घमौरियों के लिए घरेलू टिप्स ghamori se bachne ke upay home remedies for Prickly Heat

गर्मियों में घमौरियों का घर बैठे करें घरेलु इलाज Ghamori Treatment home remedies

घमोरियां (Prickly Heat) होने के कारण

ghamoriyo ka gharelu ilaj upcharnuskheगर्मियों का मौसम शुरू होती ही अनेक बीमारियों का आगमन होने लगता है. गर्मी में लापरवाही के कारण शरीर में निर्जलीकरण,लू लगना, चक्कर आना ,घबराहट होना ,नकसीर आना, उलटी-दस्त, घमोरियां जैसी कई बीमारिया हो जाती हैं. गर्मियों में पसीना अधिक मात्रा में बहता है यदि पसीने को साफ न किया जाये तो वह सुख जाता है, जिसके कारण पसीने की गर्न्थिया बंद हो जाती है जो घमोरियों का रूप ले लेती हैं.

अधिकतर घमौरी हाथ पैरो, छाती तथा बगल में निकलती हैं. इस रोग के होने के कारण हमारे शरीर में खुजली होने के साथ हल्की सी चुभन भी होती है. यह एक प्रकार का चर्म रोग माना जाता हैं. जो गर्मियों के अतिरिक्त बरसात के दिनों में भी व्यक्तियों की त्वचा पर हो जाता है. गर्मी में हमारे शरीर को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचता है, जिसके कारण हम काफी परेशान रहते हैं तथा हमारा किसी काम में मन नहीं लगता, इसलिए इन सभी बीमारियों से बचने के लिए जितना हो सके गर्मी से बचने की कोशिश करनी चाहिए. घरेलू उपाय आजमा कर हम गर्मी में धूप से बच सकते है और अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं.

नीम और तुलसी का पेस्ट

कुछ नीम की तथा तुलसी की साफ़ पत्तियों को लेकर धो ले. अब इन पत्तियों को बारीक पीस कर इनका पेस्ट बन लीजिए और इस पेस्ट को घमोरियो वाले स्थान पर लगाए. सूखने के बाद धो दे. कुछ दिन ऐसा लगातार करे. नीम और तुलसी का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है.

खीरे का प्रयोग

खीरे में अनेक शक्तिशाली गुण पाये जाते है. यह घमोरियों का सबसे आसान इलाज है. एक गिलास पानी में निम्बू का रस डाले और इस पानी में खीरे के पतले-पतले टुकड़े काटकर दाल दीजिये. अब इन टुकड़ो को घमोरियों वाले स्थान पर लगाए. यह प्रक्रिया करने से घमोरियों जल्दी ठीक होने लगेंगी तथा जलन तथा खुजली से छुटकारा मिलेगा.

मुल्तानी मिटटी का प्रयोग

मुल्तानी मिटटी घमोरियों से सुरक्षा का बहुत ही अच्छा उपाय है. यह घमोरियों में होने वाली खुजली से राहत देती है. 5 चम्मच मुल्तानी मिटटी में गुलाब जल मिलाकर इसका लेप तैयार कर लीजिए. इस मिश्रण को दिन में एक बार घमोरियों पर लगाने से राहत मिलती है.

बर्फ का प्रयोग

सभी घरों में आसानी से मिलने वाला सबसे अच्छा उपाय है बर्फ. घमोरियां होने पर हमारे शरीर में खुजली तथा जलन होने लगती है. इसके लिए आप बर्फ के टुकड़ो को घमौरी वाले स्थान पर लगाए. इससे घमोरियां ठीक होने लगती है.

सरसों के तेल का प्रयोग

सरसों का तेल अनेक रोगों का रामबाण इलाज माना जाता है. घमोरियां होने पर 2 चम्मच सरसों के तेल में 2 चम्मच पानी मिलाकर सुबह और शाम मालिश करे. यह प्रक्रिया करने से घमोरियां दूर होने लगती है.

चन्दन पाउडर का प्रयोग

चन्दन को अनेक समस्याओं का समाधान माना जाता है. यदि गर्मियों में घमोरियों हो जाये तो चन्दन पाउडर को पानी में मिलाकर इसका लेप बना लीजिए. अब इस लेप को घमौरी वाले स्थान पर लगाए. यह उपचार करने से घमोरियों को ठीक करने में मदद मिलती है.

संतरे के छिलके का प्रयोग

संतरा अनेक गुणों से भरपूर होता है साथ ही संतरे का छिलका भी अनेक रोगों का समाधान होता है. घमोरियां होने पर संतरे के छिलकों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें. इस पाउडर में गुलाबजल मिलाकर अच्छी तरह मिला लें. अब इस मिश्रण को घमोरियों वाले स्थान पर लगाए. इससे घमोरियां ठीक होने लगेंगी.

गुलाब की पंखड़ियों का प्रयोग

गर्मियों में अधिकांश लोगो को घमोरियां हो जाती है. गुलाब की पंखुड़िया मुहासो से निपटने के लिए बहुत ही अच्छा उपाय है. गुलाब के फूलों का तेल लगभग 12 मिली, थोड़ा सा कपूर, तीन ग्राम फिटकरी को आपस में मिला लीजिए. इस पेस्ट को मुहासो वाले स्थान पर लगा ले. इससे आपको फायदा मिलेगा.

  • गर्मी में सूती और हलके रंग के कपडे पहनने चाहिये.
  • बहार निकलते समय चेहरा और सर पर रुमाल या साफी से ढक कर निकलना चाहिये.
  • गर्मियों में प्याज का सेवन करना चाहिए तथा जेब में प्याज रखना चाहिये.
  • बाजार की ठंडा मतलब आम(केरी) का पना, खस,चन्दन गुलाब फालसा संतरा  का सरबत ,ठंडाई सत्तू, दही की लस्सी,मट्ठा,गुलकंद का सेवन करना चाहिये.
  • लोकी ,ककड़ी ,खीरा, तोरे,पालक,पुदीना ,नीबू ,तरबूज आदि का सेवन अधिक करना चाहिये
  • गर्मियों में शीतल पानी का सेवन करना अनिवार्य होता है. 2 से 3 लीटर रोजाना पानी पिए.
  • घमोरियों वाली जगह पर आर्टिफिशियल ज्वेलरी पहनने से बचें.