नकसीर आने का कारण और निवारण Bleeding nose (Nosebleed) cure tips

नकसीर (नाक से खून आना) के कारण, लक्षण और घरेलु इलाज

%e0%a4%a8%e0%a4%95%e0%a4%b8%e0%a5%80%e0%a4%b0-%e0%a4%a8%e0%a4%be%e0%a4%95-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%96%e0%a5%82%e0%a4%a8-%e0%a4%86%e0%a4%a8%e0%a4%be-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b0कभी-कभी अधिक गर्मी होने के कारण हमारी नाक से खून आने लगता है. जिसे नकसीर के नाम से जाना जाता है. यह समस्या नाक के अंदर सतह के पास रक्त वाहिकाएँ फटने से होती है. अनेक बार कुछ गर्म खा लेने या बाहर की गर्मी लग जाने के कारण नकसीर की समस्या होने लगती है जिसके कारण व्यक्ति परेशान होने लगता है.

तथा कुछ लोगो को नाक में चोट लगने के कारण भी यह समस्या होने लगती है.वैसे तो नाक से खून निकलना कोई बड़ी समस्या नहीं है परन्तु जब यह बार-बार होता है तो यह एक रोग बन कर हमारे सामने आने लगता है जिसका उपचार कराना बहुत ही जरुरी है. इसके लिए कुछ आसान घरेलु उपाय है जो बेहद सरल तथा लाभदायक होते हैं. 

नकसीर के प्रकार

एंटीरियर (लोअर) नोज ब्लीडिंग

एंटीरियर (लोअर) नोज ब्लड तब होता है जब नाक के अंदर की सतह के पास की रक्त वाहिनियां फटने लगती हैं. आमतौर पर यह समस्या जल्दी ठीक हो जाती है. 

पोस्टीरियर नोज ब्लीडिंग

इसमें नाक से बहुत अधिक खून आने लगता है. कभी-कभी रक्त श्वास नलिका में भी चला जाता है. जिससे श्वास नलिका अवरूद्घ हो जाती है. जिसके कारण अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

नकसीर आने के कारण

  • नाक या सिर में चोट लगने से यह समस्या होने लगती है.
  • अधिक गर्मी होने के कारण भी नकसीर आने लगता है.
  • नाक में कोई चीज चली जाने, तथा वहां खरोंच आने पर.
  • अनेक बार डिप्थीरिया रोग के कारण भी नकसीर हो सकती है।
  • आमतौर पर संक्रमण और संक्रमित बुखार के कारण यह समस्या होने लगती है.
  • उच्च रक्त चाप होने के कारण भी नकसीर होने लगता है.
  • कभी-कभी शरीर में विटामिन C, B-12 और विटामिन K की कमी से भी, रक्तस्त्राव होने लगता है.
  • अधिक दौड़-भाग करने के कारण नकसीर आ सकती है।

नकसीर के प्रमुख लक्षण

  • नाक से खून बहना.
  • अनेक बार कान और मुंह से भी खून आने लगता है.

नकसीर के लिए घरेलु उपचार 

प्याज है फायदेमंद

नकसीर होने पर व्यक्ति के नाक से बहुत खून बहने लगता है इसके इलाज के लिए एक प्याज को काट कर सुंघाए. इससे नकसीर कम होने लगेगा.

शीशम के पत्तो का प्रयोग

शीशम के पत्तो को पीस कर उसका रस निकल लीजिए. अब इस रस को सुबह तथा शाम पिए. इसके सेवन से नकसीर को आसानी से कम किया जा सकता है.

ठंडा पानी

नकसीर की समस्या होने पर व्यक्ति को बिठाकर सिर पर ठण्डे पानी की धार डालते हुए सिर भिगों दें. इससे नकसीर की समस्या से राहत मिलती है.

काली मिटटी

नकसीर की समस्या होने पर थोड़ी काली मिटटी ले. अब इसमें थोड़ा पानी छिड़ दे. अब इस मिटटी को रोगी की नाक के पास रख कर इसकी खुशबू सुंघाए. इससे नकसीर की समस्या से राहत मिलती है.

पीपल के पत्तों का उपयोग

कुछ पीपल के पत्ते ले. अब इन पत्तो को पीसकर इसका रस निकाल कर एक बाउल में डाल दें. अब इस रस की करीब 5 बूंदों को नाक में डालें. इससे आराम मिलता है.

नकसीर की समस्या को दूर करने के लिए कुछ अन्य उपाय 

  • नकसीर होने पर सबसे पहले बैठ जाएं. अब आगे की ओर झुके तथा अपना सिर ऊचा रखें. जिससे रक्त वापस ना आ सके.
  • नाक को करीब 10 मिनट तक दबा कर रखें.
  • नाक तथा गालो को बर्फ से मले. 
  • नकसीर होते समय नाक में रुमाल या टिशू पेपर रखें. जो रक्त को सोख सकें.
  • नकसीर होने पर लेटना नहीं चाहिए तथा नाक को भी ना रगड़े.