खड़े होकर पानी पीने से शरीर को हो सकता है नुकसान 4 Health care tips

जाने क्यों नहीं पीना चाहिए खड़े होकर पानी Why should not drink water on standing

पानी मानव शरीर के लिए बेहद आवश्‍यक तत्‍वों में से एक है, पानी पीने के फायदे से हर कोई अच्छे से जनता है। ये तो सभी को पता होता है कि एक दिन हमें कम से कम से कितन पानी पीना चाहिए.

और इसके क्‍या फायदे होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमे पानी कैसे पीना चाहिए? बहुत से लोग खड़े होकर पानी पिटे हैं। खड़े होकर पानी पीने से हमारे शरीर पर कई गलत प्रभाव पड़ते हैं। तो आज यहाँ पर आपको बताएंगे कि खड़े होकर पानी पिने से क्या नुकसान होते हैं.

पाचन तंत्र के लिए नुकसान (Damage to the digestive system) –

जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं, तब यह आसानी से प्रवाह होता जाता है और एक बड़ी मात्रा में नीचे खाद्य नलिका में जाकर, निचले पेट की दीवार पर गिरता है। इससे पेट की दीवार और आसपास के अंगों को नुकसान पहुंचने की सम्भावना रहती है। लंबे समय तक ऐसा होने से पाचन तंत्र और दिल और गुर्दे की समस्याएं भी हो सकती हैं.

ऑर्थराइटिस होने का खतरा (Risk of arthritis) –

कभी भी खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए। इससे घुटनों पर जोर पड़ता है और ऑर्थराइटिस होने का खतरा रहता है, तथा आपके जोड़ो में हमेशा दर्द रहता है, इसलिए खड़े होकर पानी कभी नहीं पीना चाहिए.

गुर्दे की बीमारी (Kidney disease) –

जब खड़े होकर पानी पिता जाता है तब पानी तेज़ी से गुर्दे के माध्यम से, बिना ज्यादा छने, गुजऱ जाता है। इसके कारण रक्त में गंदगी जमा हो सकती है जिससे गुर्दे और दिल की बीमारियां होने की सम्भावनाएँ हो सकती हैं.

गठिया की समस्या (Arthritis problem) –

खड़े होकर पानी पीने से शरीर में मौजूद अन्य तरल पदार्थों के संतुलन भी बिगड़ जाता है। और फिर यह जोड़ क्षेत्रों और जोड़ों में आवश्यक तरल पदार्थ की भी कमी करता है। इससे जोड़ो में दर्द और गठिया जैसी परेशानियां उत्पन्न हो सकती हैं.