पेट के कीड़ों के लक्षण सरल घरेलु उपचार Stomach worms remedies

पेट के कृमि(पेट के कीड़े)का सरल घरेलु उपचार

पेट के कृमि:एक आम समस्या है। बच्चों से ले कर बूढ़ो तक की आंतों में ये कृमि पाये जाते हैं।  पेट के कीड़े का मनुष्य पर आक्रमण करने का प्रमुख कारण हैं स्वच्छ पीने के पानी का अभाव, दूषित एवं अशुद्ध खाद्य पदार्थों का सेवन तथा शारीरिक स्वच्छता के प्रति उदासीनता। पेट में कीड़े होने से बुखार, शरीर का पीला पड़ जाना, पेट में दर्द, चक्कर आना, खाना अच्छा न लगना तथा दस्त होना आदि लक्षण दिखाई देते हैं।

पेट के कीड़ों के लक्षण

सोते हुए दाँत पीसना – सोते समय दांत पीसने वाले व्यक्ति के पेट में कीड़े होने सम्भावना अधिक हो जाती है जिस व्यक्ति को सोते समय दांत पीसने की आदत होती है उनके पेट में कीड़े हो का यह एक सामान्य लक्षण होता है.  

शरीर का रंग पीला या काला होना – शारीर का रंग पीला या काला होना भी पेट में कीड़े होने का एक लक्षण है जिस व्यक्ति के शारीर का रंग काला या पीला पड़ने लगे उसके पेट में कीड़े हने का यह एक लक्षण है.  

भोजन से अरुचि – जब भी किसी व्यक्ति को भोजन में अरुचि होने लगे तो उसके पेट में कीड़े हो सकते है.

होंठ सफ़ेद होना – होठो का रंग सफ़ेद होना भी पेट के कीड़ों का एक लक्षण हैं.

शरीर में सूजन होना – शरीर में सूजन होने पर भी कीड़े होने की सम्भावना दिखाई देती है.

पेट के कीड़े होने के कारण

साफ़ सफाई न रखने से- साफ़ सफाई न रखने से भी यह कीड़े आपके आतों में पनप सकते हैं|

अच्छे से पका खाना न खाना- अच्छे से पका खाना न खाने से भी पेट में कीड़ों की समस्या हो सकती है इसीलिए खाने को हमेशा अच्छे से पका लेना चाहिए.

अशुद्ध पानी- दूषित पानी के सेवन से भी पेट में कीड़े होने की सम्भावना बाद जाती है हमेशा साफ़ पानी ही पीना चाहिए.

पेट मे कीडे के लिए घरेलू नुस्खे

प्याज़ का रस – प्याज के टुकड़े लेकर उन्हें पीस ले और  उसका रस निचोड़ ले| इसे सुबह खली पेट पियें.

गुलकंद और नीबू का पेस्ट – गुलकंद का पेस्ट बना ले और इसमें नीबू का रस निचोड़ के मिला लें. यह खाने से पेट के कीड़े मरते हैं.

तुलसी की पत्तियों का प्रयोग –  तुलसी की पत्तियाँ या तुलसी की मंजरी पेट के कीड़े मिटाने में लाभदायक हैं.

पेट के कीड़े का उपचार पपीता से – कच्चे पपीते को 4 चम्मच दूध के साथ ले इसमें 1 चम्मच शहद और 4 चम्मच उबला पानी डाले| यह कीड़ो को मारने के लिए अच्छा एंटी ऑक्सीडेंट हैं|

कद्दू के बीज –  पेट में हुए कीड़ो को पानी और कद्दू के बीजो को साथ लेने से भी मारा जा सकता हैं.

पेट के कीड़े का उपचार लहसुन के द्वारा – लहसुन के एंटी सेप्टिक और एंटी फंगल गुणों से किसी भी तरह के पेट के कीड़ो से निजात पायी जा सकती हैं| 3 लहसुन की कली रोज खाने से पेट के कीड़ों को काम किया जा सकता है.

इन सभी उपायों को अपनाने से हम पेट के कीड़ों की समस्या से आसानी से निजात पा सकते है

Worm in stomach ayurvedic treatment

Stomach warms problem is a common problem in kids. Many reason of stomach warms in kids and old age human.

Symptoms of stomach warms

  • Stomach pain
  • Diarrhea
  • Weight loss
  • Passing a worm in stool

Common Causes of Intestinal Worms

  • Eating contaminated food
  • Drinking contaminated water
  • Poor sanitation
  • Poor personal hygiene
  • Eating raw and uncooked meat

Home remedies for stomach warms-

Pumpkin Seeds – Natural Remedy for remove Tapeworms.

Garlic paste – garlic is a good antiseptic eating three cloves of garlic per day it can help to get rid of stomach warms.

Onion – Onion is also good for stomach warms.

Papaya – papaya is good for treat to stomach warm in kids.

Leafs of tulsi- Tulsi is good home remedy of stomach warms.

All these tips are good and effective to fight stomach warm.