आँखों के बारे में हैरान कर देने वाली कुछ रोचक बातें Some interesting facts about eyes

आँखों से जुडी कुछ ख़ास बातें Important thing about eyes 

यह तो हम सभी जानते है कि आंखे हमारे शरीर का कितना महत्वपूर्ण अंग हैं. यह आंखे ही है जिनसे हम इस रंग-बिरंगी दुनिया का मजा ले सकते है. आंखो से जुड़ी ऐसी बहुत सी बातें है जो बहुत से कम लोग जानते है. ये आंखें ही हैं जो हमें इस प्यारी सी दुनिया के साथ जोड़ने का काम करती है.

आँखों के बारे में हैरान कर देने वाली कुछ आश्चर्य जनक बातें Amezing things about eyes

  • एक सामान्य मनुष्य की आंखे 1 करोड़ रंगों को पहचानने में सक्षम होती है.
  • आँखों की रेटिना में लगभग 12 करोड़ रोड और 70 लाख कोन होते है रोड कम रोशनी में देखने में सहायता करती है और कोन अधिक रोशनी में देखने में सहायक होती है.
  • कहा जाता है कि मनुष्य और शार्क की कॉर्निया की बनावट और गुण मिलते जुलते होते है इसलिए शार्क के कार्निया को मनुष्य के कॉर्निया के साथ सर्जरी के द्वारा बदला जा सकता है.
  • एक व्यक्ति की आँख का वजन 8 ग्राम के लगभग होता है.
  • जब तक एक नवजात शिशु 4 से 13 सप्ताह का नहीं हो जाता है कहा जाता है कि तब तक उसके रोते समय आंसू नही आते.
  • संसार के लगभग 4 करोड़ लोग अंधे (Blind) है और इतने ही लोगो को आंखों से जुड़ी कई समस्याए है.
  • आँख मानव शरीर के दिमाग के बाद दूसरा सबसे जटिल संरचना वाला अंग हैं.
  • मनुष्य की आँख के Eyebrows हर 64 दिन बाद बदलकर नए आ जाते हैं.
  • जब भी हम किसी हैरान कर देने वाली या चौका देने वाली चीज़ को देखते है तो हमारी आंखे लगभग 45 प्रतीशत ज्यादा बड़ी हो जाती हैं.
  • अधिकतर लोगो की आँखे भूरी होती हैं.
  • आंखे दिमाग की 65 प्रतीशत उर्जा का उपयोग करती है जो अन्य किसी भी अंग से ज्यादा है.
  • अगर किसी इंसान की आँख कैमरा होती तो उसकी क्षमता 576 मेगा पिक्सल के बराबर होती है.
  • हमारी आंखों को कण्ट्रोल करने वाली मासपेशियां हमारे शरीर की बाकी मासपेशियों की तुलना में बहुत अधिक एक्टिव होती है.
  • मनुष्य की आँख में 12 लाख फाइबर होते हैं जो एक तरह के तंतू होते हैं.
  • आँखों के बारे में एक रोचक बात यह है कि मनुष्य की आंखे जन्म से लेकर मृत्यु तक हमेशा ही बराबर रहती है बस उम्र बढ़ने के साथ आंखों का लैंस (Eye Lens) मोटा हो जाता है.
  • मनुष्य अपने पूरे दिनभर के समय का 10 Percent हिस्सा पलक झपकाने में बिता देता है जो पूरे एक दिन के आधे घंटे के बराबर होता है.
  • मनुष्य हम एक मिनट में कम से कम 12 बार पलक झपकाते है जिसके हिसाब से हम दिन में लगभग 10 हज़ार बार और एक साल में5 करोड़ बार पलक झपकाते है.
  • आँखों के बारे में एक सच यह भी है कि प्रकृति ने मनुष्य कि आंखो को ऐसा बनाया है कि यदि आँखों से सम्बंधित कोई भी छोटी परेशानी खुद ही और जल्दी दूर हो जाती है. जैसे यदि आपकी आंखो में कोई स्क्रैच हो जाए तो कार्नियां उसे दो- तीन दिन के अंदर ठीक कर देता है.
  • आंखो का कॉर्निया मनुष्य के पूरे शरीर का एक इस अंग है जिसमें कोई भी ब्लड वेसल नही होती है इसीलिए कॉर्निया को ऑक्सीजन कि जरूरत नहीं होती है.