मोक्षदा एकादशी 2019 तिथि व उपाय Mokshada Ekadashi Date Time 2019

मोक्षदा एकादशी पूजा विधि व उपाय Mokshada Ekadashi Vrat puja upay

एकादशी एक ऐसा चमत्कारिक व्रत है जिसे साइंस भी बेहद ख़ास मानता है. साल में आने वाली सभी 14 एकादशियो के व्रत में बेहद ख़ास मोक्षदा एकादशी का व्रत करने से सभी 14 एकादशियो के बराबर का फल व्यक्ति को प्राप्त होता है. यह एकादशी अनेकों पापों को नष्ट करने वाली है. मान्यताओं के अनुसार इसी दिन भगवान श्री कृष्ण ने महाभारत के प्रारम्भ होने से पूर्व अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था. इसीलिए इस दिन कृष्ण पूजा भी की जाती है आज हम आपको साल 2019 मोक्षदा एकादशी व्रत की तिथि पूजा का शुभ मुहूर्त और सभी परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए किया जाने वाले रोटी के एक अद्भुद उपाय के बारे में बताएँगे.

मोक्षदा एकादशी व्रत तिथि शुभ मुहूर्त 2019 Mokshada Ekadashi Date Timing 2019

  1. साल 2019 में मोक्षदा एकादशी का व्रत 8 दिसंबर रविवार के दिन रखा जाएगा.
  2. एकादशी तिथि प्रारम्भ होगी – 7 दिसंबर शनिवार प्रातःकाल 06:34 मिनट पर |
  3. एकादशी तिथि समाप्त होगी – 8 दिसंबर रविवार प्रातःकाल 08:29 मिनट पर |
  4. एकादशी व्रत के पारण का समय होगा – 9 दिसम्बर सोमवार सुबह 7 बजकर 6 मिनट से लेकर 9 बजकर 9 मिनट तक |

मोक्षदा एकादशी व्रत पूजा विधि Mokshada Ekadashi Pooja Vidhi

इस व्रत की शुरुआत दशमी तिथि के दिन से ही हो जाती है मोक्षदा एकादशी के दिन भगवान श्री कृष्ण, महर्षि वेद व्यास और श्रीमद् भागवत गीता का पूजन करने का विधान है दशमी तिथि को दोपहर के समय एक बार भोजन कर अगले दिन एकादशी तिथि को प्रात:काल स्नान कर व्रत का संकल्प ले. इसके बाद पूरे विधि विधान के साथ भगवान विष्णु और श्री कृष्ण जी की आराधना कर उन्हें धूप,दीप, नैवेद्य व सभी पूजन सामग्री अर्पित करते हुए आराधना करे इस दिन रात्रि पूजा और जागरण का विशेष महत्व होता है. एकादशी के अगले दिन द्वादशी तिथि को पारण के बाद किसी जरुरतमंद व्यक्ति को भोजन व दान-दक्षिणा देकर भोजन ग्रहण कर व्रत पूर्ण करना चाहिए.

राशिअनुसार जाने साल 2020 का भविष्यफल

रोटी का 1 महाउपाय बदल देगा आपकी किस्मत mokshada ekadashi upay

शास्त्रों के अनुसार मोक्षदा एकादशी के दिन रोटी का एक ऐसा चमत्कारिक उपाय है जिसे अगर कर लिए जाय तो व्यक्ति को चमत्कारिक फल प्राप्त होते है. मोक्षदा एकादशी के दिन पहली रोटी बनाने के बाद उसमें घी लगा कर उसके ऊपर खीर, गुड़ या अन्य मीठा रख दें और इसके चार टुकड़े कर लें। इसके बाद एक टुकड़ा गाय को, दूसरा कुत्ते को, तीसरा कौवे को और चौथा भिखारी को दे दें। माना जाता है की इस उपाय को करने से आपके जीवन में आ रही सभी तरह की परेशानियों का अंत हो जाता है.