्चिमी दर्शनशास्त्र के सबसे महान दार्शनिकों में एक थे. अरस्तु ने भौतिकी, आध्यात्म, कविता, नाटक, संगीत, तर्कशास्त्र, राजनीति शास्त्र, नीतिशास्त्र, जीव विज्ञान सहित कई विषयों पर रचना की। अरस्तु ने अपने गुरु प्लेटो के कार्य को आगे बढ़ाया।

आर्किमिडीज (Archimedes) –

आर्किमिडिज़ प्राचीन यूनान में रहने वाले गणितज्ञ, भौतिकज्ञ, इंजीनियर, आविष्कारक और खगोलशास्त्री थे। इनके जीवन के बारे में बहुत कुछ मालूम नहीं है, लेकिन इन्हें प्राचीन पाश्चात्य सभ्यता के महानतम वैज्ञानिकों में से एक माना जाता है। भौतिकी को इन्होंने स्थिति-विज्ञान, द्रव्य स्थिति-विज्ञान और लीवर के सिद्धान्त प्रदान किए।

अल्बर्ट आइंस्टीन (Albert Einstein) –

अल्बर्ट आइंस्टीन एक सैद्धांतिक भौतिकविद् (Physicist) थे। वे सापेक्षता के सिद्धांत और द्रव्यमान-ऊर्जा समीकरण E = mc2 के लिए जाने जाते हैं। उन्हें सैद्धांतिक भौतिकी, खासकर प्रकाश-विद्युत ऊत्सर्जन की खोज के लिए 1929 में नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। आइंसटाइन ने सापेक्षता के विशेष और सामान्य सिद्धांत सहित कई योगदान दिए। उनके अन्य योगदानों में- सापेक्ष ब्रह्मांड, केशिकीय गति, क्रांतिक उपच्छाया, सांख्यिक मैकेनिक्स की समस्याऍ, आदि कई शामिल है। आइंस्टीन ने पचास से अधिक शोध-पत्र और विज्ञान से अलग किताबें लिखीं। 1999 में टाइम पत्रिका ने शताब्दी-पुरूष घोषित किया। एक सर्वेक्षण के अनुसार वे सार्वकालिक महानतम वैज्ञानिक माने गए। आइंस्टीन शब्द बुद्धिमान का पर्याय माना जाता है।

अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) –

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर, 1924 को हुआ था. वे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री थे। वे पहले 16मई से 1 जून 1996 तथा फिर 19मार्च 1998 से 22मई 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे। वे हिन्दी कवि, पत्रकार व प्रखर वक्ता भी हैं। वे भारतीय जनसंघ की स्थापना करने वाले महापुरुषों में से एक हैं और 1968 से 1973 तक उसके अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने अपना जीवन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लेकर प्रारम्भ किया था और देश के सर्वोच्च पद पर पहुँचने तक उस संकल्प को पूरी निष्ठा से निभाया।