चैत्र पूर्णिमा व्रत तिथि शुभ मुहूर्त 2019 Chaitra Purnima Vrat Muhurt2019

चैत्र पूर्णिमा तिथि पूजा विधि chaitra purnima vrat puja vidhi upay

चैत्र पूर्णिमा व्रत तिथिचैत्र पूर्णिमा व्रत तिथि- चैत्र नवरात्र के बाद चैत्र पूर्णिमा तिथि आती है हिन्दू धर्म में प्रत्येक माह में आने वाली पूर्णिमा खास होती है 19 अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा तिथि है हालांकि शास्त्रों की माने तो साल 2019 चैत्र माह में पड़ने वाली पूर्णिमा इस बार और भी ख़ास होगी क्योकि हिन्दी पंचांग के अनुसार 18 अप्रैल और 19 अप्रैल दो दिन पूर्णिमा तिथि रहेगी। इस दिन व्रत रखने और सत्यनारायण भगवान की पूजा की मान्यता बेहद प्राचीन है. वही 19 अप्रैल को हनुमान जयंती का पर्व भी मनाया जायेगा आज हम आपको चैत्र पूर्णिमा 2019 व्रत के शुभ मुहूर्त चन्द्रदर्शन और इस दिन किये जाने वाले उपायों के बारे में बताएँगे.

चैत्र पूर्णिमा 2019 तिथि व शुभ मुहूर्त chaitra purnima 2019 date time muhurt

  • साल 2019 में चैत्र पूर्णिमा का व्रत 19 अप्रैल शुक्रवार के दिन रखा जाएगा.
  • पूर्णिमा तिथि आरंभ होगी – 18 अप्रैल 2019 गुरुवार के दिन शाम 07: 26 मिनट पर|
  • वही पूर्णिमा तिथि समाप्त होगी – 19 अप्रैल 2019 शुक्रवार के दिन 04:41 मिनट पर
  • 19 अप्रैल चंद्रोदय का समय होगा – 18:48: मिनट |

चैत्र पूर्णिमा व्रत विधि chaitra purnima vrat vidhi in hindi

नारद पुराण के अनुसार पूर्णिमा के दिन प्रातः स्नान आदि से निवृत होकर व्रत का संकल्प करें पूर्णिमा के दिन खासतौर पर पूरे विधि-विधान से चंद्रमा की पूजा करने का विधान है इस दिन चन्द्रमा को जल का अर्घ देकर ही व्रत खोला जाता है पूजन के बाद व्रती को अन्न का दान करना शुभ माना जाता है. पूर्णिमा पर सत्यनारायण भगवान की कथा करने की परंपरा बेहद ही प्राचीन है कहा जाता है की इस दिन सत्यनारायण भगवान की कथा करने से घर-परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है। इसीलिए यदि संभव हो सके तो पूर्णिमा के दिन सत्यनारायण भगवान की कथा अवश्य पढ़े और सुने.

पूर्णिमा के दिन किये जाने वाले उपाय chaitra purnima upay for prosperity and money  

मान्यता है की पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा अपने पूर्ण आकार में होता है. और यह दिन माँ लक्ष्मी को बेहद  प्रिय होता है. ज्योतिष अनुसार यदि इस दिन खास उपाय किये जाय तो अपने भाग्य को चमकाया जा सकता है.

राशिअनुसार जाने साल 2019 का भविष्यफल

  • शास्त्रों के अनुसार पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष पर मां लक्ष्मी जी आती है इसीलिए यदि इस दिन सुबह उठकर पीपल के पेड़ को मीठे का भोग लगाकर जल अर्पित किया जाय तो इससे माँ लक्ष्मी प्रसन्ना होती है.
  • दाम्पत्य जीवन को सुखमय बनाने के लिए पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा को दूध का अर्ध्य देना शुभ माना जाता है.
  • जीवन में आने वाली धन सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने के लिए पूर्णिमा के दिन चंद्रोदय के समय चन्द्रमा को कच्चे दूध, चीनी और चावल मिलाकर अर्घ्य देना शुभ होता है.
  • पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को कौड़ियां अर्पित करना शुभ माना जाता है.
  • पूर्णिमा के दिन किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती अर्पित करने से धन, सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है.