कैसे करे अच्छे कोचिंग संस्थान का चयन How to choose best coaching institute for competitive exam

कैसे करे अच्छे कोचिंग इंस्टिट्यूट का चयन How to Choose  Best Coaching Institute Study Tips- 

कोचिंगकोचिंग- प्रतियोगिता परीक्षाओं का स्तर और प्रकृति सामान्य बोर्ड परीक्षाओं से काफी भिन्न होती है, इसीलिए प्रतियोगिता परीक्षाओं को अपने दम पर पास कर लेना आसान नहीं होता। ये आसान हो सकता है जब हमे उन परीक्षाओं के लिए बेहतर गाइडेंस यानी कोचिंग मिल रही हो।

तो हम उन परीक्षाओ को पास कर सकते है. लेकिन इस संदर्भ में भी हमारा पहला सवाल यह हो सकता है कि क्या प्रतियोगिता परीक्षाओ की तैयारी में कोचिंग लेना आवश्यक है या नहीं? अगर जवाब हाँ में हो तो दूसरा सवाल मन में यही उठता है कि आखिर कोचिंग संस्थान कैसा हो, या हम अच्छे कोचिंग सेंटर का चुनाव कैसे व किस मापदंड पर करें? कई स्टूडेंट ऐसे होते है जो अपने दोस्तों, परिचितों के कहने पर या फिर पहले से प्रतिष्ठित कोचिंग आदि को यूं ही चुन लेते हैं। लेकिन गुणवत्ता और छात्रों की संख्या भी ऐसे पैमाने हैं, जिन पर ध्यान काफी आवश्यक है. आज हम आपको बताएँगे कि प्रतियोगी परीक्षाओ के लिए अच्छे कोचिंग सेंटर का चुनाव कैसे करे.

प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी हेतु किसी भी कोचिंग को जॉइन करने से पहले वहां का रिजल्ट देख ले. उस कोचिंग सेण्टर के पुराने स्टूडेंट्स से बात कर लेना बेहतर रहेगा। इससे कोचिंग की सही स्थिति के बारे में आप जान पाएंगे. किसी भी कोचिंग के विज्ञापन पर भरोसा ना करे क्योंकि कोचिंग आजकल एक प्रोफेशन बन चुका है।

आजकल कोचिंग संस्थानों में छात्रों को अलग – अलग बैच में बांटकर पढ़ाया जाता है। एक बैच में 30 से लेकर 120 तक छात्र शामिल हो सकते हैं। एक बैच में बहुत अधिक बच्चों को एक साथ पढ़ने में टीचर का हर बच्चे पर ध्यान नहीं जा पाता। ऐसे में हर एक बच्चे की परफॉरमेंस देखने के लिए कोचिंग में क्या अन्य तरीके अपनाए जा रहे हैं, बैच में छात्रों की संख्या के साथ इस पर भी ध्यान दे.

एक अच्छे कोचिंग संस्थान का चयन करने के लिए यह काफी जरूरी है कि वह शहर से बहुत दुरी पर न हो। अगर दूर हो भी, तो आस-पास अन्य सुविधाएं भी हों। जिससे आने-जाने में ज्यादा समय न लगे।

राशिअनुसार जाने साल 2018 का भविष्यफल

किसी भी कोचिंग सेण्टर में प्रवेश लेने से पहले सेंटर की फीस के बारे में भी मालूम करें। यह बिलकुल भी जरूरी नहीं है कि महंगा कोचिंग सेंटर अच्छा ही होगा। कम बजट वाले कोचिंग सेंटर भी स्टूडेंट्स को उपयुक्त पाठ्य सामग्री उपलब्ध करवा सकते हैं। इसलिए महंगे कोचिंग सेंटर के चुनाव के बजाय अच्छे कोचिंग सेंटर का चुनाव करे.

कोचिंग सेंटर में प्रवेश लेने से पहले इस बात का भी ध्यान रखे कि कोचिंग संस्थान में पढ़ाया जाने वाला मैटीरियल क्या है, पढ़ाने का तरीका कितना प्रभावी है, फैकल्टी कैसी है आदि.