4 प्रकार की स्त्रियों से नहीं करनी चाहिए शादी do not marry with 4 types of girl

जाने कैसी लड़की है सही शादी के लिए Perfect girl for marriage according Vishnu puran 

मनुष्य जीवन के महत्वपूर्ण सोलह संस्कारों में से एक सबसे महत्वपूर्ण संस्कार है विवाह। सुखी और सफल वैवाहिक जीवन के लिए आवश्यकता होती है अच्छे जीवन साथी की। शादी के लिए ऐसी लड़की का चयन करना चाहिए, जो कि अपने पति और परिवार दोनों को प्रेम पूर्वक संभाल सके।

विष्णु पुराण में स्त्रियों के बारे में कई बातें बताई गई हैं। इस पुराण में 4 ऐसी स्त्रियां स्त्रियों के बारे में बताया गया है, जिनसे विवाह नहीं करना चाहिए.

बुरा बोलने वाली स्त्रियां

ऐसा कहा जाता है कि वाणी में ही मां सरस्वती का निवास होता है। जो स्त्री मधुर वाणी बोलने वाली होती हैं, उससे मां सरस्वती सदैव प्रसन्न रहती हैं। बुरे या कटु वचन बोलने वाली स्त्री का स्वभाव भी उसकी भाषा की तरह बुरा ही होता है। ऐसी स्त्री की वजह से घर में अशांति का वातावरण बना रहता है। इसीलिए ऐसी स्त्री से विवाह नहीं करना चाहिए।

देर तक सोने वाली स्त्रियां

देर तक सोने वाली महिलाएं पारिवारिक जिम्मेदारियां पूरी नहीं कर पाती हैं। देर तक सोना आलस की निशानी होती है। आलसी स्त्री घर को साफ नहीं रख सकती और कहा जाता हैं की अगर घर में साफ़ सफाई नहीं होती तो घर की आर्थिक स्थिति हमेशा खराब रहती है। घर में लक्ष्मी की कृपा बनाएं रखने के लिए साफ-सफाई रखना बहुत जरूरी होता है। घर में गंदगी होने से गरीबी बढ़ती है। साथ ही देर तक सोना कई बिमारियों का भी कारण बन सकता है। इसलिए ऐसी स्त्री से विवाह नहीं करना चाहिए, जो देर तक सोती हो या फिर आलसी हो।

माता या पिता पक्ष की ओर से कोई रिश्ता हो

किसी भी व्यक्ति को उस स्त्री से कभी शादी नहीं करनी चाहिए, जिसका हमारे माता या पिता की ओर से कोई भी रिश्ता या सम्बन्ध हो। शास्त्रों में आपसी रिश्तेदारी या एक ही गोत्र में विवाह करना मना किया गया है अर्थात यह गलत माना जाता है। इससे कई प्रकार की जेनेटिक बीमारियां होने की भी संभावनाएं रहती हैं। जिस स्त्री से माता पक्ष से पांचवीं पीढ़ी तक और पिता पक्ष से सातवीं पीढ़ी तक रिश्ता जुड़ा हुआ हो, तो उससे शादी नहीं करना चाहिए।