रंगपंचमी 2020 शुभ मुहूर्त पूजा विधि Rang Panchami Date 2020

रंग पंचमी का महत्व Rang Panchami Importance  

रंगपंचमी रंगपंचमी – शास्त्रों के अनुसार रंग पंचमी का पर्व होली के ठीक पांचवें दिन मनाया जाता है इसके साथ ही होली पर्व का समापन भी होता है. हिन्दू कैलेंडर के अनुसार यह त्यौहार फाल्गुन माह की कृष्णा पंचमी के दिन आता है. यह एक ऐसा पर्व है जो रंगो के माध्यम से देवी देवताओं का आहवाहन करता है इस दिन विशेषकर भगवान कृष्णा और राधा जी की पूजा की जाती है. आज हम आपको साल 2020 में मनाई जाने वाली रंग पंचमी तिथि पूजा विधि पूजा का शुभ मुहूर्त और इसी जुडी कुछ रोचक बातो के बारे में बात करेंगे.

रंग पंचमी शुभ मुहूर्त 2020 Rang Panchami Date Time 2020

  1. हिंदू पंचांग के अनुसार कृष्ण पक्ष फाल्गुन माह की पंचमी तिथि के दिन रंग पंचमी आती है
  2. साल 2020 में 13 मार्च शुक्रवार के दिन रंगपंचमी का पर्व मनाया जायेगा|
  3. पंचमी तिथि आरम्भ होगी – 13 मार्च प्रातःकाल 08:50 मिनट पर |
  4. पंचमी तिथि समाप्त होगी – 14 मार्च प्रातःकाल 06:16 मिनट पर |

रंग पंचमी पूजा विधि Rang Panchami Puja Vidhi

पौराणिक कथाओं के अनुसार, रंग पंचमी के त्योहार में होली की ही तरह रंग खेलने की परंपरा है इस दिन सर्वप्रथम स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण करे और श्री गणेश जी का आहवाहन करे इसके बाद एक चौकी को गंगाजल छिड़क कर शुद्ध कर उसपर एक साफ कपड़ा बिछाकर शिव परिवार की प्रतिमा स्थापित कर ले. इसके बाद धुप दीप जलाकर उन्हें लाल फूल, सिंदूर, लाल चंदन और अबीर गुलाल अर्पित करे और विधिवत पूजन व आरती करे आज के दिन भोग में भगवान को पुरन पोली या रेवड़ीयों का भोग लगाएं। कुछ जगहों पर इस दिन भगवान कृष्ण और राधा जी की पूजा अर्चना भी की जाती है अंत में चारो ओर रंग उड़ाएं मान्यता है की इससे सभी देवी देवता प्रसन्न होते हैं और भक्तो की सभी मनोकामनाएं पूरी करते है.

रंग पंचमी का महत्व Rang Panchami Importance

धार्मिक दृश्टिकोण से रंग पंचमी बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है जिस प्रकार होलिका दहन की अग्नि पूरे वातावरण को शुद्ध कर वातावरण को जबरदस्त सकारात्मकता ऊर्जा से भर देती है ठीक वैसे ही रंग पंचमी के दिन उड़ाए जाने वाले रंग सभी देवी देवताओं को सक्रिय करने में मदद करते है। माना जाता है कि मानव शरीर पांच तत्वों से मिलकर बना है। रंग पंचमी का यह त्योहार इन पांच मूल तत्वों को आमंत्रित करने का काम करता है शास्त्रों के अनुसार ये पर्व देवी देवताओं को समपर्पित पर्व है. इस पर्व को लेकर एक मान्यता ये भी है की आज के दिन भगवान अपने भक्तो को रंगो के जरिये आशीर्वाद देते है क्योकि इस दिन ब्रह्माण्ड में बहुत सी पॉजिटिव तरंगो का संयोग बनता है जिस कारण इस समय हवा में रंग उछालने से देवी देवताओं के स्पर्श की अनुभूति होती है.

इसे भी पढ़े – जानें अपना वार्षिक राशिफल 2020

रंग पंचमी सफलता प्राप्ति उपाय Rang Panchami Upay

रंगपंचमी के दिन प्रातःकाल जल्दी उठकर स्नान के बाद गुलाबी रंग के वस्त्र धारण करे और इसके बाद जल भरे शंख में रोली और हल्दी मिलकर ॐ घृणि सूर्याय नमः मंत्र का 108 बार जाप कर भगवान सूर्य नारायण को अर्घ्य दें इसके बाद भगवान सूर्य नारायण की तीन बार परिक्रमा कर गायत्री मंत्र का जाप करे मान्यता है यदि आज के दिन इस उपाय को किया जाय तो व्यक्ति को जीवनमे सुख समृद्धि और सफलता प्राप्ति के नए नए अवसर प्राप्त होने लगते है. मान्यता है की रंग पंचमी धनदायक पंचमी भी मानी जाती है रंग पंचमी के दिन सूर्य पूजा से माँ लक्ष्मी जी का आशीर्वाद प्राप्त होता है.