चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय और प्रभाव Lunar Eclipse 2018 Date and Time

चन्द्रग्रहण कैसे होता है पूरी जानकारी Lunar Eclipse Details in Hindi

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय और प्रभाव Lunar Eclipse 2018 Date and Timeचंद्रग्रहण 2018 सूतक समय – यह तो आप जानते ही होंगे कि जब पृथ्वी, सूर्य व चंद्रमा के बीच आती है और चाँद पृथ्वी की उपछाया से होकर गुजरता है तो यह स्थिति चंद्र ग्रहण कहलाती है. और ऐसा सिर्फ पूर्णिमा को ही संभव होता है। इसलिये चंद्रग्रहण हमेशा ही पूर्णिमा के दिन होता है।

वहीं दूसरी और सूर्यग्रहण के दिन सूर्य व पृथ्वी के बीच चंद्रमा आता है जो कि अमावस्या के दिन ही संभव होता है. ब्रह्मांड में घटित ये सभी घटनाये खगोलीय तो है ही लेकिन इनका धार्मिक महत्व भी बहुत अधिक है। आज हम आपको बताएँगे कि साल 2018 में चंद्र ग्रहण कब है यह किन क्षेत्रों में दिखाई देगा व इसका सूतक समय क्या है.

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय Lunar Eclipse 2018 Sutak Timing –

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय – इस बार चंद्रग्रहण 28 जुलाई को सुबह 4:24 मिनट और 36 सेकेंड पर शुरू होगा. जो कि चाँद के अस्त होने अर्थार्त 7 बजकर 25 मिनट तक रहेगा। चंद्रोदय का समय 27 जुलाई को शाम 4:55 मिनट रहेगा। अतः इस चंद्रग्रहण की समय अवधि लगभग 3 घंटे की होगी।

चंद्रग्रहण 2018 में कब है Lunar Eclipse Date –

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय – साल 2018 का दूसरा चंद्रग्रहण 27 व 28 जुलाई को लगेगा। यह  चंद्रग्रहण पूर्ण चंद्रग्रहण माना जा रहा है. इससे पहले 31 जनवरी 2018 को पहला चंद्रग्रहण लगा था।

कहां कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण 27 July Lunar Eclipse 2018

साल 2018 के पहले ग्रहण की तरह ही दूसरा भी ग्रहण पूर्ण चंद्रग्रहण है. यह चंद्रग्रहण भारत देश सहित दुनिया के अन्य हिस्सों में भी देखा जा सकेगा।

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय 27 जुलाई शुक्रवार की शाम 5:29 मिनट पर आरंभ हो जायेगा जो कि 28 जुलाई को प्रात: 07:25 मिनट तक रहेगा। इसके अलावा बच्चों व बुजूर्गों के लिये सूत्तक मध्यरात्रि 12:26 मिनट 26 सैकेंड से आरंभ होकर ग्रहण समाप्त होने तक रहेगा।

किस राशि पर होगा ग्रहण का प्रभाव Lunar Eclipse 2018 Effects-

चंद्रग्रहण 2018 सूतक समय  – माना जा रहा है कि इस ग्रहण का सबसे अधिक प्रभाव कर्क और सिंह राशि पर पड़ेगा. इसलिए इस दिन इन राशियों के लोग ग्रहण से बचे. व मन में ओम चन्द्रमसे नमः’ का जप करें. साथ ही अपनी सेहत के प्रति बिलकुल भी लापरवाही ना करें. इसके आलावा अन्य राशियों पर ग्रहण का प्रभाव नहीं पड़ेगा