विश्व के कुछ आश्चर्यचकित करने वाले भूकंप Worlds Top Stunning Earthquake

दुनिया के हैरान कर देने वाले भूकम्प World famous volcano

27 अप्रैल 2015 नेपाल और भारत में आने वाले कयामी भूकंप ने अब तक 3218 की जाने ले ली है, जिससे नेपाल में अनेको इमारते व भवन ध्वस्त हो गई,स्थानीय लोग अपने भवन को देख के सोच रहे है की किसी समय हम इन भवनों म रहा करते थे लेकिन आज ये मिट्टी के ढेर में बदल गई है।                                 

विश्व के खतरनाक भूकम्प का विस्तार कुछ इस प्रकार से है।

1- चिली 22 मई 1960 (तीव्रता – 9.5)

इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा भूकंप चिली में आया है। यह भूकंप बहुत खतरनाक था लेकिन यह बहुत गहराई में था इसलिए इसके नुकसान ज्यादा नहीं थे। इस भूकंप के कारण  2000 लोगो की जान चली गई और 2 लाख लोग बेघऱ हो गए।                       

2- अलास्का, 27 मार्च 1964 (तीव्रता – 9.4)                 

यह भूकंप शहर से बहार के क्षेत्र  में आया था इसलिए यहा  केवल 123  लोग मारे गए थे। यह भूकंप कई बार बदरुल काहिल में सुनामी का कारण बना था।                                           

3 – इंडोनेशिया, 26 दिसम्बर 2004 (तीव्रता – 9)

इतिहास का तीसरा बड़ा भूकंप इंडोनेशिया के सोमतरा शहर मे आया था,इस भूकंप के कारण बहुत बड़ी सुनामी आई थी और उससे 12 देश प्रभावित हुई थे।

 4 – रूस, 4 नवम्बर 1952 (तीव्रता – 9)

   रूस 1952 में गम्भीर भूकम्प आया,जिसके कारन परसेंट महासागर में भयंकर सुनामी आई ,जिसने जापान और अमेरिका में तबाही मचा दी।

5 – जापान ,11 मार्च 2011 (तीव्रता – 8.9)

इस जापानी भूकम्प में 1 हजार लोगो को अपने जान गवानी पड़ी थी। इस भूकपं के कारण जापानी सरकार को  इतना नुकसान उठाना पड़ा था कि प्रारम्भिक  घण्टो में इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल नही था। यह भूकम्प जापान का सबसे बड़ा भूकम्प था

6 – चिली , 27 फरवरी 2010 (तीव्रता – 8.8)

यह भूकम्प चिली शहर के माउल में आया था। जिसमे कम से  कम 700 लोग मरे गए थे। इस भूकम्प के कारण दुनिया के 53 देशो में सुनामी के खतरे की सुनवाई की गई थी।

7 – कोलंबिया, 31 जनवरी 1906 (तीव्रता – 8.8)

कोलंबिया और अक्वाडोर सीमा पर 105 साल पहले आने वाले इस भूकम्प  1500 लोग मारे गए,  और 5 हजार लोग घायल हो गए।

 8 – प्रशांत महासागर 26 जनवरी 1700 (तीव्रता – 8.7)

यह भूकम्प 8.7 की तीव्रता के साथ प्रशांत महासागर में अमेरिका और कनाडा में संयुक्त पश्चिमी सीमाओ  पर आया था। इस भूकम्प में कितना जानी व माली नुकसान हुआ था जिसका अनुमान लगाना नामुमकिन है, लेकिन दस्तावेजो से पता चलता है कि जापान व पश्चिमी अमेरिका के कई गांव पानी में डूब गए थे।