कैलाश सत्यार्थी के प्रेरणादायक सुविचार Kailash Satyarthi Thoughts and Quotes

कैलाश सत्यार्थी के अनमोल ज्ञानवर्धक विचार Best Thoughts of Kailash Satyarthi

%e0%a4%95%e0%a5%88%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%b6-%e0%a4%b8%e0%a4%a4%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%8d%e0%a4%a5%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%85%e0%a4%a8%e0%a4%ae%e0%a5%8b%e0%a4%b2कैलाश सत्यार्थी का जन्म 11 जनवरी 1954 में हुआ था. वे एक भारतीय बाल अधिकार कार्यकर्ता और बाल-श्रम के विरुद्ध पक्षधर हैं. कैलाश सत्यार्थी जी ने 1980 में बचपन बचाओ आन्दोलन की स्थापना की थी. उनके कार्यों को विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सम्मानों व पुरुस्कारों द्वारा सम्मानित किया गया है.

सुविचार (Quotes) 1. बचपन का मतलब है सादगी। दुनिया को बच्चों की नज़र से देखो- ये बहुत खूबसूरत है।

सुविचार (Quotes) 2. आर्थिक विकास और मानव विकास साथ-साथ होना चाहिए। मानवीय मूल्यों की वकालत करने की सख्त ज़रूरत है।

सुविचार (Quotes) 3. हर एक मिनट मायने रखता है, हर एक बच्चा मायने रखता है, हर एक बचपन मायने रखता है।

सुविचार (Quotes) 4. भारत सौ से भी अधिक समस्याओं वाला देश हो सकता है, लेकिन ये बिलियन सोलुशंस वाला देश भी है।

सुविचार (Quotes) 5. बाल श्रम गरीबी, बेरोज़गारी, अशिक्षा, जनसँख्या वृद्धि और अन्य सामाजिक समस्याओं को बढाता है।

सुविचार (Quotes) 6. बचपन छीन लेना और स्वतंत्रता ना देना सबसे बड़े पाप हैं जो मनुष्य सदियों से करता आ रहा है।

सुविचार (Quotes) 7. चलिए, हम हमारे बच्चों के प्रति करुणा के माध्यम से दुनिया को एकजुट करते हैं।

सुविचार (Quotes) 8. मेरे लिए, शांति हर बच्चे का मौलिक मानवाधिकार है; ये अनिवार्य और दिव्य है।

सुविचार (Quotes) 9. बतौर एंटी-स्लेवरी- कम्युनिटी, हमें ये ज़रुर सुनिश्चित करना चाहिए कि ये अटेंशन ठोस एक्शन और रिजल्ट्स में बदले।

सुविचार (Quotes) 10. अगर आप इन परिस्थितियों में गुलाम बच्चों द्वारा बनायीं गयी चीजें खरीदते रहेंगे तो आप गुलामी के स्थायीकरण के लिए बराबर के जिम्मेदार होंगे।

सुविचार (Quotes) 11. इस आधुनिक युग में पीड़ित लाखों बच्चों की दुर्दशा समझने के लिए मैं नोबल कमिटी का शुक्रगुज़ार हूँ।

सुविचार (Quotes) 12. चाइल्ड स्लेवरी के खिलाफ हमारी लड़ाई, पारम्परिक मानसिकता, पालिसी डेफिसिट, जवाबदेही की कमी और दुनिया भर के बच्चों के लिए तत्काल कुछ ना करने के खिलाफ लडाई है।

सुविचार (Quotes) 13. चाइल्ड स्लेवरी मानवता के खिलाफ एक अपराध है। मानवता खुद यहां दांव पर है। अभी बहुत काम किया जाना बाकी है, लेकिन मैं अपने जीवनकाल में बाल श्रम का अंत देखूंगा।

सुविचार (Quotes) 14. बीस साल पहले हिमालय की तलहटी में, मेरी मुलाकात एक पतले-दुबले लड़के से हुई. उसने मुझसे पूछा, “क्या दुनिया इतनी गरीब है कि मुझे कोई औजार या बन्दूक उठाने पर मजबूर करने की बजाये एक खिलौना और एक किताब नहीं दे सकती?