आँखों रोशनी बढ़ाने के घरेलु टिप्स Eye Care Treatment in hindi

आँखों की रोशनी तेज करने चश्मा हटाने के घरेलु उपाय

आँखों की रोशनी तेज करने चश्मा हटाने के घरेलु उपाय upcharnuskheआँखे बहुत ही कोमल होती हैं. यह हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा हैं. जिनका ख्याल रखना बहुत ही जरुरी होता है. आधुनिक पर्यावरण में कई चीज़ें ऐसी हैं जो आंखों की रोशनी कम होने की वजह हो सकती हैं. उम्र बढ़ने के साथ-साथ आंखों की समस्या से हमें जूझना ही पड़ता है,

लेकिन इसके पीछे वजह यह है कि आंखों के आसपास की मांसपेशियां ढीली पड़ जाती हैं. लेकिन आजकल बच्चों को भी चश्मा लगना आम समस्या बन गयी है. आजकल स्कूल जाने वाले बच्चों को भी कमजोर आंखों के कारण चश्मे का उपयोग करते  देखा जाता है. असमय चश्मा लगने की वजह से हमारी सुंदरता में भी बहुत इफ़ेक्ट पड़ता है. आंखों के प्रति लापरवाही बरतने से आंखों से पानी आना, जलन, खुजली, आंखों का लाल होना, पीलापन आना, सूजना, धुंधला दिखने जैसी समस्याएं हो सकती हैं. हमारे शरीर की समस्त ज्ञानेन्द्रियों में आंखें सबसे प्रमुख ज्ञानेन्द्रियां हैं. जिनका ख्याल रखना बहुत जरुरी होता है. इन सभी परेशानियों को ठीक करने के लिए आप कुछ घरेलु उपायों की मदद ले सकते हैं. जिनके प्रयोग से आँखों की समस्या को दूर किया जा सकता है.

आँखे कमजोर होने का कारण

आंखों की ठीक से देखभाल न करना – आंख की सही से देखभाल ना करने के कारण अनेक बार आँखों की समस्याएं होने लगती हैं. आँखों की देखभाल ना करने के कारण आँखों की कार्य प्रणाली ठीक ढंग से काम नहीं करती जिसकी वजह से आंख का आंतरिक दाब बढ़ जाता है और आँख में अनेक समस्याएं होने लगती है.

पोषक तत्वों की कमी – हमारे शरीर के सामान्य विकास एवं वृद्धि हेतु पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है. इनमें से किसी एक पोषक तत्व की कमी होने पर हमारे शरीर में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है जिसके कारण आँखों में कमजोरी की समस्या होने लगती है.

अनुवांशिक कारण – आमतौर पर अनेक रोग दूषित वातावरण तथा परिस्थतियों से उत्पन्न होते हैं, किंतु अनेक रोग ऐसे भी होते हैं जो घर के किसी व्यक्ति जिनकी आँखे वीक हो होने के कारण अन्य व्यक्तियों को भी होने लगते हैं. ऐसे रोग आनुवंशिक कहलाते हैं. कई बार अनुवांशिक कारणों के कारण आँखों की समस्याएं होने लगती है.

कम रोशनी में पढ़ाई – कई लोग ऐसे होते हैं जो कम रोशनी में किताब या अखबार आदि पड़ते हैं. जिससे आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है और धीरे-धीरे आँखों की रोशनी प्रभावित होने लगती है.

मोबाइल, कंप्यूटर का अधिक प्रयोग – आजकल हर व्यक्ति कम्प्यूटर और मोबाइल का प्रयोग करता है. आजकल इन इलेक्ट्रिकल तथा इलेक्ट्रॉनिक चीजों का उपयोग बढ़ता जा रहा है क्योकि इनके अनेक फायदे होते हैं मगर कभी-कभी इन सब चीजों के अधिक प्रयोग से हमारी आँखों में बुरा प्रभाव पड़ता है जिससे हमारी आँखों की रौशनी प्रभावित होती है.

