डॉ. भीमराव अंबेडकर के जीवन की कुछ रोचक और अद्भुद बातें Some interesting and amazing things of DR. BR Ambedkar’s life

भीमराव अंबेडकर  की जीवनी Biography of BR Ambedkar’s

%e0%a4%ad%e0%a5%80%e0%a4%ae%e0%a4%b0%e0%a4%be%e0%a4%b5-%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%ac%e0%a5%87%e0%a4%a1%e0%a4%95%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%9c%e0%a5%80%e0%a4%b5%e0%a4%a8%e0%a5%80-biography-of-brडॉ. भीमराव रामजी आम्बेडकर जी का जन्म 14 अप्रैल, 1891 को हुआ था. वह एक बहुजन राजनीतिक नेता थे. इन्हें बाबासाहेब के नाम से भी पुकारा जाता था. आम्बेडकर जी ने अपना संपूर्ण जीवन हिन्दू धर्म की चतुवर्ण प्रणाली, और भारतीय समाज में फैली जाति व्यवस्था के विरुद्ध संघर्ष में बिताया था. आम्बेडकर जी को भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया. उन्हें ‘आधुनिक युग का मनु’ कहकर सम्मानित किया गया.

डॉ. भीमराव आंबेडकर जी का परिवार और व्यक्तिगत परिचय Family and personal introduction of DR. BR Ambedkar’s life

  • आंबेडकर जी का नाम- डॉ. भीम राव अंबेडकर
  • आंबेडकर जी का बचपन का नाम- रामजी सकपाल
  • इनका जन्म- 14 अप्रैल 1891
  • जन्म स्थान- अंबावडे, रत्नागिरी
  • मृत्यु- 6 दिसंबर 1956
  • मृत्यु स्थान- दिल्ली निवास स्थान
  • पिता का नाम- रामजी मालोजी सकपाल
  • माता का नाम- भीमाबाई
  • राष्ट्रीयता- भारतीय

आंबेडकर जी की शिक्षा-दीक्षा Education life of Ambedkar ji

आंबेडकर जी का जन्म अछूत समझी जाने वाली जाति में हुआ था जिस कारण स्कूल ममें उन्हें बहुत बार अपमान सहन करना पड़ा था. ऐसी विषम परिस्थितयों का उन्होंने बड़े ही धैर्य और वीरता से सामना किया और स्कूली शिक्षा समाप्त की.इसके बाद उन्होंने कॉलेज की पढ़ाई भी पूरी की. कॉलेज की पढ़ाई के समय पिता की आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण खर्चे की कमी हुई फिर उनके एक मित्र उन्हें बड़ौदा के शासक गायकवाड़ के यहाँ ले गए जहा उनके लिए स्कॉलरशिप की व्यवस्था हो गयी और उनकी पढ़ाई पूरी हुई. 1907 में मैट्रिकुलेशन पास करने के बाद एलिफिन्सटन कॉलेज से 1912 में ग्रेजुएट किया. 1913 में आम्बेडकर जी ने कोलंबिया विश्वविद्यालय में अध्ययन किया.

कार्यकारिणी सदस्य Executive Member

आंबेडकर जी को 1926 में बम्बई की विधान सभा के सदस्य के रूप में नामित किए गया था. उसके बाद वह निर्वाचित भी हो गए. आंबेडकर जी भारत के स्वाधीन होने पर जवाहर लाल नेहरू के मंत्रिमंडल में विधि मंत्री चुने गए. इसके बाद उन्होंने विरोधी दल के सदस्य के रूप में भी काम किया. वह संविधान के विशेषज्ञ भी थे.उन्होंने बहुत से देशों के लिए संविधान का अध्ययन भी किया. उन्हें भारतीय संविधान का मुख्य निर्माता भी कहा जाता है.

सामाजिक सुधार के कार्य Social reforms

बी. आर. आम्बेडकर जी ने बहुत से समाज सुधार के कार्य भी किये उन्होंने ‘ऑल इण्डिया क्लासेस एसोसिएशन’ का गठन भी किया. उन्होंने पूरे भारत में दलित जाति के लोगो की मंदिरो में प्रवेश पर रोक के विरुद्ध आंदोलन भी किये.

भीमराव आंबेडकर जी की मृत्यु B.R Ambedkar’s death

आम्बेडकर जी 1948 में मधुमेह की समस्या हो गयी थी. आंबेडकर जी जून से अक्टूबर 1954 तक बहुत बीमार रहे. राजनीतिक मुद्दों से परेशान होने के कारण उनका स्वास्थ्य और भी अधिक खराब हो गया था  आम्बेडकर जी ने अपनी अंतिम पाण्डुलिपि बुद्ध और उनके धम्म को पूरा करने के तीन दिन के बाद 6 दिसंबर 1956 को अपने प्राण त्याग दिए. 7 दिसंबर को चौपाटी समुद्र तट पर बौद्ध शैली द्वारा उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया.