जानें क्या कहता है आपके सोने का तरीका (Sleeping Style) Jane kya kahta hai aapke sone ka tarika

अपने सोने के तरीके से जानें अपना स्वभाव apni sleeping style se jane apni aadat

रात को सोने का तरीका क्या कहता है, क्या आप जानते हैं शायद ही कोई ऐसे व्यक्ति होंगे जिन्हें पता होगा कि सोने का तरीका क्या बताता हैं आपके बारे में.

जैसे शरीर का हर अंग आपके व्यक्तित्व के बारे में बताता है उसी प्रकार आपके सोने का तरीका भी आपके व्यक्तित्व के बारे में बताता है. इसलिए यहाँ पर आपको विस्तार से बताया गया है कि आपके सोने का तरीका क्या बताता है आपके बारे में.

पेट के बल सोना (Pate ke bal sona) –

कई लोगो को पेट के बल, अपने हाथों को ऊपर की ओर रख कर सोना पसंद होता है। जिसे अंग्रेज़ी भाषा में “फ्रीफॉल स्लीप” कहा जाता है। ऐसे लोग को किसी भी बात का बुरा आसानी से लग जाता है और यह स्वभाव से एक्स्ट्रोवर्ट होते हैं।

अर्थात ऐसे लोग जिंदगी में ज्यादा खुश रहते हैं, ये लोग अधिक जोखिम भी लेते हैं. साथ ही यह बिंदास किस्म के होते हैं। ये मस्तमौला लेकिन थोड़ा सेंसिटिव होते हैं। दोस्ती करने के मामले में ये काफी सोच-समझकर फैसले लेते हैं। ये चाहते हैं कि जैसा वह सेचते हैं दुनिया उसी तरह से काम करे।

सिकुड़ कर सोना (Sikud kr sona) –

100 में से 41 प्रतिशत लोग इस प्रकार सोना पसंद करते हैं। बहुत से व्यक्ति अपने घुटनों को पेट की तरफ सिकुड़ लेते हैं और हाथों को चिपका के सोना पसंद करते हैं। अंग्रेज़ी भाषा में इसे “फेटस स्लीप” कहा जाता है। सिकुड़ कर सोने वाले व्यक्ति थोड़े असहज अर्थात वे थोड़े कठोर दिल के होते हैं, इन्हें घुलने-मिलने में थोड़ा सा समय लगता है, जब ये लोगो से घुल मिल जाते हैं तो इनका व्यवहार बहुत अच्छा होता है. साथ ही शरीर को सिकोड़कर सोने वाले लोग बाहर से भले ही शेर बनते हों लेकिन अंदर से थोड़ा बहुत डरपोक हैं। आप अकेले रहने से डरते हैं.

काँधे के बल सोना (Kandhe ke bal sona) –

कंधे के बल सोने वाले लोगो को अंग्रेजी में “लॉग स्लीप” कहा जाता है। ऐसे में व्यक्ति किसी भी एक दिशा में , हाथ और पैरों को एक दिशा में सीधा रख कर सोते हैं। ऐसे व्यक्ति किसी पर भी आसानी से भरोसा कर लेते हैं, और इनमे अत्यधिक सामाजिकता के गुण भी होते हैं अर्थात ये लोगो जल्द ही लोगो से घुल मिल जाते हैं.

हाथों को एक दिशा में खुला छोड़कर सोना (Hatho ko ek disha me khula chodkr sona) –

बहुत से लोग हाथों को एक तरफ करके, ऊपरी दिशा में खुला छोड़ कर सोते हैं। इस प्रकार सोने को अंग्रज़ी में “यरनर स्लीप” कहा जाता है। ऐसे लोग खुले दिल के होते है और किसी भी प्रकार के बदलाव को आसानी से अपना लेते हैं। इन्हें निर्णय लेने में कठिनाइयां होती हैं लेकिन यदि एक बार ठान लें तो पीछे मुड़कर नहीं देखते और अपने कार्य को पूरा करके रहते हैं.

हाथों को ऊपर की ओर करके सोना (Hatho ko upar ki or krke sona) –

बहुत से लोग दोनों हाथों को ऊपर की ओर रखकर सोते हैं जिसे अंग्रेज़ी में “स्टारफिश स्लीप” कहा जाता है। ऐसे व्यक्ति अच्छे श्रोता होते हैंअर्थात दुसरो की बातो को बहुत अच्छे से सुनते हैं और इनसे दोस्ती करना भी आसान होता है। यह दूसरों की मदद करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं और इन्हें दिखावा बिलकुल भी पसंद नहीं होता।

पीठ के बल सोना (Pith ke bal sona) –

बिल्कुल सीधा होकर पीठ के बल सोने वाले लोग काफी मह्त्वकांक्षी होते हैं। ये किसी भी काम को बेहतर और अनोखे ढंग से करना पसंद करते हैं और सफलता इनके कदम चूमती है। ये हर चीज समय से और सही ढंग से करना पसंद करते हैं। ऐसे लोग चुप रहने वाले और रिजर्व्ड होते हैं। इन्हें कुछ भी गलत बर्दाश्त नहीं होता। इन्हें आप आदर्शवादी भी कह सकते हैं।

पाँव को कसकर सोना (Paav kskr sona) –

बहुत से लोग इस होते हैं जिन्हें नींद में अपने पांव जकड़कर सोने की आदत होती है, वे लोग अपने जीवन में संघर्ष करते रहते हैं। उनका पूरा जीवन ही संघर्षरत रहता है, हर छोटी-बड़ी चीज को हासिल करने के लिए इन्हें संघर्ष और कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। पर संघर्ष करने के बाद वे अपने कार्य में सफल होते हैं.

पूरी तरह ढककर सोना (Khud ko pura dhakkr sona) –

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो खुद को पूरी तरह ढककर सोते हैं जिन्हें बिना ढके नीड नहीं आती है, ऐसे लोग  अंदर ही अंदर किसी चीज से लड़ रहे होते हैं अर्थात थोड़ा कंफ्यूज से रहते हैं। ऐसे लोगों का जीवन ज्यादातर अस्त-व्यस्त रहता है. पर ये जल्द ही अपनी उलझन से बहार भी आ जाते हैं.

टांग पर टांग रखकर सोना (Tang pr tang rakhkr sona) –

कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हें एक टांग पर दूसरी टांग को रखकर सोने की आदत होती है ऐसे व्यक्ति एक आदर्श जीवन व्यतीत कर रहे हैं। ये दर्शाता है कि आप सहनशील और संतुष्ट और तुष्ट हैं। आप त्याग और परोपकार करने के आदि होते हैं.

करवट लेकर सोना (Krvat lekr sona) –

अगर आप करवट लेकर सोना पसंद करते हैं तो यह ये दर्शाता है कि आपको जीवन में समझौता करना बिल्कुल नहीं पसंद होता है। आप परिस्थितियों के अनुसार चलते हैं और दूसरों की हां में हां मिलाना आपको परेशान नहीं करता। साथ ही करवट लेकर सोने की आदत ये भी बताती है कि आपको अपने मामलों में किसी का भी बोलना पसंद नहीं होता है। आप साफ-सुथरा जीवन जीने और अच्छा भोजन करने में विश्वास रखते हैं। आप भविष्य को लेकर थोड़ा बहुत चिंतित भी रहते हैं।

एक साइड होकर सोना (Ek side hokr sona) –

एक साइड होकर करवट लेते हुए जो लोग सोते हैं, वे किसी से भी घुलने मिलने में थोड़ा बहुत टाइम लेते हैं। ये बाहर से तो बहुत सख्त होते हैं, लेकिन अंदर से बेहद सॉफ्ट मिजाज के होते हैं।

पीठ के बल हाथ ऊपर करके सोना (Pith ke bal hath upar krke sona) –

बहुत से लोग पीठ के बल, लेकिन दोनों हाथो को ऊपर करके सीधे सोते हैं जिसे इंग्लिश में सोल्जर स्लीप भी कहा जाता है, इनके बारे में कहा जाता है कि वे किसी भी बात को बड़े ध्यान से सुनते हैं अर्थात वे एक बहुत अच्छे श्रोता होते हैं। इन्हें किसी की मदद के लिए आगे आना अच्छा लगता है।

पैर हिलाते हुए सोना (Pair hilate hue sona) –

कई लोगो ऐसे होते हैं जो सोने से पहले अपना पैर हिलाते हुए सोने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोग हमेशा अपने परिवार के बारे में सोचते रहते हैं। उनके लिए कुछ न कुछ करने की इच्छा उनमें हमेशा होती है अर्थात वे अपने परिवार के लिए कुछ अच्छा करना चाहते हैं जिससे उनके घर वाले खुश रहें.

बाहें फैलाकर सोना (Baahe felakr sona) –

जो लोग हाथ बाहर की ओर फैलाकर सोते हैं, वे जरूरत से अधिक अपने काम का रिजल्ट चाहते हैं। उन्हें हर सुबह यही लगता है कि उनके पास करने को इतना कुछ है जितना किसी और के पास नहीं। उन्हें हमेशा यही लगता है कि उन्हें काम का बहुत ज्यादा लोड है.

हाथ पैरो में 90 डिग्री का एंगल बनाकर सोना (90 digri engal bnakr sona) –

बहुत से लोग पैरों में तकरीबन नब्बे डिग्री का एंगल बना कर सोते हैं ऐसे लोग थोड़ा अलग हटकर होते हैं। ये आसानी से किसी भी चीज को स्वीकार नहीं करते हैं और अगर एक बार स्वीकार कर लेते हैं, तो फिर उसे नहीं छोड़ते हैं। फैसले लेने के मामले में ये थोड़ा सा लेट-लतीफ होते हैं।

हाथ सर के पीछे रखकर सोना (Ser ke piche hath rakhkr sona) –

अपने हाथ अपने सर के समानांतर करके सोने वाले लोग सही मायने में बहुत ज्यादा साधारण किस्म के होते हैं। ऐसे लोग धैर्य से पुरे ध्यान पूर्वक दूसरे लोगों की बात सुनते हैं और जरूरत पड़ने पर उनकी पूरी सहायता भी करते हैं।