जी मिचलाना उल्टी कारण और इलाज Vomiting treatment tips

जी मिचलाने, उल्टियों को रोकने के आसान उपचार

जी मिचलाना उल्टी कारण और इलाज VOMITING TREATMENT TIPS upcharnuskheस्वस्थ शरीर ही स्वस्थ जीवन का आधार है लेकिन हमारा शरीर ही स्वस्थ ना रहे तो हमें अनेक प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं. जी मचलने का प्रमुख कारण मन में घबराहट और एक तरह की बेचैनी होना, बुखार होने पर भी कभी – कभी जी मिचलाता हैं इसके अलावा उलटी होने पर भी जी मिचलाने लगता हैं.

अनेक व्यक्ति तो ऐसे भी होते हैं जिनका अधिक घुमावदार रास्तो पर सफर करने पर भी जी मिचलाता हैं. गर्मी के मौसम में उल्‍टी होना आम बात होती है क्‍योंकि शरीर पूरी तरह से खाए गए भोजन को पचा नहीं पाता जिसके कारण हमें ये समस्याएं होने लगती हैं. 

जी मिचलाने के प्रमुख कारण

जरुरत से ज्‍यादा खाना – अनेक व्यक्ति जरुरत से ज्यादा खाना खा लेते हैं जिसके कारण उन्हें जी मिचलाने जैसी समस्याएं होने लगती हैं.

गर्भावस्‍था – महिलाओं को अधिकतर यह समस्या गर्भावस्‍था के दौरान होती है. गर्भावस्‍था में अधिकतर महिलाएं इस समस्या से परेशान रहती हैं.

पेट की गड़बड़ी – हमारे पेट में अनेक प्रकार की समस्या के कारण भी जी मिचलाने की समस्या होने लगती है.

एसिडिटी – एसिडिटी के कारण जी मिचलाने की समस्या होने लगती है जिसमे व्यक्ति को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

यात्रा के दौरान – अनेक लोग यात्रा करते हैं. सफर के दौरान अनेक लोगों को उलटी होने लगती है तथा जी मिचलाने लगता है.

उल्टियों को रोकने के घरेलु नुस्खे 

कच्चे चावलों का प्रयोग

जी मिचलाने की समस्या को दूर करने के लिए कच्चे चावलों के पानी का सेवन करना चाहिए.  इस के उपयोग लिए 60 ग्राम कच्चे चावल में डेढ़ गिलास पानी डालकर एक बर्तन में रख दें. अब इनको करीब एक घंटे तक भिगोकर रख दें. एक घंटा होने के बाद चावलों को पानी से निकाल लें और उस पानी का सेवन करें. इससे आपको जल्दी ही आराम मिलेगा.

निम्बू का भी प्रयोग

जी मिचलाने पर निम्बू का प्रयोग एक बहुत अच्छा तथा सरल उपचार है. इससे कुछ ही देर में आराम मिलने लगता है. इसके लिए एक निम्बू लें अब इसके चार टुकड़े कर लें. अब इन टुकडो पर हलकी चीनी छिडक इसका सेवन करें. इस विधि के प्रयोग से इस समस्या से राहत मिलेगी.

अनार के रस का सेवन

अनार के रस के सेवन से इस समस्या को आसानी से दूर किया जा सकता है. 2 से 4 ग्राम इलायची को कूटकर इसका चुर्ण बना लें, अब इसमें अनार के रस को मिला लें. अब इस मिश्रण का सेवन करें. इससे जल्दी ही आराम होने लगेगा.

जायफल का प्रयोग

जी मिचलाने की समस्या को दूर करने के लिए जायफल का प्रयोग बहुत ही आरामदायक होता है. इसके प्रयोग के लिए थोड़े कच्चे चावलों को पानी में डालकर धो लीजिए. अब चावलों को पानी से निकाल कर इस पानी को किसी ओर बर्तन में डाल लें. इसके बाद जायफल को घिसे ओर चावल धोए पानी में घिसा हुआ जायफल मिला लें. अब इस पानी को पिएं. इससे जी मिचलाने की समस्या को दूर करने में मदद मिलेगी.