हाथ में ऐसी मण‌िबंध रेखा हो तो मालूम हो सकती है संभावित उम्र Manibandh Rekha in Palmistry Meaning

हथेली की मणिबंध रेखाओ से जाने अपनी सम्भावित उम्र Importance of Manibandh Rekha

manibandh-rekhaa-se-jaane-apna-bhwishy-upcharnuskheहमारी हथेली जिस स्थान से प्रारम्भ होती है.उस स्थान पर कुछ आड़ी-तिरछी रेखाएं होती हैं. जिन्हें मणिबंध रेखा के नाम से जाना जाता है. मणिबंध रेखाओ से हम व्यक्ति की उम्र और उसके स्वभाव के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. हमारी हथेली का यह हिस्सा हमें हमारी सम्भावित उम्र के बारे में बताता है. हस्तरेखा में महिलाओ का बायें तथा पुरुषो के दायें हाथ का अध्ययन विशेष रूप से किया जाता है.

सभी लोगो के हाथो में मणिबंध रेखा अलग-अलग होती हैं. किसी व्यक्ति के हाथ में मणिबंध रेखा एक होती है, किसी के हाथ में दो तथा किसी व्यक्ति के हाथ में मणिबंध रेखाओं की संख्या तीन होती हैं. आइये जानते हैं मणिबंध रेखा से की हमारी संभावित आयु कितनी होगी.

मणिबंध में एक रेखा हो तो

सभी व्यक्ति के हाथो में अलग-अलग प्रकार की रेखाएं होती हैं. यदि किसी व्यक्ति के हाथो में मणिबंध रेखा एक हो ओर यह श्रेष्ठ गुणों वाली हो ओर हमारी कलाई के चारो ओर हो और उसमे जौ के आकर के यव की लड़िया हो और वह रेखा टूटी हुयी ना हो तो तो यह रेखा इस बात की ओर इशारा करती है की वह व्यक्ति को सुखो की अनुभूति होती है तथा ऐसा व्यक्ति बहुत कम उम्र में ही काफी उल्लेखनीय कार्य करता है तथा उस व्यक्ति को धन की प्राप्ति भी आसानी से हो जाती है. इसके विपरीत यदि मणिबंध रेखा हमारे हाथो में एक हो ओर हमारी हथेली में कोई शुभ लक्षण ना हो तो ऐसे व्यक्ति की अल्पायु भी हो सकती है.

मणिबंध में दो रेखाएं हों तो

जिस व्यक्ति के हाथो में दो मणिबंध रेखाएं होती है और टुटरी हुयी नहीं होती तथा जौ के  जौ के आकार के यव वाली लड़ियां हों, और कलाई के चारों ओर हों तो यह शुभ लक्षण को दर्शाता है. ऐसे जातको के जीवन में अनेक सुख-सविधाएं आती है.

यदि किसी व्यक्ति के हाथ में मणिबंध की दो रेखाएं आती हैं तो यह शुभ लक्षण नही माना जाता. ऐसे व्यक्ति को जीवन में काफी परिश्रम का सामना करना पड़ सकता है.

यदि किसी व्यक्ति के हाथो में दो मणिबंध रेखाएं हो और शुभ लक्षण वाली हो तो ऐसे व्यक्ति की उम्र लगभग 45 या 55 साल की होती है. अगर इन दोनों रेखाओं के अशुभ लक्षण हो तो ऐसे व्यक्ति की उम्र में कमी भी आ सकती है.

यदि मणिबंध में तीन रेखाएं हों तो

जिन लोगो के हाथो में तीन मणिबंध रेखाएं होती हैं और टूटी हुयी नहीं होती तथा कलाई के चारो ओर होती हैं साथ ही जौ के आकर की लड़िया बनी होती हैं ऐसे व्यक्ति बहुत ही भग्यशाली होते हैं. यह व्यक्ति जीवन में हर सुख को भोगने वाले होते हैं.

यदि मणिबंध में तीन रेखाएं हो ओर वे टूटी हुयी हो तो यह शुभ नहीं माना जाता है. जिन लोगो के हाथो में ऐसी रेखाएं होती हैं उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है. कड़ी मेहनत के बाद भी व्यक्ति को सफलता या सकारात्मक फल कम ही मिलता है. ऐसे लोगो को जीवन में काफी संघर्ष करना पड़ सकता है. 

यदि किसी व्यक्ति के मणिबंध में तीन रेखाएं हो तो ऐसे व्यक्ति की उम्र लगभग 70 से 85 वर्ष की हो सकती है. कभी-कभी इन रेखाओं पर अशुभ लक्षण होने के कारण व्यक्ति की उम्र में कमी आ सकती है.

हथेली में मणिबंध का हिस्सा भरा हुआ हो

यदि किसी व्यक्ति के हाथो की मणिबंध का हिस्सा भर हुआ होता है तथा कलाई की हड्डिया ना दिख रही हो यह बहुत ही शुभ माना जाता है. मणिबंध का भाग सुन्दर दिखाई देता है तो ऐसे व्यक्ति भाग्यशाली होते हैं.

जीवन रेखा अच्छी स्थिति में ना हो और मणिबंध शुभ लक्षण वाला हो

यदि किसी व्यक्ति के हाथो की जीवन रेखा अच्छी स्थिति में ना हो और  मणिबंध शुभ लक्षण वाला होता है तो ऐसे व्यक्ति को भगय का साथ प्राप्त होता है. लेकिन कभी-कभी इन लोगो को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है.

मणिबंध के साथ ही अन्य रेखाओं का अध्ययन करना है जरूरी

हाथ की कलाई में बना मणिबंध का अध्ययन करके हम अपनी उम्र का अनुमान लगा सकते हैं. इसके अलावा मणिबंध के साथ-साथ हाथ की अन्य रेखाओ का अध्ययन करना भी जरुरी होता है. यदि किसी व्यक्ति के हाथो में मणिबंध का हिस्सा ढीला और लटकता हुआ दिखाई देता है तो यह अशुभ लक्षण होता है. यदि मणिबंध का हिस्सा सुंदर ना हो और हथेली को हिलाने से कुछ आवाज होती हो, हथेली और कलाई का जोड़ मजबूत दिखाई नहीं देता हो तो यह व्यक्ति के दुर्भाग्य का सूचक माना जाता है।