महाशिवरात्रि ना चढ़ाये शिवलिंग पर ये चीजें Do Not Offer These Things to Lord Shiva

महाशिवरात्रि शिवजी को अर्पित ना करे ये चीजें Mahashivratri 2019 Vrat Puja Vidhi

महाशिवरात्रि महाशिवरात्रि हिंदुओं में मनाये जाने वाले सभी महत्वपूर्ण त्योहारों में एक है इस दिन देवो के देव महादेव का पूजन किया जाता है हिंदी कैलेंडर के अनुसार साल 2019 में महाशिवरात्रि का महापर्व 4 फरवरी सोमवार के दिन मनाया जाएगा. शास्त्रों की माने तो कुछ ऐसी चीजें है जो शिवजी की पूजा में निषेध मानी गयी है अर्थात जिन्हें शिव को पूजा के समय अर्पित नहीं करना चाहिए आज हम आपको इन्हीं चीजों के बारे में बताएँगे तो चलिए जानते है वो कौन सी चीजें है जो भोलेनाथ की पूजा के समय अर्पित करने से बचना चाहिए.

हल्दी Do Not Offer Turmeric to Lord Shiva

वैसे तो हल्दी हमारे खानपान का स्वाद बढ़ाती है और साथ ही धार्मिक कार्यों में भी हल्दी बेहद ख़ास मानी जाती है लेकिन ज्योतिष अनुसार ऐसी मान्यता है की शिवजी की पूजा में हल्दी नहीं चढ़ाई जाती है। हल्दी का उपयोग खासतौर पर सौंदर्य प्रसाधनों के रूप में किया जाता है हल्दी का सम्बन्ध भगवान् विष्णु और सौभाग्य से भी माना जाता है जिस कारण कहा जाता है की महाशिवरात्रि पर महादेव को हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए.

कुमकुम या रोली Do Not Offer Kumkum to Lord Shiva

शास्त्रों के अनुसार कहा जाता है की शिव जी की पूजा में कुमकुम और रोली का प्रयोग नहीं करना चाहिए क्योकि धरती पर शिव जी योग मुद्रा में रहते हैं जिस कारण मान्यता है की शिवलिंग या शिव पूजा में कुमकुम व रोली नहीं चढ़ाना चाहिए वही कुमकुम को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है जबकि भगवान शिव को वैरागी माना गया है इसलिए शिव पूजा में उन्हें कुमकुम नहीं चढ़ाना चाहिए.

उबले हुए दूध से ना करे अभिषेक Do Not Offer Boil Milk to Lord Shiva

महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर जल व दूध से अभिषेक करना बहुत ही लाभकारी माना जाता है वही शास्त्रों की माने तो शिवजी की पूजा के समय उबले दूध से अभिषेक नहीं करना चाहिए. मान्यता है की शिवलिंग का अभिषेक हमेशा ठंडे जल व दूध से करना चाहिए.

नारियल पानी Do Not Offer Coconut Water to Lord Shiva

मान्यताओं के अनुसार नारियल पानी से भी भगवान शिव का अभिषेक वर्जित माना गया है। शास्त्रों में नारियल को माता लक्ष्मी का ही एक रूप माना गया है जिस कारण सभी शुभ कार्य में नारियल को प्रसाद के तौर पर ग्रहण किया जाता है। इसीलिए कहा जाता है की शिवलिंग पर नारियल पानी से अभिषेक नहीं करना चाहिए और नारियल नहीं चढ़ाना चाहिए.

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल 

तुलसी पत्र Do Not Offer Basil Leave to Lord Shiva

मान्यता है की तुलसी के पत्तों का प्रयोग भी भगवान शिव की पूजा में नहीं करना चाहिए. पौराणिक कथाओं की माने तो जलंधर नामक असुर की पत्नी वृंदा के अंश से तुलसी का जन्म हुआ था जिसे भगवान विष्णु ने अपनी पत्नी रूप में स्वीकार किया है। इसलिए कभी भी तुलसी से शिव जी की पूजा नहीं करनी चाहिए.

लाल रंग के फूल Do Not Offer Red Flower to Lord Shiva

शास्त्रों की माने तो भगवान् शिव को उनकी पूजा के समय लाल रंग के फूल नहीं चढ़ाए जाते इसके अलावा केतकी और केवड़े के फूल भी शिव पूजा में निषेध माने गए है ला रंग के फूल की बजाय शिव पूजा में सफेद रंग के फूलों का प्रयोग करना चाहिए कहा जाता है की इससे भगवन शिव जल्द ही प्रसन्न होते है  और मनचाहा आशीर्वाद प्रदान करते है.