दीपावली में कितने और कहाँ-कहाँ जलाएं दीये क्या है इनका महत्व Depawali mein kitne aur kahan jalae diye

क्या है दीपावली में दीयो का महत्व  Kya hai Depawali mein Diyo ka mahtva  

%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%88-%e0%a4%a6%e0%a5%80%e0%a4%aa%e0%a4%be%e0%a4%b5%e0%a4%b2%e0%a5%80-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%a6%e0%a5%80%e0%a4%af%e0%a5%8b-%e0%a4%95हम सभी जानते है कि दीवाली या दीपावली “रोशनी का त्योहार” है जिसे हर साल बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता है दीवाली भारत के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है. कहा जाता है कि यह त्यौहार आध्यात्मिक रूप से अंधकार पर प्रकाश की विजय का प्रतीक है. दीपावली के त्यौहार का भारतवर्ष में सामाजिक और धार्मिक दोनों दृष्टि से बहुत अधिक महत्व है.

दीपावली के दिन अयोध्या के राजा श्री रामचंद्र अपने चौदह वर्ष के वनवास के बाद घर लोटे थे तो अयोध्यावासियों ने श्री राम के स्वागत में घी के दीए जलाए थे तभी से दीये जलाने कि यह प्रथा चली आ रही है. बहुत से लोगो में इस बात कि जिज्ञाषा होती है कि जो दीये दीपावली पर जलाए जाते है वह कहाँ-कहाँ जलाने चाहिए और इनकी संख्या कितनी होनी चाहिए.

दीपावली पर अपने घर में कितने दीये जलाये Depawali mein kitne Diye jalae

जहाँ तक दीये जलाने का प्रश्न है तो आप अपनी इच्छानुसार दीये जला सकते है लेकिन दीपावली के दिन बहुत से दीये जलाना शुभ माना गया है वास्तुशास्त्र में भी बताया गया है कि दीपावली के दिन बहुत अधिक दीये जलाने चाहिए यदि संभव हो सके तो दीपावली के दिन घर में 108 दीये जलाने चाहिए दीपावली के पहले और बाद में दीयो कि संख्या कम भी कर सकते है.

दीपावली में दीये कितने दिनों तक जलाने चाहिए  Dewali ke din kitne dino tak jalae Diye

दीपावली को दीपोत्सव का त्यौहार भी कहा जाता है इस दिन हर जगह रौशनी ही रौशनी होती है दीपावली के दिनों में कम से कम पांच दिनों तक दीये जलाने चाहिए घर और अपने आस-पास कृष्णपक्ष की त्रियोदशी  से लेकर भाईदूज तक दीये जलाने चाहिए.

दीपावली में दीये कहाँ-कहाँ जलाने चाहिए Depawali mein Diye kahan kahan jalae

दीपावली में दीये जलाने का बहुत अधिक महत्व होता है. दीपावली में ध्यान रखना चाहिए की दीये सिर्फ घर के मंदिर या घर तक ही सीमित न हो. इस दिन आप अपने घर के आस-पास जैसे कुँए, तालाब, मंदिर चौराहे आदि जगह दीये जला सकते है इस करने से घर में सुख समृद्धि बढ़ती है. 

दीपावली के दिन जलाये जाने वाले दीयो से सम्बंधित कुछ ख़ास बातें Dewali mein Diyon se sambandhit kuch khaas baaten

दीपावली या महालक्ष्मी के दिन जलाये जाने वाले दीयों के सम्बन्ध कुछ बातों की जानकारी होना बहुत ही जरूरी है.

  • दीपावली के दिन जलाए जाने वाले दीये मिट्टी के बने हुए होने चाहिए.
  • दीपावली के दिन तिल के तेल का दिया जलाना बहुत ही शुभ माना जाता है.
  • अगर तिल का तेल संभव न हो सके तो आप घी के दीये भी जला सकते है.
  • दीवाली के दिन 108 दीये जलाना बहुत ही शुभ माना जाता है.
  • दीपावली के दिन आप न सिर्फ अपने घर में बल्कि सार्वजानिक स्थानों पर भी दीये जरूर जलाएं.
वास्तुअनुसार कैसे जलाये दीये Vastu anusar kaise jalaye Depawali par Diye

आप चाहे तो वास्तुशास्त्र के अनुसार भी दीये जला सकते है.

  • वास्तुशास्त्र के अनुसार दीपावली के दिन सबसे अधिक दीये दक्षिण पश्चिम दिशा में रखना शुभ होता है.
  • इस दिन दक्षिण पूर्व दिशा में कम दीये जलाना अच्छा होता है.
  • और उत्तर पश्चिम दिशा में बहुत ही कम दीये रखने चाहिए.