आँखों की रोशनी बढ़ाने के उपाय

त्रिफला का प्रयोग

आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए त्रिफला का प्रयोग बहुत फायदेमंद होता है. इसके उपयोग के लिए रात को एक चम्म्च त्रिफला मिटटी के बर्तन में भिगोकर रख दे. सुबह उठकर इस पानी को छान ले और इस पानी से आँखो को धोए इससे आँखों की रौशनी बढ़ाने में मदद मिलती है.

अंगूर का प्रयोग

अंगूर के सेवन से भी आँखों की रौशनी बढ़ाने में मदद मिलती है. रोजाना अंगूर के सेवन से आँखों की रौशनी को तेज किया जा सकता है. अंगूर खाने से रात में देखने की शक्ति बढ़ती है.

वसायुक्त पोष्टिक तत्वों का सेवन

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए वसायुक्त तत्वों का सेवन बहुत ही जरुरी होता है. अपने आहार में वसायुक्त भोजन को शामिल करें. वसायुक्त भोजन में आप मछली, अंडे, बीज और नट का सेवन कर सकते हैं.

सब्जियों का सेवन

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक मात्र में सब्जियों का सेवन करना चाहिए. इसके लिए आप अपने आहार में पालक, गोभी, गाजर, मक्का का भी सेवन करे इन पोषक तत्वों से आँखों की ज्योति बढ़ती है.

पर्याप्त नींद

आँखों की समस्या से बचने के लिए भरपूर नींद लेना जरुरी होता है. रोजाना 6 से 8 घंटे की नींद जरूर लें. इससे शरीर स्वस्थ रहता है साथ ही आँखों की समस्या भी नहीं होती.

आंवले का जूस

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए आंवले का जूस निकाल लें और इसमें कुछ मात्रा में शहद मिलाएं. आप जूस का रोज सुबह शाम नियमित रूप से सेवन करें. इससे कुछ ही दिनों में आपको फर्क नजर आने लगेगा.

मुलेठी का प्रयोग 

कुछ मुलेठी लें. अब इसे पीस के इसका पाउडर बना लें. अब इस पीसी हुयी मुलेठी का 1 चम्मच पाउडर लें तथा इसमें समान मात्रा में शहद और ½ चम्मच देशी घी मिलाएं. इसके बाद आप इस मिश्रण को एक ग्लास गरमागर्म दूध में डालें और 3 महीनों तक इस मिश्रण का उपयोग करें. इस विधि के प्रयोग से आपकी आँखों की रोशनी तेज होने लगेगी.

सही रोशनी में करें पढाई

अनेक लोग ऐसे होते हैं जो कम लाइट में पढ़ाई आदि करते हैं यह हमारी आँखों के लिए उचित्त नहीं होता कम लाइट में पढ़ाई आदि करने से हमारी आँखों पर जोर पड़ता है जिसके कारण आँखों की रोशनी प्रभावित होती है. इसलिए पढ़ाई करते समय कभी भी कम लाइट में पढ़ाई ना करें.

आँखों की सुरक्षा के कुछ अन्य उपाय

  • आँखों को हर रक घंटे बाद 10 मिनट तक बंद कर रखें, ताकि नमी की परत फिर से तैयार हो जाए.
  • कंप्यूटर या लैपटॉप पर काम करते समय अपनी पलकों को झपकाते रहें.
  • जब भी आप कंप्यूटर में काम करते हैं तो उसकी स्क्रीन और आंखों के बीच कम से कम 25 इंच की दूरी रखें.
  • मोबाइल उपयोग करने वाले लोग अपनी आँखों को मोबाइल से उचित दुरी पर रखे.
  • आजकल हर जगह AC का होना आम बात है. अगर आप AC में बैठते हैं तो इसकी हवा सीधे आंखों पर न पड़ने दें.
  • आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए हरी सब्जियों का अधिक सेवन करना चाहिए.
  • अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीए. इससे शरीर के साथ-साथ आँखे भी स्वस्थ रहती हैं.

