जानें क्यों मिलायी जाती है कुंडली Kundali Horoscope Matching benifites

शादी से पहले क्यों मिलते हैं कुंडली जाने 4 कारण Horoscope matching 4 reasons

कुंडली क्यों मिलायी जाती हैकुंडली क्यों मिलायी जाती है – हिंदू धर्म में कुंडली का बहुत ही अहम रोल होता है। शादी करने से पहले लोग अक्‍सर Kundali का मिलान करते हैं जिससे वह वर और वधु के ग्रह-नक्षत्रों का मेल करते हैं और जानते है कि उन दोनों का वैवाहिक जीवन कैसा होगा।

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल

हालांकि, कई धर्म और जातियों में कुंडली का मिलान नहीं किया जाता है और लोग आपसी पसंद और चयन से ही विवाह कर लेते हैं।  कई बार मन में सवाल उठता है कि आखिर Kundali क्यों मिलायी जाती है और क्या इसके मिलाने से वाकई में कोई फर्क पड़ता है। जाने शादी करने के लिए कुंडली को मिलवाये जाने के चार कारण जो शायद आपको नहीं है पता.

कुंडली मिलान का कारण Kundali Match Horoscope Astrology

शादी कितनी चलेगी How marriages will run 

कुंडली को हिंदू धर्म में शादी का सबसे पहला चरण माना जाता है जिसमें भावी वर और वधु की जन्‍मकुडली को बनवा कर उसे आपस में मिलाया जाता है कि उनके कितने गुण मिल रहे हैं। इससे उनके वैवाहिक जीवन का अंदाजा लगाया जाता है।

शास्‍त्रों के अनुसार, पुरूष और महिला की प्रकृति, शादी के बाद परिवर्तित हो जाती है जो आपस में एक-दूसरे के व्‍यवहार से ज्‍यादा प्रभावित होती है। यही कारण है कि Kundali को मिलाकर जान लिया जाता है कि उन दोनों की आपस में कितनी पटेगी।

कुंडली में गुण और दोष होते हैं जिन्‍हे शादी से पहले मिलाया जाता है ताकि यदि कोई गंभीर दोष जैसे- मंगली आदि निकलता है, तो रिश्‍ते को आगे न बढ़ाया जाएं वरना उन दोनों के लिए समस्‍या हो सकती है। कुंडली में कुल 36 गुण होते है जिनमें से कम से कम 18 गुण मिलने पर ही शादी की जाती है। इससे कम गुण मिलने पर पंडित शादी करने से इंकार कर देते हैं।

मानसिक और शारीरिक दक्षता Mental and physical fitness 

वर और वधु का व्‍यवहार, प्रकृति, रूचि और क्षमता के स्‍तर को जानकर आपस में Kundali के माध्यम से मिलाया जाता है। अगर दोनों के इन गुणों में दोष पाया जाता है तो शादी नहीं की जाती है। माना जाता है कि जबरदस्ती शादी कर देने पर दोनों व्यक्ति ज्‍यादा समय तक साथ नहीं रह पाते हैं या फिर दोनों के बिच अच्छे से बन नहीं पाती है.

वित्तीय स्थिति कैसी रहेगी और परिवार के साथ कैसी बनेगी How will the financial situation and how will it become with the family –

कुंडली को मिलाने के बाद यह जाना जाता है कि दम्‍पत्ति की वित्‍तीय स्थिति कैसी रहेगी और परिवार में कैसे सम्बन्ध रहेंगे, उनकी संतान कितनी होगी, उनके जीवन में कोई संकट आएगा या नहीं आदि ये सब कुंडली को मिलाकर जाना जा सकता है।