याददाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय

याददाश्त बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home tips for enhance memory)

Yaddasht badhane ke gharelu upay

yaddasht badhane ke gharelu upay upcharnuskheमूंगफली को सेहत का खजाना  माना जाता  है। और यह वनस्पति प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत भी हैं। रोज मूंगफली खाने के कई ऐसे फायदे होते हैं, जो खाने वालों को भी नहीं पता होते हैं। मूंगफली का उपयोग ज्यादातर स्नैक्स के तौर पर किया जाता है। आज के आधूनिक समय में बार-बार भूलने की समस्या केवल बूढ़े लोगों के साथ ही नहीं बल्कि जवान लोगों के साथ भी होती है.

मूंगफली की कीमत भले ही बादाम के मुकाबले बेहद कम हो, लेकिन गुणों के लिहाज से यह बादाम जितनी ही फायदेमंद है इसी कारण मूंगफली को गरीबो का बादाम कहा जाता है. मूंगफली में विटामिन बी-3 प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो मस्तिष्क के लिए फायदेमंद होता है और यह याददाश्त वृद्धि में भी काफी सहायक होता है. मूंगफली का सेवन प्रतिदिन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए.

याददाश्त कम होने के कारण(Cause of low memory)

अनेक लोग होते है जिनकी याददाश्त कमजोर होती है. बार-बार भूलने की समस्या बहुत ही परेशानी देने वाली होती है. जिन लोगों की यह समस्या होती है वे खुद ही नहीं बल्कि उनसे जुड़े अन्य लोगो को भी कई बार समस्या का सामना करना पड़ता है. अक्सर भूलने का मुख्य कारण एकाग्रता की कमी को माना जाता है तथा याददाश्त कमजोर होने की समस्या केवल बुढ़ापे में ही नहीं आती है. आजकल की मार्डन लाइफ स्टाइल में देर से सोना, तनाव, जंक फूड जैसी कई आदतों के चलते कम उम्र में भी व्यक्ति की याददाश्त कमजोर होने लगती है. दिमाग हमारे शरीर का एक अहम हिस्‍सा है जिसके संकेत के बिना शरीर का कोई भी अंग काम नहीं कर सकता पाता. इन परेशानियों को दूर करने तथा याददाश्त को बढ़ाने के लिए अपने आहार में कुछ घरेलु उपायों को शमिल करके आप अपने दिमाग को तेज कर सकते हैं.

याददाश्त बढ़ाने के घरेलू निवारण (Easy Home tips for enhance memory)

बादाम का प्रयोग याददाश्त बढ़ाने के लिए (Almond for enhance memory)-

रात को सोने से पहले कुछ बादाम लेकर पनि में भिगो दे. सुबह छिलके उतारकर बारीक पीस कर पेस्ट बना लें. अब एक गिलास दूध गरम करें और उसमें बादाम का पेस्ट घोलें तथा इसमें 3 चम्मच शहद डालें. अब  इसे गुनगुना करके पी ले. यह मिश्रण पीने के बाद दो घंटे तक कुछ न लें.

विटामिन का प्रयोग याददाश्त बढ़ाने के लिए (Vitamins for enhance memory)-

यदि व्यक्ति के शरीर में विटामिन की कमी हो जाये तो शरीर और दिमाग पर दोनों पर ही बुरा असर पड़ता है. इसके लिए ओट्स, हरी सब्जियां, खट्टे फल, सोयाबीन ऑयल का सेवन करें। इनमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स पाए जाते हैं। योगा और मेडिटेशन से दिमाग स्थिर रहता है और तनाव कम हो जाता है. अपने आहार में प्रतिदिन विटामिन को शामिल करे इससे आपके दिमाग को आराम मिलता है और एकाग्रता बढ़ती है.

सेब का प्रयोग याददाश्त बढ़ाने के लिए (Apple for enhance memory)-

सेब में पाया जाने वाला पेक्टिन विशेष फाइबर होता है। यह इम्यून सपोर्टिव प्रोटीन्स के स्तर को बूस्ट करता है. इसलिए प्रतिदिन एक सेब का सेवन अवश्य करे यह आपको कई बीमारियों से बचा सकता है. रोज सेब का सेवन करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है तथा दिमाग तेज करने में मदद मिलती है.

हल्‍दी का प्रयोग याददाश्त बढ़ाने के लिए (Turmeric for enhance memory)-

हल्दी को अनेक रोगों का इलाज माना जाता है. हल्दी दिमाग के लिए बहुत अच्‍छी जड़ी-बूटी है. यह सिर्फ खाने के स्वाद और रंग ही नहीं देती, बल्कि दिमाग को भी स्वस्थ रखने में मदद करती है. हल्दी में पाया जाने वाला रासायनिक तत्व कुरकुमीन दिमाग की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करता है और इसके नियमित सेवन से एल्जाइमर रोग नहीं होता है और याददाश्त बढ़ाने में मदद मिलती है.

दही का प्रयोग याददाश्त बढ़ाने के लिए (Curd for enhance memory)-

दही का नियमित सेवन करने से कई लाभ होते हैं. दही में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, खनिज, लवण, कैल्शियम और फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इससे शरीर में लाभदायी जीवाणुओं की बढ़ोत्तरी होतिो है साथ ही हानिकारक जीवाणुओं भी नष्ट होते है.  इसमें अमीनो नामक एसिड पाया जाता है, जिससे दिमागी तनाव दूर होता है और याददाश्त  बढ़ती है.