आँखों की रोशनी बढ़ाने के योग

आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए त्राटक आसान

त्राटक आसान को अँधेरे में किया जाता है. इसलिए इसे रात में करना उचित रहता है. यदि किसी कारणवश आप इस आसान को रात में नहीं कर आते तो आप दिन में एक कमरे में अँधेरा कर के भी इस आसान को कर सकते हैं. सबसे पहले एक कमरे में अँधेरा कर लें अब इस अँधेरे कमरे में एक मोमबत्ती जलाए.  उस मोमबत्ती के सामने प्राणायाम की मुद्रा में बैठ जाएं. अब अपनी पलकों को बिना झपकाए मोमबत्ती को देखते रहे. इसके बाद थोड़ा सा ओम उच्चारण के साथ प्राणायम करें और फिर आंख खोल लें. रिलैक्स होने पर दोबारा इस प्रक्रिया को दोहराएं और इस पूरी क्रिया को कम से कम 3 बार करें. आखिर में अपनी हथेलियों को आपस में रगड़ें और फिर उस गर्म हथेली से आंखों को स्पर्श करते हुए आंख खोलें। ध्यान रहे की जब भी आप अपनी आँखों को खोले तो आपकी नजरे नाक पर होनी चाहिए.

आँखों को स्वस्थ रखने के लिए करें प्राणायाम

दिनभर कंप्यूटर में काम करते-करते हमारी आँखे थक जाती हैं तथा हमारी आँखों की रोशनी भी प्रभावित होने लगती है. आँखों को आराम पहुंचाने तथा आँखों को रोशनी बढ़ाने के लिए प्राणायाम बहुत अच्छा उपाय है. इसे करने के लिए सबसे पहले आप किसी साफ़ स्थान में कोई दरी या कम्बल बिछाकर ध्यान की मुद्रा में बैठ जाएं. अपने दोनों हाथों को घुटनों पर रखें और पीठ सीधी रखें. अब आंखें बंद रखकर लंबी सांस लें और फिर छोड़ें. इस क्रिया को लगातार करें.

आँखों को स्वस्थ तथा आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए सर्वांगासन

सर्वांगासन भी आँखों की रोशनी बढ़ाने में मददगार होता है. इस आसान को करने से हमारी आँखों के साथ-साथ हमारा शरीर भी स्वस्थ रहता है.  सर्वांगासन को करने के लिए सबसे पहले आप पीठ के बल सीधे लेट जाएं उसके बाद दोनों पैरों को साथ रखें और हाथों को कमर पर फिर सांस अंदर की ओर लेते हुए दोनों पैरों को को पहले 30 डिग्री के कोण तक उठाएं तथा कुछ सेकंड इस अवस्था में रहने के बाद 60 डिग्री तक उठाएं और फिर 90 डिग्री तक उठाएं. उसके बाद अब सांस छोड़ते हुए दोनों पैरों को नीचे ले आएं और कुछ सेकंड शवासन में लेटें. सर्वांगासन की इस विधि से आँखों को आराम मिलता है. 

आँखों की रोशनी बढ़ाने के कुछ आसान टिप्स

  • कंप्यूटर पर काम करते समय बीच-बीच में पलकों को झपकाते रहें.
  • आँखों को स्वस्थ रखने के लिए दिन में अनेक बार आँखों में ठंडे पानी के छींटे मारते रहें.
  • सुबह उठकर मुंह में पानी भरे तथा आँखों में ठंडे पानी के छींटे मारे इससे आँखों को रोशनी तेज होती है.
  • कंप्यूटर पर काम करते समय कंप्यूटर की स्क्रीन की रोशनी को ना अधिक करें ना कम. इससे आँखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है.
  • रात को सोने से पहले आँखों को गाय के घी से मलने से आँखों को आराम मिलता है.
  • रोजाना पैर के तलवो की तेल से मालिश करने से भी आँखों की रोशनी बढ़ती है. इसके लिए आप सरसो या नारियल के तेल का प्रयोग कर सकते हैं.
  • आँखों को धूल, मिटटी और सूरज की तेज किरणों से बचाना चाहिए.
  •  लगातार  काम करते समय बीच में आँखों को कुछ विश्राम देते रहें.