नवरात्री के नौ दिन भूलकर भी ना करे ये काम Navratri 2019 Do Not These Things

नवरात्री क्या करे क्या ना करे What to do on navratri 2019

Chaitra Navratri 2019Chaitra Navratri 2019 चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल 2019 से शुरू हो रही हैं। नवरात्रि में दुर्गा माँ के विभिन्न नौ रूपों की पूजा अर्चना करने और नौ दिनों तक उपवास रखने का विधान है साल में 4 बार नवरात्रि का पर्व आता है जिसमें से चैत्र नवरात्रि और शारदीय नवरात्रि बेहद ही ख़ास मानी गयी है चैत्र नवरात्रि से ही हिन्दू पंचांग का नया वर्ष भी शुरू होता है. माना जाता है कि इन दिनों की जाने वाली पूजा अवश्य ही फलीभूत होती है। शास्त्रों में प्रत्येक पूजा से पहले कुछ जरूरी नियम बताये गए है आज हम आपको बताएँगे की नवरात्री के नौ दिनों के दौरान किन कार्यो को हमें भूलकर भी नहीं करना चाहिए तो चलिए जानते है इन नियमो के बारे में|

नवरात्रि में सेविंग नहीं करनी चाहिए do not saving in navratri

शास्त्रों की माने तो कहा जाता है की नवरात्री के नौ दिनों तक खासतौर पर व्रत रखने वालों को दाढ़ी-मूंछ और बाल नहीं कटवाने चाहिए क्योकि ऐसा करना शुभ नहीं माना जाता है इससे आपको पूजा का पूर्ण फल नहीं मिल पाता है. इस दौरान 12 संस्कारों में से एक बच्चों के मुंडन संस्कार जैसे कार्यो को करना बेहद ही शुभ होता है.

नवरात्रि में नाखून काटने जैसे कार्यो से बचना चाहिए   do not nail cut in navratri

नवरात्री का पर्व देवी माँ को समर्पित पर्व है जिसके कुछ जरूरी नियम है इन्हीं नियमो में से एक नियम है इन नौ दिनों में नाखून ना काटना| भले ही नाखून काटना एक अच्छी आदत है लेकिन शास्त्रों की यदि माने तो नवरात्री के नौ दिनों तक नाखून काटना वर्जित माना गया है. इसीलिए नवरात्री के व्रत के दौरान हमें नाखून काटने से बचना चाहिए.

नवरात्रि में घर को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए what to do on navratri

हम सभी नवरात्री का पर्व बड़े ही धूमधाम और सच्ची भक्ति के साथ मनाते है कुछ लोग इन नौ दिनों में कलश स्थापना या माता की चौकी का आयोजन कर व्रत रखते है और अपने घरों में इस दौरान अखंड ज्योति भी जलाते हैं। जो लोग नवरात्री में व्रत रखकर घर में अखंड जोत जलाते है तो या इनमें से कोई भी कार्य करते है तो उन्हने अपने घर खाली छोड़कर नहीं जाना चाहिए। ऐसे में घर में किसी न किसी व्यक्ति को जरूर रहना चाहिए.

नवरात्रि में प्याज लहसुन से परहेज करे navratri 2019 pooja vidhi

ऐसी मान्यता है की जो लोग नवरात्री का व्रत रखते है उन्हें व्रत में नौ दिनों तक प्याज, लहसुन से परहेज करना चाहिए और जहाँ तक संभव हो व्रत करने वाले व्यक्ति को इस दौरान सात्विक भोजन ही ग्रहण करना चाहिए ऐसा करने से भक्त को देवी माँ की भक्ति का फल अवश्य ही प्राप्तहोता है.

गुस्से और अपशब्द के इससेतमाल से दूर रहे chaitra navratri horoscope

नवरात्री के नौ दिनों तक सभी को ये कोशिश करनी चाहिए की घर का वातावरण शांत और भक्तिमय बनाकर रखे इससे देवी माँ प्रसन्ना होती है और भक्त की हर इच्छा पूरी करती है जरूरी है की नवरात्री के पूरे न दिनों तक मन को शांत रखकर पूजा पाठ करना चाहिए और इस दौरान गुस्सा और अपशब्द जैसे कार्यो से बचना चाहिए.

नवरात्रि में भिक्षुओं को खाली हाथ ना भेजे navratri 2019 date time muhrt

जिस तरह से नवरात्री में घर और मन की शुद्धता व पवित्रता जरूरी है ठीक उसी तरह नवरात्री के पूरे न दिनों के बीच यदि आपके घर कोई भिक्षु आ जाय तो उसे खाली हाथ नहीं लौटना चाहिए नवरात्री में इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए और द्वार पर आये भिक्षु या गरीब को अपनी जरूरत और श्रद्धा अनुसार भोजन या कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए ऐसा करना बहुत ही शुभ फल देने वाला होता है.

नवरात्रि में शुद्धता और पवित्रता रखे do not these things on navratri  

शास्त्रों की माने तो देवी माँ को समर्पित नवरात्री के पूरे नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व में शुद्धता और पवित्रता का खास ख्याल रखना चाहिए घर में पूरे नौ दिनों तक पवित्रता और सात्विकता के साथ माँ की भक्ति व पूजा करनी चाहिए वही यदि घर के साथ-साथ मन की पवित्रता का भी ख़ास ख्याल रखा जाय तो यह शुभ होता है.

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल

नवरात्रि में चमड़े की चीजों का प्रयोग न करे Navratri festival date time

शास्त्रों और प्रचीन मान्यताओं अनुसार ऐसा कहा जाता है की नवरात्री पर्व के दौरान जहाँ तक संभव हो तो चमड़े की चीजों का प्रयोग करने से बचना चाहिए किसी भी तरह की पूजा और व्रत में लेदर और चमड़े की चीजों का इस्तेमाल निषेध माना जाता है.

नवरात्रि में किसी का अपमान ना करे Navratri 2019 worship

नवरात्री के व्रत में हम माँ दुर्गा के नौ स्वरूपों की विधिवत नौ दिनों तक पूजा करते है शास्त्रों में कहा गया है की जो भी लोग नवरात्री का उपवास रखते या माँ की पूजा करते है उन्हें इस दिनों किसी भी बड़े-बूढ़े, बच्चे या फिर घर पर आये किसी अन्य व्यक्ति का अपमान नहीं करना चाहिए बल्कि पूरे मान सम्मान से उनका आदर सत्कार करना चाहिए. मान्यता है की जो भी नवरात्री के दौरान इस नियमो का पालन और सच्ची श्रद्धा से माँ की आराधना करता है तो माँ उसकी सभी मनोकामनाएं अवश्य ही पूरी करती है.